loader

छत्तीसगढ़ के चुनावी रण में बीजेपी-कांग्रेस में सीधी टक्कर

छत्तीसगढ़ में बीजेपी और कांग्रेस के बीच सभी 11 लोकसभा सीटों पर सीधी टक्कर है। बीजेपी ने हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में हुई हार से सबक लेते हुए सभी 11 सीटों पर नए चेहरों को चुनावी मैदान में उतारा है और अपने मौजूदा सभी 10 सांसदों के टिकट काट दिए हैं। उधर, कांग्रेस ने भी नए चेहरों पर दाँव आजमाया है। 
ताज़ा ख़बरें

बीजेपी ने उतारे नए चेहरे 

छत्तीसगढ़ में बीजेपी अपने नए उम्मीदवारों के साथ चुनाव मैदान में है। पार्टी को उम्मीद है कि ये सभी नए चेहरे जनता की उम्मीदों पर खरे उतरेंगे। बीजेपी ने रायपुर से आठ बार के सांसद रमेश बैस का टिकट काट कर उनके स्थान पर रायपुर के पूर्व मेयर सुनील सोनी को मैदान में उतारा है। इसके अलावा बिलासपुर से अरुण साव, महासमुंद से चुन्नीलाल साहू, राजनांदगाँव से संतोष पांडे, बस्तर से बैदूराम कश्यप, कांकेर से मोहन मांडवी, रायगढ़ से गोमती साय, सरगुजा से रेणुका सिंह, जांजगीर चांपा से गुहाराम अजगले, कोरबा से ज्योतिनंद दुबे और दुर्ग से विजय बघेल को पार्टी ने टिकट दिया है। 

ऐसे कार्यकर्ता जो 25-30 साल से भारतीय जनता पार्टी के संगठन में सक्रिय रूप से कार्य कर रहे हैं, जिन्होंने अलग-अलग दायित्व में पार्टी को आगे बढ़ाने का काम किया है, ऐसे नए चेहरे लेकर बीजेपी चुनाव मैदान में है तो इस बार एक बार हम फिर से बेहतर प्रदर्शन करेंगे। बीजेपी सभी सीटों पर जीत हासिल करेगी।


रमन सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री एवं उपाध्यक्ष, बीजेपी

बीजेपी को बग़ावत का ख़तरा 

सभी वर्तमान 10 सांसदों का टिकट कटने से इन सीटों पर असंतोष भी देखा जा रहा है। वर्तमान सांसदों के समर्थक पार्टी के फ़ैसले से भड़के हुए हैं। जांजगीर, कांकेर और महासमुंद लोकसभा सीटों पर तो बीजेपी के कुछ वरिष्ठ कार्यकर्ता बाग़ी प्रत्याशी के रूप में चुनावी मैदान में उतरने की तैयारी में है। हालाँकि संगठन ऐसे नाराज़ कार्यकर्ताओं को मनाने में जुटा हुआ है।

छत्तीसगढ़ से और ख़बरें
दूसरी ओर, विधानसभा चुनाव में मिली जबरदस्त जीत से कांग्रेस के हौसले बुलंद हैं। कांग्रेस ने भी सभी 11 सीटों पर नए चेहरे उतारने की बात कही है और नौ सीटों पर अपने उम्मीदवारों का एलान कर दिया है। जबकि दो सीटों पर प्रत्याशियों के चयन को लेकर मंथन का दौर जारी है। बताया जाता है कि कोरबा लोकसभा सीट से पूर्व केंद्रीय मंत्री और छत्तीसगढ़ के मौजूदा विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत की पत्नी ज्योत्सना महंत और दुर्ग लोकसभा सीट से प्रतिमा चंद्राकर का नाम सुर्ख़ियों में है।
राज्य के मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल का दावा है कि विधानसभा चुनाव की ही तरह लोकसभा चुनाव में भी बीजेपी का सूपड़ा साफ़ हो जाएगा।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा कि सारे चौकीदार बदल दिए गए हैं, बीजेपी को अपने ख़ुद के चौकीदारों पर विश्वास नहीं है। भूपेश बघेल के मुताबिक़, जिस प्रकार राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को विधानसभा चुनाव में कामयाबी हासिल हुई वैसी ही जीत लोकसभा चुनाव में भी मिलेगी। उन्होंने साफ़ तौर कर कहा कि इस बार एनडीए की नहीं बल्कि यूपीए की सरकार बनेगी और नरेंद्र मोदी नहीं बल्कि राहुल गाँधी प्रधानमंत्री बनेंगे। 
छत्तीसगढ़ में 11 अप्रैल को बस्तर लोकसभा सीट पर वोट डाले जाएँगे। जबकि 18 अप्रैल को कांकेर, राजनांदगाँव, महासमुंद और 23 अप्रैल को रायपुर, बिलासपुर, रायगढ़, जांजगीर चांपा, दुर्ग, कोरबा और सरगुजा में वोट पड़ेंगे।

राज्य में बीजेपी की साख दाँव पर है। कांग्रेस के पास खोने के लिए कुछ भी नहीं है। क्योंकि उसका एक मात्र लोकसभा सीट दुर्ग पर कब्ज़ा है। जबकि शेष दस सीटों पर बीजेपी काबिज है। ऐसे में ऊंट किस करवट बैठेगा, यह तो वक़्त ही बताएगा। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
मनमीत कौर
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

छत्तीसगढ़ से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें