loader

यूपी : अलीगढ़ में नकली शराब से मरने वालों की संख्या 28

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में नकली शराब पीने से मरने वालों की संख्या बढ़ कर 28 हो गई है। पुलिस ने इस मामले में शराब बिक्रेता और ठेका चलाने वालों समेत छह लोगों को गिरफ़्तार कर लिया है। 

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने 'इंडियन एक्सप्रेस' से कहा कि पुलिस ने विपिन यादव और ऋषि पाल शर्मा की गिरफ़्तारी के लिए 50-50 हज़ार रुपए का ईनाम रखा है। ये दोनों ही इस कांड के मुख्य अभियुक्त अनिल चौधरी से जुड़े हुए हैं। 

जे. एन. एम. मेडिकल कॉलेज और मलखान सिंह अस्पताल में 20 लोगों का इलाज चल रहा है। 

ख़ास ख़बरें

बढ़ सकती है मरने वालों की तादाद

अलीगढ़ के ज़िला मजिस्ट्रेट चंद्र भूषण ने कहा कि शुक्रवार को हुए कांड में 24 घंटे में मरने वालों की संख्या 16 से बढ़ कर 28 हो गई। यह तादाद बढ़ सकती है क्योंकि नकली शराब पीकर बीमार पड़ने वाले और ज़्यादा लोगों को गाँवों से अलीगढ़ शहर लाया जा रहा है।

ज़िला मजिस्ट्रेट ने चीफ़ मेडिकल अफ़सर के हवाले से कहा है कि कुछ और शव लाए गए हैं, लेकिन उनकी मौत नकली शराब पीने से ही हुई है, यह अभी नहीं कहा जा सकता है। इन शवों के नमूने ले लिए गए हैं और विसरा सुरक्षित रखा गया है। 

बता दें कि शनिवार को पुलिस की एक टीम ने अलीगढ़ के गनेशपुरा कबूतरा डेरा स्थित कुछ ठेकों पर छापे मारे। नकली शराब का धंधा करने वाले वहां से भाग गए, लेकिन एक महिला सौ लीटर कच्ची शराब के साथ पकड़ी गई।उसके ख़िलाफ़ आबकारी अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है। छापे के दौरान पुलिस टीम ने मौके पर लगभग दो हजार लीटर कच्ची शराब नष्ट कर दी।
नकली शराब पीकर मरने वालों के परिजनों की शिकायत है कि इसके पहले ही वहाँ नकली शराब का धंधा चलता रहा है, जिसके ख़िलाफ लोगों ने कई बार पुलिस व स्थानीय प्रशासन को शिकायत की और ज्ञापन वगैरह सौंपा, पर नतीजा सिफ़र रहा।

कच्ची शराब बरामद

स्थानीय अख़बारों के अनुसार, पुलिस ने पूराकलाँ रोड स्थित टकटकी कबूतरा डेरा पर दबिश दी। पुलिस ने एक महिला को गिरफ़्तार कर लिया और उसके पास से सौ लीटर कच्ची बरामद की। इसके अलावा लगभग पाँच हजार लीटर लहन भी नष्ट किया। पुलिस की इस कार्रवाई से अवैध शराब के कारोबारियों में हड़कंप मचा हुआ है।

ख़बरों के अनुसार, पुलिस ने स्टॉक एवं नकली शराब की सघन चेकिंग की और दुकानों पर रखी शराब की बोतलों के बार कोड एवं क्यूआर कोड को स्केन किया है। 

पुलिस अधिकारियों ने शराब दुकानदारों को चेताया कि स्टॉक से अधिक शराब मिलने, मिलावटी शराब एवं ओवर रेट बिक्री की शिकायत मिलने पर सख़्त कार्रवाई की जाएगी। 

शराब की बिक्री के दौरान कोविड नियमों का पालन करने के भी सख्त निर्देश दिए।

इसके पहले अगस्त 2020 में पंजाब में ज़हरीली शराब ने कम से कम 86 लोगों की जान ले ली। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने 7 आबकारी अधिकारियों और 6 पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया था। निलंबित किए गए अधिकारियों में दो डीएसपी और 4 थानाधिकारी थे। 

ज़हरीली शराब से सिर्फ़ तरनतारन में ही 63 मौतें हो चुकी हैं। अमृतसर में 12 और गुरदासपुर के बटाला में 11 मौतें हुईं।

कोरोना महामारी के दौरान भी क्यों और कैसे फल-फूल रहा है शराब का धंधा, देखें वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष का यह वीडियो। 
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें