loader

महाराष्ट्र में ही 40000 से ज़्यादा कोरोना पॉजिटिव केस, मुंबई में 25 हज़ार के पार

अकेले महाराष्ट्र में ही 41 हज़ार 642 कोरोना पॉजिटिव मामले आ गए हैं। हाल के दिनों में हर रोज़ 2000 से ज़्यादा नये पॉजिटिव मामले आ रहे हैं और गुरुवार को भी राज्य में 2345 नये पॉजिटिव मामले आए। यह लगातार पाँचवाँ दिन है जब राज्य में दो हज़ार से ज़्यादा नये मामले आए हैं। राज्य में भी सबसे ज़्यादा मामले मुंबई में आ रहे हैं। मुंबई में गुरुवार को 1382 नये पॉजिटिव आने के साथ कुल मामले 25500 से ज़्यादा हो गए हैं। 

राज्य में मरने वालों की संख्या बढ़कर अब 1454 हो गई है जिसमें से 882 सिर्फ़ मुंबई शहर में है। गुरुवार को राज्य में 24 घंटे में 64 मौतें हुईं। इसमें से 41 सिर्फ़ मुंबई में हुईं। राज्य में अब तक 11 हज़ार 726 मरीज़ पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। 

ताज़ा ख़बरें

ठाणे डिविजन में सबसे ज़्यादा मामले आए हैं। ठाणे डिविजन में ही मुंबई शहर आता है। इस डिविजन में 31 हज़ार 851 मामले दर्ज किए गए हैं और 993 मौतें हुई हैं। पुणे डिविजन में 5371 मामले आए हैं और 264 मौतें हुई हैं। नाशिक डिविजन में 1425 पॉजिटिव केस आए हैं और 94 लोगों की मौतें हुई हैं। कोल्हापुर में 357 मरीज़ हैं और पाँच लोगों की मौत हुई है। औरंगाबाद में 1297 मामले आए और 40 लोगों की मौत हुई। लातुर डिविजन में 178 पॉजिटिव केस आए और छह लोगों की मौत हुई। 

तमिलनाडु से और ख़बरें

बता दें कि महाराष्ट्र के बाद सबसे ज़्यादा कोरोना संक्रमण के मामले तमिलनाडु में हैं। गुरुवार को तमिलनाडु में 776 मामले सामने आए। यह लगाता दूसरे दिन था जब राज्य में 700 से ज़्यादा मामले आए। राज्य में अब तक कुल 13 हज़ार 967 संक्रमण के मामले आ चुके हैं। इसमें से सिर्फ़ चेन्नई शहर में ही 8 हज़ार 795 मामले दर्ज कए गए हैं। 

इसके बाद गुजारत में भी क़रीब 13 हज़ार पॉजिटिव मामले आ चुके हैं। दिल्ली में 11 हज़ार संक्रमण के मामले आए हैं। पूरे देश में संक्रमित लोगों की संख्या 1 लाख 12 हज़ार तो एक दिन पहले ही पार कर चुकी है। पूरी दुनिया में संक्रमित लोगों की संख्या 52 लाख होने वाली है। 

Satya Hindi Logo लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा! गोदी मीडिया के इस दौर में पत्रकारिता को राजनीति और कारपोरेट दबावों से मुक्त रखने के लिए 'सत्य हिन्दी' के साथ आइए। नीचे दी गयी कोई भी रक़म जो आप चुनना चाहें, उस पर क्लिक करें। यह पूरी तरह स्वैच्छिक है। आप द्वारा दी गयी राशि आपकी ओर से स्वैच्छिक सेवा शुल्क (Voluntary Service Fee) होगा, जिसकी जीएसटी रसीद हम आपको भेजेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

तमिलनाडु से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें