loader

'अनुकरणीय'- लालू की बेटी की तारीफ़ क्यों करने लगे बीजेपी नेता?

लालू यादव के कट्टर आलोचकों में से एक भाजपा नेता गिरिराज सिंह ने कहा है कि लालू की बेटी रोहिणी आचार्य पर उन्हें गर्व है। वह इतने भर तक नहीं रुके। उन्होंने तो यहाँ तक कह दिया कि 'बेटी हो तो रोहिणी आचार्य जैसी'। उन्होंने रोहिणी को संबोधित करते हुए आगे कहा, 'आने वाली पीढ़ियों के लिए आप अनुकरणीय होंगी।'

उन्होंने इसके साथ जो तसवीर ट्वीट की है उसमें देखा जा सकता है कि रोहिणी अस्पताल में बेड पर लेटी हैं। वह बीमार नहीं हैं। दरअसल, राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू यादव का सोमवार को सिंगापुर में गुर्दा प्रत्यारोपण हुआ है। दानकर्ता उनकी बेटी रोहिणी आचार्य हैं। गुर्दा दान करने के बाद उनका इलाज चल रहा है।

लालू यादव और रोहिणी आचार्य दोनों सफल सर्जरी के बाद अस्पताल में स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं। यादव की बड़ी बेटी मीसा भारती ने कल शाम सर्जरी के बाद ट्विटर पर कई तस्वीरें और वीडियो साझा किए। मीसा और रोहिणी के छोटे भाई बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी अस्पताल से एक अपडेट साझा किया।

रोहिणी आचार्य ने 74 वर्षीय अपने पिता को अपनी किडनी दान की है और इसके लिए सोशल मीडिया पर उनकी प्रशंसा जा रही है। 

ताज़ा ख़बरें

बता दें कि यही गिरिराज सिंह लालू यादव को बात-बात पर हमला करते रहे हैं और उन्हें चुनौती देते रहे हैं। सितंबर महीने में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने आरएसएस को बैन करने के लालू यादव के बयान पर पलटवार करते हुए कहा था कि अगर उनमें हिम्मत है तो बिहार में आरएसएस को बैन करके दिखाएं। सिंह ने लालू यादव पर तीखा हमला बोलते हुए कहा था कि लालू यादव पहली बार 1990 में जब बिहार के मुख्यमंत्री बने थे तब वो इसी आरएसएस और बीजेपी का गुणगान किया करते थे, लेकिन आज वोट बैंक के लालच में वो पीएफआई जैसे संगठन की तारीफ कर रहे हैं।

गिरिराज सिंह ने एक बार 'सद्बुद्धि' के लिए लालू प्रसाद यादव को हनुमान चालीसा पढ़ने की सलाह दी थी। हनुमान चालीसा पर राजद सुप्रीमो के एक बयान पर केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि 'लालू जी भी स्वयं हनुमान चालीसा का पाठ पढ़ें, इससे उन्हें सद्बुद्धि आएगी।' 

बहरहाल, भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने भी रोहिणी की तारीफ की है। उन्होंने ट्वीट किया, 'मुझे भगवान ने कोई बेटी नहीं दी। आज रोहिणी आचार्य को देखने के बाद सचमुच भगवान से लड़ने का दिल कर रहा है। मेरी नानी हमेशा कहती थीं कि बेटी बेटे से भली जो कुलवंती हो।'

बता दें कि एक दिन पहले तेजस्वी यादव ने लिखा था, 'पापा का किडनी ट्रांसप्लांट ऑपरेशन सफल होने के बाद उन्हें ऑपरेशन थिएटर से आईसीयू में शिफ्ट कर दिया गया था। दानकर्ता बड़ी बहन रोहिणी आचार्य और राष्ट्रीय अध्यक्ष दोनों स्वस्थ हैं। आपकी प्रार्थनाओं और शुभकामनाओं के लिए धन्यवाद।'

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार तेजस्वी यादव और मीसा भारती सर्जरी के लिए सिंगापुर में अपने बीमार पिता के साथ रह रहे हैं। पिछले कुछ समय से अस्वस्थ चल रहे लालू यादव को इस साल की शुरुआत में किडनी ट्रांसप्लांट की सलाह दी गई थी।

ऑपरेशन से कुछ घंटे पहले रोहिणी ने अपने पिता के साथ सर्जरी से पहले की एक तस्वीर साझा की थी। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

बिहार से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें