loader

पाक : ईशनिंदा के आरोप में पीट-पीट कर हत्या, आग लगाई

पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में ईशनिंदा रोकने के नाम पर की जाने वाली हैवानियत का एक और उदाहरण सामने आया है। सियालकोट शहर में लोगों ने श्रीलंका के एक नागरिक को ईशनिंदा के आरोप में पीट-पीट कर मार डाला और उसके बाद उसे आग के हवाले कर दिया। 

सियालकोट पुलिस के एक अधिकारी ने बीबीसी को बताया है कि मृतक की पहचान प्रिया नाथ कुमारा के रूप में हुई है। वे सियालकोट के वज़ीराबाद रोड स्थित एक निजी फैक्ट्री में एक्सपोर्ट मैनेजर थे।

बीबीसी ने सियालकोट अस्पताल के सूत्रों के हवाले से कहा है कि बुरी तरह जले हुए शव को अस्पताल ले जाया गया था। अस्पताल के सूत्रों के मुताबिक "शरीर लगभग राख हो गया है।"

ख़ास ख़बरें

वीडियो

सोशल मीडिया पर कई वीडियो शेयर किए गए हैं जिनके सियालकोट के वज़ीराबाद रोड के होने का दावा किया जा रहा है।

इन वीडियो में एक व्यक्ति का जला हुआ शरीर देखा जा सकता है। कुछ वीडियो में भीड़ एक व्यक्ति को जलाते हुए दिख रही है।

घटना के चश्मदीद मोहम्मद मुबाशीर के मुताबिक, फ़ैक्ट्री में सुबह से ही अफवाहें चल रही थीं कि प्रिया नाथ कुमारा ने ईशनिंदा की है।

उन्होंने कहा कि विरोध के दौरान बड़ी संख्या में लोग फिर से फैक्ट्री में घुस गए और प्रिया नाथ कुमारा को न केवल प्रताड़ित किया गया बल्कि उन्हें आग भी लगा दी।

राहत कर्मियों ने कहा, "ग़ुस्साए लोग उन्हें सड़क पर ले आए, आग लगा दी और नारेबाज़ी की। पुलिस ने बीच-बचाव करने की कोशिश की, लेकिन भीड़ की तुलना में पुलिसवालों की संख्या बहुत कम थी।"

इमरान ने कहा, शर्मनाक!

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने इसे पाकिस्तान के लिए शर्मनाक दिन बताया है।

उन्होंने ट्वीट किया, "सियालकोट की फ़ैक्ट्री में हुआ हमला और श्रीलंकाई मैनेजर को ज़िंदा जला दिया जाना पाकिस्तान के लिए एक शर्मनाक दिन है। मैं ख़ुद इसकी जांच को देख रहा हूँ। जो भी इसके लिए ज़िम्मेदार हैं, उन्हें सज़ा दी जाएगी। गिरफ़्तारियाँ की जा रही हैं।"

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दुनिया से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें