loader

बलिया: अभियुक्त के बचाव में उतरे बीजेपी विधायक

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में सरकारी अधिकारियों, पुलिस की मौजूदगी में दर्जनों गोलियां चलाकर एक व्यक्ति की हत्या कर देने वाले बीजेपी नेता धीरेंद्र सिंह के बचाव में सत्तारुढ़ पार्टी के विधायक सुरेंद्र सिंह खुलकर उतर आए हैं। अक्सर अपने बयानों से पार्टी के लिए मुसीबत पैदा कर देने वाले बलिया की बैरिया सीट से विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा है कि बीजेपी नेता धीरेंद्र सिंह ने आत्मरक्षा में गोली चलायी है। 

गुरूवार को बलिया के दुर्जनपुर गांव में राशन कोटे की दुकान को लेकर आयोजित खुली बैठक में फायरिंग के दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गयी थी। खुली बैठक में सैकड़ों गांव वाले और सरकार के कई अधिकारियों के साथ बड़ी तादाद में पुलिसकर्मी भी मौजूद थे। घटना के बाद इतने लोगों की मौजूदगी में भी अभियुक्त कैसे भाग निकला, इसे लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं। 

ताज़ा ख़बरें

सिर्फ़ अभियुक्त ही गलत नहीं: विधायक

शुक्रवार सुबह बीजेपी विधायक सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि दुर्जनपुर की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है पर प्रशासन की एकतरफा कार्रवाई न्याय का गला घोट रही है। उन्होंने कहा कि घटना में 6 महिलाएं चोटिल हो गई और वे अस्पताल में हैं जबकि एक व्यक्ति को बड़े अस्पताल में रेफर किया जा चुका है लेकिन उनकी पीड़ा कोई नही देख रहा है। 

विधायक ने कहा कि बीजेपी नेता धीरेन्द्र सिंह आत्मरक्षा में गोली नहीं चलाता तो उसका परिवार सहित दर्जनों लोग मारे जाते। उन्होंने कहा कि लाठी-डंडे से वार करने वाले और गोली मारने वाले दोनों के ख़िलाफ़ कार्रवाई होनी चाहिए। सुरेंद्र सिंह ने कहा कि घटना की निंदा करने के साथ ही प्रशासन को दूसरे पक्ष की भी चिंता करनी और न्याय देना चाहिए।

विधायक ने कहा, ‘धीरेन्द्र सिंह ने आत्मरक्षा में गोली चलाई है। यह गलत है क्या, उसके सामने मरने और मारने के अलावा कोई विकल्प नहीं था। इसीलिए, उसने ये निर्णय लिया हालांकि हम इसे अच्छा नहीं मानते। आत्मरक्षा के लिए ही लाइसेंस दिए जाते हैं।’

बीजेपी का नेता है अभियुक्त

बलिया की घटना का अभियुक्त धीरेंद्र सिंह बीजेपी  विधायक सुरेंद्र सिंह का क़रीबी है और उनसे लंबे समय से जुड़ा है। सुरेंद्र सिंह ने साफ किया है कि धीरेंद्र सिंह उनसे ही नहीं जुड़ा है बल्कि बीजेपी का नेता है। विधायक ने कहा है कि अभियुक्त बीजेपी की भूतपूर्व सैनिकों की बलिया इकाई का प्रमुख है। विधायक ने यह भी कहा कि ऐसी घटना कहीं भी हो सकती है। उन्होंने कहा कि इस घटना में दोनों ओर से पत्थरबाज़ी हुई। सुरेंद्र सिंह के साथ अभियुक्त का फ़ोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। 

उत्तर प्रदेश से और ख़बरें

कई गिरफ्तार, पुलिसकर्मी निलंबित 

उधर, बलिया कांड के मुख्य अभियुक्त धीरेंद्र सिंह के भाई देवेंद्र सिंह सहित छह लोगों को अब तक गिरफ़्तार किया जा चुका है। बलिया प्रशासन के मुताबिक़, दुर्जनपुर गांव में सभी लाइसेंसी असलहों का लाइसेंस निरस्त किया जायेगा। डीजीपी हितेश चन्द्र अवस्थी ने बताया कि इस मामले में जितने पुलिसकर्मी घटना के दौरान मौजूद थे सबको सस्पेंड किया गया है और मामले की जाँच चल रही है। जो भी इस मामले में दोषी पाया जाएगा, उसके ख़िलाफ़ सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
कुमार तथागत
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें