loader

#MeToo जैसे गंभीर मुद्दे के साथ न्याय करती है सस्पेंस से भरी फ़िल्म ‘गिल्टी’? 

  • फ़िल्म- गिल्टी
  • डायरेक्टर- रुचि नारायण
  • स्टार कास्ट- कियारा आडवाणी, अंकाक्षा रंजन कपूर, गुरफ़तेह पीरज़ादा, ताहेर शब्बीर, मनु ऋषि, कुणाल विजयकर
  • स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म- नेटफ्लिक्स
  • शैली- सस्पेंस-ड्रामा
  • रेटिंग- ⅗
डिजिटल प्लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स पर 6 मार्च को फ़िल्म आई है जिसका नाम है ‘गिल्टी’। इसका डायरेक्शन रुचि नारायण ने किया है और इसका स्क्रीनप्ले रुचि नारायण, अतिका चौहान और कनिका ढिल्लन ने किया है। फ़िल्म ‘गिल्टी’ में मीटू मूवमेंट से जुड़ी कहानी दिखाई गई है। जिसमें लीड रोल में कियारा आडवाणी, अंकाक्षा रंजन कपूर और कई स्टार्स हैं। तो आइये जानते है कि नेटफ्लिक्स की इस नई फ़िल्म में क्या ख़ास है।

क्या है फ़िल्म में?

कहानी शुरू होती है सेंट मार्टिन कॉलेज से जहाँ एक बैंड है ‘डूबीडू’, जिसमें नानकी दत्ता (कियारा आडवाणी) सॉन्ग राइटर हैं। वहीं उस बैंड के लीड सिंगर वीजे (गुरफ़तेह पीरज़ादा) है। दोनों गर्लफ्रेंड-ब्वॉयफ्रेंड है और बाकि सारे दोस्त भी इस बैंड के मेंबर है। वहीं एक धनबाद की लड़की है तनु (अंकाक्षा रंजन कपूर), जो कि स्कॉलरशिप से इस कॉलेज में पढ़ने आई है। तनु कॉलेज में फेमस होना चाहती है और वह छोटे शहर से बड़े सपने लेकर आने वाली लड़की है। तनु को वीजे पसंद करने लगती है और वो उसके करीब आना चाहती है। कॉलेज में वैलेंटाइन डे का प्रोग्राम चल रहा होता है और तनु वीजे के पास आती है। इसके बाद अगले दिन तनु वीजे पर #मीटू के तहत रेप करने का आरोप लगाती है। जिसे सुनकर सभी हैरान हो जाते हैं।
इस केस को हैंडल करने के लिए वीजे के पिता (मनु ऋषि) वकील दानिश (ताहेर शब्बीर) को हायर करते हैं। इस मामले में वीजे उसकी गर्लफ्रेंड नानकी सभी तनु को झूठा बताते हैं। तो वहीं तनु बलात्कार होने व पुलिस में शिकायत करने की बात कहती हैं। अंत में इस मामले में दानिश क्या पता लगा पायेंगे? क्या वाकई वीजे ने तनु का बलात्कार किया? या तनु ने #मीटू का फायदा उठाते हुए उस पर झूठा इल्ज़ाम लगाया? ये सब जानने के लिए फ़िल्म ‘गिल्टी’ देख डालिये।

#Metoo मूवमेंट क्या है?

#Metoo  के तहत कई महिलाओं ने अपने साथ हुए शोषण के लिए आवाज़ उठाई थी। साल 2018 में सबसे पहले बॉलीवुड की एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता ने एक्टर नाना पाटेकर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था और इसके बाद फ़िल्म इंडस्ट्री के कई बड़े नाम भी इसके तहत सामने आए थे। हालांकि, एक सच यह भी है कि इस दौरान कई मामले ऐसे भी सामने आये थे जहाँ कुछ महिलाओं ने झूठे आरोप भी लगाये थे।

‘मीटू’ के मामले को ध्यान में रखते हुए फ़िल्म ‘गिल्टी’ की कहानी लिखी गयी है, जिसमें अंत में बताया भी जाता है कि कुछ बड़े नामी लोगों पर बलात्कार का आरोप लगा था।
जिसमें कुछ सामने नहीं आ पाया और अभियुक्त अपनी जिंदगी को आराम से जीने लगा। इसके अलावा फ़िल्म ‘गिल्टी’ में दिखाया गया है कि अगर कोई लड़की किसी को पसंद करती है इसका यह मतलब नहीं कि वो उसके साथ कुछ भी कर सकता है। 

कलाकारों की अदाकारी

एक्ट्रेस कियारा आडवाणी ने एक कूल लड़की का किरदार निभाया है और जिसमें उन्होंने अच्छी एक्टिंग की है। अंकाक्षा रंजन कपूर और गुरफटतेह पीरज़ादा ने भी अपने किरदार में बेहतरीन एक्टिंग की है। ताहेर शब्बीर की एक्टिंग पूरी फ़िल्म में काफी शानदार रहीं। तो वहीं मनु ऋषि और दूसरे स्टार्स ने भी अपने किरदार को अंत तक बखूबी निभाया।

डायरेक्शन

रुचि नारायण ने फ़िल्म में वह मुद्दा उठाया जो सभी के ज़ेहन में है। कहानी भी अच्छी लिखी गई लेकिन कुछ पहलू ऐसे भी थे, जो दोहराए गये। जैसे फ़िल्म में कुछ वाक्य और दृश्य ऐसे है जो फ़िल्म ‘पिंक’ की याद दिलाते है।

फ़िल्म की कहानी अभियुक्त को सही और ग़लत साबित करने में लगी रही। कहीं भी पीड़िता या अभियुक्त के नज़रिये से कुछ भी नहीं दिखाया गया।

क्यों देखें फ़िल्म?

नेटफ्लिक्स पर आई फ़िल्म ‘गिल्टी’ मीटू मूवमेंट की एक अलग सच्चाई को दिखाती है। साथ ही फ़िल्म में अंत तक एक सस्पेंस बना रहता है जो आखिर में खुलता है। इस लिहाज़ से अगर आप सस्पेंस फ़िल्मों के शौकीन है तो ये फ़िल्म आप एक बार देख सकते हैं।

क्यों न देखें फ़िल्म

फ़िल्म ‘गिल्टी’ में अभियुक्त और पीड़िता के नज़रिये से कुछ नहीं दिखाया गया है और साथ ही फ़िल्म ‘पिंक’ वाली बात दोहराई गई है कि ‘नो मीन्स नो’ होता है। पूरी फ़िल्म इसी पर बनकर रह गई कि उसने ऐसा किया या नहीं किया। एक गंभीर मुद्दा फ़िल्म में उठाया गया था, जिसपर ज्यादा बात नहीं की गई है। यह बात आपको निराश कर सकती है।

Satya Hindi Logo जब मुख्यधारा का मीडिया देख कर न देखे, सुन कर न सुने, गोद में हो, लोभ में हो या किसी डर में, तब सत्य की लड़ाई के लिए क्या आप साथ आएँगे? स्वतंत्र पत्रकारिता को राजनीति और कारपोरेट दबावों से मुक्त रखने के लिए हमें केवल भारतीय नागरिकों से आर्थिक सहयोग की ज़रुरत है।
सहयोग राशि के लिए नीचे दिये बटनों में से किसी एक को क्लिक करें
दीपाली श्रीवास्तव
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

सिनेमा से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें