loader

जेडीयू भी करेगी राज ठाकरे के अयोध्या दौरे का विरोध 

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे के अयोध्या दौरे का विरोध करने वाले बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह के समर्थन में बीजेपी की सहयोगी जेडीयू भी आ गई है। जेडीयू के सांसद और प्रवक्ता केसी त्यागी ने कहा है कि अगर राज ठाकरे उत्तर भारतीयों को लेकर दिए गए अपने बयानों और कृत्यों के लिए माफी मांगते हैं तो अयोध्या जा सकते हैं। त्यागी ने कहा कि बिना माफी मांगे अगर वह अयोध्या आएंगे तो उनका पुरजोर विरोध किया जाएगा।

बता दें कि राज ठाकरे 5 जून को अयोध्या आने वाले हैं और मुंबई में कई जगहों पर ‘चलो अयोध्या’ लिखे पोस्टर लगाए गए हैं। इन पोस्टर्स में बड़े अक्षरों में जय श्री राम भी लिखा गया है। 

बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने इन दिनों राज ठाकरे के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ है। बृजभूषण शरण सिंह ने कहा है कि राज ठाकरे ने उत्तर भारतीयों पर इतने जुल्म किए हैं जितने रावण ने भी नहीं किए।

ताज़ा ख़बरें

केसी त्यागी ने एबीपी न्यूज़ से बातचीत में कहा कि ब्रज भूषण शरण सिंह सही रास्ते पर हैं और राज ठाकरे ने पिछले 20-25 सालों में उत्तर भारतीयों का जमकर अपमान किया है। त्यागी ने कहा कि अभी भी उत्तर भारतीयों का अपमान मनसे के कार्यकर्ताओं की ओर से किया जाता है।

raj thackeray ayodhya visit brijbhushan sharan singh protest - Satya Hindi
जेडीयू नेता ने कहा कि राम भक्त के रूप में अयोध्या जाने के लिए राज ठाकरे का स्वागत है लेकिन अगर उन्होंने माफी नहीं मांगी तो वह उन्हें अयोध्या में प्रवेश नहीं करने देंगे। त्यागी ने कहा कि उनकी बृजभूषण शरण सिंह से लंबी बातचीत हुई है और सभी उत्तर भारतीयों को 5 जून को लखनऊ एयरपोर्ट पर आना चाहिए जिससे राज ठाकरे का जोरदार विरोध किया जा सके।
उत्तर प्रदेश से और खबरें

बता दें कि कुछ साल पहले मनसे के कार्यकर्ताओं ने मुंबई में जाकर नौकरी व रोजगार करने वाले उत्तर भारतीयों पर हमले किए थे। तब इस हमले को लेकर खासा हंगामा हुआ था। 

अयोध्या के संत परमहंस दास ने भी कहा है कि राज ठाकरे को उत्तर भारतीयों से माफी मांगनी चाहिए और अगर वह नहीं मांगते हैं तो उन्हें अयोध्या में नहीं घुसने दिया जाएगा।

यह साफ दिखाई दे रहा है कि मनसे प्रमुख राज ठाकरे अब बुरी तरह घिरते जा रहे हैं और देखना होगा कि क्या ऐसे हालात में भी वह अयोध्या का दौरा करते हैं या नहीं। 

निश्चित रूप से इससे अयोध्या और लखनऊ एयरपोर्ट पर कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ सकती है और देखना होगा कि योगी आदित्यनाथ सरकार हिंदुत्व के नए पोस्टर ब्वॉय राज ठाकरे के विरोध पर अपने ही सांसद और सहयोगी पार्टी जेडीयू के कार्यकर्ताओं-नेताओं के खिलाफ क्या कार्रवाई करती है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें