loader

उन्नाव: रेप पीड़िता की हालत बेहद गंभीर, दिल्ली के अस्पताल में इलाज

यूपी के उन्नाव में एक बार फिर बलात्कार पीड़िता की जान लेने की कोशिश की गई है। उन्नाव के बिहार थाना क्षेत्र में रहने वाली एक पीड़िता को बृहस्पतिवार सुबह 5 युवकों ने पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया। पीड़िता की हालत बेहद गंभीर है और बताया जा रहा है कि वह 90 फ़ीसदी जल गई है। पीड़िता की उम्र 20 वर्ष बताई जा रही है। पीड़िता के साथ दो लोगों ने इस साल दिसंबर में सामूहिक दुष्कर्म किया था और इस मामले में मार्च में पीड़िता ने शिकायत दर्ज कराई थी। 
जब यह घटना हुई तब पीड़िता बलात्कार मामले में सुनवाई के लिए रायबरेली की एक अदालत में पहुँचने के लिए ट्रेन पकड़ने रेलवे स्टेशन जा रही थी। लेकिन तभी बलात्कार का मुख्य अभियुक्त अपने 4 अन्य साथियों के साथ पीड़िता को गाँव से बाहर खेतों में ले गया और उस पर पेट्रोल डालकर उसे जिंदा जला दिया। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने पीड़िता को जिला अस्तपाल में भर्ती कराया, जहाँ से उसे लखनऊ रेफ़र कर दिया गया। पीड़िता की गंभीर स्थिति को देखते हुए उसे बेहतर इलाज के लिए लखनऊ से दिल्ली एयरलिफ़्ट किया गया और सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद उन्नाव के सिंदूपुर गाँव में तनाव है। पीड़िता को जलाने वालों में दो लोग वे भी हैं जिन्होंने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया था। 

जलाए जाने के बाद चली 1 किमी. पैदल 

पीड़िता ने न्यूज़ चैनल आज तक को बताया कि दबंगों द्वारा जलाए जाने के बाद वह एक किमी. तक पैदल चली और उसने एक घर के बाहर काम कर रहे एक आदमी से मदद माँगी। इसके बाद पीड़िता ने 112 नंबर पर कॉल किया और पुलिस को घटना की सूचना दी। इसके बाद ही पीआरवी और एंबुलेंस मौक़े पर पहुंचीं। पीड़िता ने मजिस्ट्रेट को भी बयान दिया है। बयान में पीड़िता ने उसे जलाने वाले पाँचों लोगों के नाम भी बताए। पीड़िता ने कहा कि पाँचों लोगों ने उसे पीटा, चाकू घोंपा और फिर जिंदा जला दिया। 

ताज़ा ख़बरें
पुलिस ने बताया कि पाँचों अभियुक्तों को पकड़ लिया गया है। मुख्य अभियुक्त का नाम शिवम त्रिवेदी है। पीड़िता ने जब बलात्कार का मुक़दमा दर्ज कराया था तो इसमें से एक अभियुक्त को तब भी पकड़ा गया था। कहा जा रहा है कि पाँच अभियुक्तों में से एक गाँव के ग्राम प्रधान का बेटा है। 
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी वाड्रा ने घटना को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार पर हमला बोला है और कहा कि वह राज्य में क़ानून व्यवस्था की स्थिति को लेकर झूठ बोल रही है। उन्होंने ट्वीट में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर भी निशाना साधा और कहा कि बीजेपी नेताओं को अब फर्जी प्रचार से बाहर निकलना चाहिए।

उन्नाव में ही बलात्कार के एक अन्य मामले में बीजेपी से निष्कासित और विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उसके सहयोगी अभियुक्त हैं। कुछ महीने पहले जब पीड़िता रायबरेली जेल में बंद अपने चाचा से मिलने जा रही थी तो रास्ते में उनकी गाड़ी को ग़लत दिशा से आ रहे एक ट्रक ने जोरदार टक्कर मार दी थी। इस घटना में पीड़िता की मौसी और चाची की मौत हो गई थी जबकि पीड़िता और वकील गंभीर रूप से घायल हो गए थे। मामले में पीड़िता के चाचा की शिकायत पर विधायक कुलदीप सेंगर, उसके भाई मनोज सिंह सेंगर और 8 अन्य लोगों के ख़िलाफ़ हत्या, हत्या की साज़िश रचने का मुक़दमा दर्ज कराया गया था। सेंगर पर पीड़िता ने आरोप लगाया था कि जून, 2017 में जब वह नौकरी माँगने उनके आवास पर गई थी तो विधायक ने उसके साथ बलात्कार किया था। 

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें