loader

अहंकारी ही नहीं कायर प्रधानमंत्री भी हैं नरेंद्र मोदी: प्रियंका

किसान महापंचायतों के जरिये उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को चुनावी लड़ाई लड़ने लायक बनाने में जुटीं राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी मंगलवार को मथुरा में मोदी सरकार पर ख़ूब बरसीं। पालीखेड़ा में आयोजित किसान महापंचायत में प्रियंका ने कहा कि नरेंद्र मोदी एक अहंकारी प्रधानमंत्री ही नहीं एक कायर प्रधानमंत्री भी हैं। 

उन्होंने कवि रामधारी सिंह दिनकर की पंक्तियों- “जब नाश मनुष्य पर छाता है, पहले विवेक मर जाता है”, को दोहराया और कहा कि इस सरकार का विवेक मर गया है। उन्होंने कहा कि भगवान कृष्ण इस सरकार और प्रधानमंत्री का अहंकार भी तोड़ेंगे। 

प्रियंका ने मौनी अमावस्या के मौक़े पर गंगा स्नान किया था तो आज वह बांके बिहारी मंदिर गईं और भगवान कृष्ण के दर्शन किए। यह कांग्रेस का सॉफ़्ट हिंदुत्व है जिस पर राहुल और प्रियंका बीते कुछ सालों से चल रहे हैं।

प्रियंका ने कहा कि गौशालाओं का बुरा हाल है और किसान आवारा पशुओं से बुरी तरह प्रताड़ित है। कृषि क़ानूनों की चर्चा करते हुए प्रियंका ने कहा कि ये क़ानून नोटों की खेती करने वालों ने बनाए हैं और अरबपतियों के लिए बने हैं।

ताज़ा ख़बरें

‘गोवर्धन पर्वत न बेच दे सरकार’

उत्तर प्रदेश में पार्टी की प्रभारी का दायित्व संभाल रहीं प्रियंका ने लोगों से कहा कि आप गोवर्धन पर्वत को संभाल कर रखिए कहीं ये सरकार इसे ही न बेच दे। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की पोती ने कहा कि मोदी सरकार ने खरबपति मित्रों का लाखों करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया है लेकिन किसानों का एक भी पैसा कर्ज माफ नहीं किया। 

Congress Kisan mahapanchayat in mathura  - Satya Hindi
बांके बिहारी मंदिर में प्रियंका गांधी।

प्रियंका ने किसान आंदोलन को देखते हुए ही पश्चिमी उत्तर प्रदेश में ‘जय जवान जय किसान’ अभियान की शुरुआत की है। 27 जिलों में चलने वाले इस अभियान की शुरुआत उन्होंने 10 फरवरी को सहारनपुर से की थी। इसके बाद वह बिजनौर भी गईं और किसानों की महापंचायत में मोदी सरकार पर हमले किए थे। 

प्रियंका गांधी की चुनावी सक्रियता पर देखिए चर्चा- 

फ़ैसला बदले सरकार 

प्रियंका ने कहा कि जैसे ही मोदी सरकार के फैसलों पर सवाल उठते हैं, वह एकदम पीछे हट जाती है, जिम्मेदारी नहीं लेती और पिछली सरकारों को दोषी ठहराती है और यही कायरता है। उन्होंने कहा कि जनता को अगर सरकार का फ़ैसला पसंद नहीं है तो वह उसे बदले। 

उत्तर प्रदेश से और ख़बरें

मौक़ा नहीं गंवाना चाहतीं प्रियंका

प्रियंका जानती हैं कि किसान आंदोलन के कारण उबल रहे पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मिले इस सियासी मौक़े को किसी भी सूरत में गंवाना नहीं है। 2022 का विधानसभा चुनाव कांग्रेस को प्रियंका के ही नेतृत्व में लड़ना है। प्रियंका की पूरी कोशिश है कि अगले विधानसभा चुनाव तक पार्टी को मजबूत विपक्षी दल के रूप में खड़ा कर दिया जाए। 

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जिस तरह बीजेपी के नेताओं का विरोध हो रहा है, वह तो उसे भारी पड़ेगा ही, राष्ट्रीय लोकदल, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी की सक्रियता भी यहां उसके राजनीतिक आधार को कमजोर करेगी। बहरहाल, प्रियंका आने वाले दिनों में कई और किसान महापंचायतों में जाएंगी और उम्मीद है कि इससे कांग्रेस कार्यकर्ताओं को विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए ऊर्जा मिलेगी। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें