loader

राहुल बोले- रोज़गार पर झूठ बोलते हैं मोदी-नीतीश

बिहार विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की धुआंधार रैलियों के जवाब में महागठबंधन के दल कांग्रेस और आरजेडी भी लोगों के बीच पहुंच रहे हैं। पश्चिमी चंपारण की रैली में पहुंचे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पंजाब में मोदी का पुतला जलाने का जिक्र करते हुए कहा कि मोदी कृषि क़ानूनों के जरिये किसान के खेतों पर हमला कर रहे हैं। दूसरी ओर, आरजेडी नेता तेजस्वी यादव गोपालगंज, सीवान और सारण के दौरे पर हैं। 

बेरोज़गारी का मुद्दा उठाते हुए राहुल ने कहा कि राज्य के युवाओं को काम के लिए महानगरों की ओर जाना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि यहां के युवाओं में कोई कमी नहीं है बल्कि कमी नीतीश कुमार और नरेंद्र मोदी में है। मोदी ने इन दोनों नेताओं पर झूठ बोलने का आरोप लगाया। 

राहुल ने कहा, ‘लॉकडाउन, नोटबंदी में ग़रीब जनता की जेब से पैसा निकाला गया न कि पूंजीपतियों से। आपकी जेब से पैसा निकालकर पूंजीपतियों का कर्ज माफ कर दिया। छोटे दुकानदारों को बर्बाद कर दिया गया।’
वायनाड से सांसद राहुल ने कहा, लॉकडाउन के दौरान मज़दूरों को पैदल भगाया गया, उन्हें खाना, पानी, वाहन कोई सुविधा नहीं दी गई। राहुल ने कहा कि अचानक लॉकडाउन किया गया और मजदूरों को उनके घर जाने तक का वक़्त भी नहीं दिया गया। 

देखिए, बिहार चुनाव पर चर्चा- 

राहुल ने तेजस्वी को विजन रखने वाला नेता बताते हुए कहा कि वह रोज़गार के मुद्दे पर बात करते हैं। कांग्रेस सांसद ने यूपीए सरकार की मनरेगा और अन्य योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा, ‘हम किसानों के साथ खड़ा होना जानते हैं, युवाओं को रोज़गार देना जानते हैं। लेकिन एक कमी ज़रूर है कि हम झूठ बोलने में उनका मुक़ाबला नहीं कर सकते।’ 

उन्होंने कहा कि वह ऐसा वक्त देखना चाहते हैं कि बाकी प्रदेशों के युवा रोज़गार ढूंढने के लिए पटना आएं। राहुल ने कहा कि आरजेडी-कांग्रेस की सरकार हर जाति-धर्म के लोगों की सरकार होगी और हम बिहार को आगे बढ़ाने का काम करेंगे। 

बिहार से और ख़बरें

मोदी के निशाने पर आरजेडी 

दूसरी ओर, एनडीए के लिए वोट मांगने बिहार के चुनावी दौरे पर निकले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निशाने पर आरजेडी रही। बुधवार को दरभंगा के बाद मुज़फ्फरपुर पहुंचे मोदी ने कहा कि महामारी के इस कठिन वक़्त में सुशासन देने वाली सरकार को बनाए रखने की ज़रूरत है। 

आरजेडी के नेता तेजस्वी को निशाने पर लेते हुए उन्होंने कहा, ‘जंगलराज के युवराज से बिहार की जनता पुराने ट्रैक रिकॉर्ड के आधार पर और क्या कल्पना कर सकती है। जंगलराज की परंपरा वालों को बिहार की जनता अच्छे से जानती है और मुझे ज़्यादा कुछ कहने की ज़रूरत नहीं है।’ मोदी ने कहा कि बिहार के लोग इस प्रेरणा के साथ आगे बढ़ रहे हैं कि कोरोना के साथ ही ऐसे लोगों को भी हराना है। 

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘वो दल जिन्होंने बिहार को अराजकता दी, कुशासन दिया, वे फिर से मौक़ा खोज रहे हैं। जिन्होंने बिहार के नौजवानों को ग़रीबी और पलायन दिया और अपने परिवार को हज़ारों-करोड़ का मालिक बना दिया, वे मौक़े की तलाश में हैं।’ 

आरजेडी पर हमला जारी रखते हुए मोदी ने कहा, ‘रंगदारी दी तब बचोगे, नहीं तो किडनैपिंग इंडस्ट्री का कॉपीराइट तो उन लोगों के पास ही है, इसलिए इनसे सावधान रहना है।’

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

बिहार से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें