loader

यूपी में जनघोषणा पत्र तैयार करेगी कांग्रेस, चुनाव से छह महीने पहले होगा जारी

कांग्रेस में बदलाव की मांग करने वाले वरिष्ठ नेताओं की चिट्ठीबाजी से परे महासचिव प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों से काफी पहले जनघोषणा पत्र लाने की क़वायद शुरू कर दी है। इस बार उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों के छह से आठ महीने पहले ही कांग्रेस  घोषणापत्र जारी कर देगी। पार्टी घोषणापत्र तैयार करने से पहले दस लाख लोगों से मशविरा करेगी और जनता की मांगों, अपेक्षाओं व संकल्पों को इसमें शामिल करेगी। कांग्रेस इसे 'जनता का घोषणापत्र' नाम दे रही है।
बड़े पैमाने पर कांग्रेस के नेता कार्यकर्त्ता जनता के बीच जाकर उनकी राय जुटाएंगे। घोषणा पत्र तैयार करने के लिए क़वायद इस साल जनवरी से ही शुरू कर दी गयी थी। इसके तहत पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने कानपुर में चार दर्जन से ज्यादा जन संगठनों के लोगों से मुलाकात व चर्चा कर उनकी अपेक्षाएँ जानी थीं।
उत्तर प्रदेश से और खबरें

 जन घोषणापत्र

उत्तर प्रदेश कांग्रेस की प्रभारी महासचिव प्रियंका गांधी ने चुनाव घोषणापत्र को महज वादों का रस्मी दस्तावेज़ बनाने के बजाय इसे जन भागीदारी के साथ तैयार किए जाने को कहा है। टीम प्रियंका के एक अहम सदस्य के मुताबिक़, कांग्रेस का यूपी विधानसभा चुनाव के लिए जारी होने वाला घोषणापत्र महज वादों का पुलिंदा न होकर वचनबद्धता के साथ पेश किया जाने वाला दस्तावेज होगा। 
अलग-अलग आयु वर्ग के, विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधि, कामगार, किसान, महिलाएं, वरिष्ठ नागरिक, छात्र एवं युवा, महिलाएं, दिव्यांग, खिलाड़ी, व्यापारी, दिहाड़ी मज़दूर, पटरी दुकानदार, पेंशनर, खेत मजदूर और अन्य वर्गों के लोग शामिल होंगे।

ज़िलों की राय होगी अहम 

पार्टी की तैयारी घोषणापत्र तैयार करने की पूरी प्रक्रिया के विकेंद्रीकरण की है। इसके तहत किसी कमरे में बैठकर नहीं, बल्कि जनता के बीच ज़मीन पर जाकर बात करने के बाद घोषणपत्र तैयार किया जाएगा। छह महीने पहले जारी होने वाले घोषणा पत्र में हालांकि इस बात की भी गुंजाइश रखी जाएगी कि एन चुनाव के समय सामने आने वाले किसी महत्वपूर्ण विषय का समस्या को उसमें शामिल किया जा सके। घोषणापत्र तैयार करने से पहले विचार विमर्श की प्रक्रिया में प्रदेश के सभी ज़िलों के लोगों को शामिल किया जाएगा और हर जिले में भी हर वर्ग के लोगों से संपर्क साधा जाएगा।

मेनिफेस्टो कमेटी 

इसी सोमवार को कांग्रेस ने यूपी के लिए मेनिफेस्टो कमेटी के गठन का एलान किया है। इस चुनाव घोषणा पत्र समिति में पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद, पी. एल. पुनिया, कांग्रेस विधान मंडल दल की नेता आराधना मिश्रा मोना, पूर्व विधायक विवेक बंसल, सुप्रिया श्रीनेत व अमिताभ दुबे को शामिल किया गया है।

जहां यह समिति घोषणा पत्र का प्रारूप तैयार करेगी और उसे अंतिम रूप देगी, वहीं बड़ी तादाद में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं व नेताओं को जनता से विचार विमर्श करने व उनकी अपेक्षाएँ जानने के काम में लगाया जाएगा।

अगले महीने शुरू होगी प्रक्रिया

कांग्रेस का कहना है कि जनवरी से शुरू हुई इस प्रक्रिया में कोरोना संकट व लॉकडाउन के चलते बाधा आयी थी। पर अब इसे स्वास्थ्य संबंधी प्रतिबंधों व सावधानियों का पालन करते हुए फिर से शुरू किया जा रहा है। पार्टी का मानना है कि यूपी विधानसभा चुनावों के काफी पहले अगले साल अगस्त-सितंबर तक घोषणा पत्र तैयार कर जारी कर दिया जाएगा। 

प्रदेश भर के सभी जन संगठनों, ट्रेड यूनियनों, महिलाओं, बच्चों, श्रमिकों के बीच काम करने वालों का ब्यौरा जुटाया गया है। खिलाड़ियों, साहित्यकारों, कवियों, दिव्यांगों और कलाकारों तक से संपर्क साधा जाएगा। ट्रेड यूनियनों, किसानों, छात्रों, बेरोजगारों, धर्मगुरुओं, चिकित्सकों, समाजसेवियों सहित शिक्षकों को भी घोषणापत्र बनाने की प्रक्रिया में शामिल किया जाएगा।

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
कुमार तथागत
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें