loader

यूपी: पति ने पत्नी की हत्या कर टुकड़े किए, खेत में फेंके

उत्तर प्रदेश के सीतापुर में श्रद्धा वालकर हत्याकांड जैसा ही मामला सामने आया है। यहां पर एक पति ने अपनी पत्नी की हत्या करके शव के कई टुकड़े कर दिए। पति का नाम पंकज मौर्य है और उसकी पत्नी का नाम ज्योति उर्फ स्नेहा था। सीतापुर पुलिस ने बताया है कि उन्हें 8 नवंबर को पीड़िता के शव के टुकड़े मिले थे। वह सीतापुर जिले के रामपुर कलां क्षेत्र के गुलरिया इलाके की रहने वाली थी। 

ज्योति की हत्या के मामले में पति पंकज मौर्य के अलावा दुर्जन पासी नाम के शख्स को भी गिरफ्तार किया गया है। 

अपराध कुबूला

सीतापुर पुलिस ने बताया है कि पंकज मौर्य ने दुर्जन पासी के साथ मिलकर अपनी पत्नी की हत्या करने की बात स्वीकार की है। उसने पुलिस को बताया कि ज्योति नशे की आदी थी और ड्रग्स लिया करती थी। वह किसी और शख्स के घर पर कई दिनों के लिए रुक जाती थी और इस वजह से उनका रिश्ता खराब हो गया था। 

ताज़ा ख़बरें

पंकज मौर्य ने सीतापुर पुलिस को बताया कि उसे इस बात का शक हो गया था कि उसकी पत्नी रिश्ते में उसके साथ धोखा कर रही है। इसके बाद उसने अपनी पत्नी को ठिकाने लगाने का फैसला किया। पंकज और ज्योति की शादी को 10 साल हो चुके थे। 

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि खेत से महिला का धड़, दाहिना हाथ और पैर बरामद किया गया है। पुलिस ने बताया कि ज्योति की मां मालती सिंह ने पुलिस से संपर्क किया और अपनी बेटी के गायब होने की शिकायत की। इसके बाद पुलिस ने ज्योति के शव से मिले कपड़ों को दिखाया तो उन्होंने उसकी शिनाख्त की। 

उत्तर प्रदेश से और खबरें

पंकज ने पुलिस को बताया कि वह एक मेडिकल स्टोर पर काम करता था और देर रात को घर लौटता था। 8 नवंबर को उसकी ज्योति के साथ बहस हुई और इसके बाद उसने ज्योति की हत्या कर दी। दुर्जन पासी के साथ मिलकर उसके शव के कई टुकड़े कर दिए और उन्हें अपने घर से 7 किलोमीटर दूर खेत में फेंक दिया। हत्या करने से पहले उसने अपने बच्चों को किसी रिश्तेदार के घर भेज दिया था। 

पंकज मौर्य 15 नवंबर से फरार चल रहा था। पुलिस ने लगातार छापेमारी कर 20 नवंबर को उसे पकड़ लिया और घर से खून से सने हुए कपड़े और एक धारदार चाकू बरामद किया है।  

Pankaj Maurya and Durjan Pasi killed jyoti - Satya Hindi

श्रद्धा वालकर हत्याकांड

बताना होगा कि दिल्ली में हुए श्रद्धा वालकर हत्याकांड की देश भर में जबरदस्त चर्चा है। 26 साल की श्रद्धा और 28 साल का आफताब लिव इन रिलेशनशिप में दिल्ली के छतरपुर इलाके में रहते थे। 

आफताब ने पुलिस को बताया है कि उन दोनों के बीच छोटी-छोटी बातों को लेकर लड़ाई होने लगी थी और 18 मई को श्रद्धा की हत्या के बाद उसने श्रद्धा के शरीर को 35 टुकड़ों में काट दिया था और इन्हें रखने के लिए 300 लीटर का फ्रिज खरीदा था। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें