loader

राकेश अस्थाना को झटका, हाईकोर्ट ने खारिज की याचिका

दिल्ली हाई कोर्ट ने सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना की याचिका खारिज कर दी है। हाई कोर्ट ने अपने फ़ैसले में कहा कि अस्थाना के खिलाफ जाँच जारी रहेगी। कोर्ट ने डीएसपी देवेंद्र कुमार की भी याचिका को खारिज कर दिया है। सीबीआई को निर्देश देते हुए कोर्ट ने कहा है कि वह राकेश अस्थाना और डीएसपी देवेंद्र कुमार के खिलाफ 10 हफ्तों के अंदर जाँच पूरी करे। कोर्ट ने यह भी निर्देश दिया है कि सीबीआई दो हफ़्ते तक यथास्थिति बनाए रखे।

अस्थाना ने अपने ऊपर लगे घूसखोरी के आरोपों के तहत दर्ज़ प्राथमिकी को खारिज करने की अपील की थी। जस्टिस नज़मी वजीरी ने 20 दिसंबर 2018 को सुनवाई करने के बाद फ़ैसला सुरक्षित रख लिया था। 

अस्थाना पर 2 करोड़ की घूस लेने का आरोप है। अस्थाना मीट कारोबारी मोइन कुरैशी के ख़िलाफ़ मनी लॉन्ड्रिंग केस में जाँच कर रहे थे। इस दौरान हैदराबाद के व्यापारी सतीश बाबू सना ने आलोक वर्मा को भेजी शिकायत में कहा था कि अस्थाना ने इस मामले में क्लीन चिट देने के लिए रिश्वत ली।
गुरुवार शाम को पूर्व सीबीआई प्रमुख आलोक वर्मा को पद से हटा दिया गया था। कुछ दिन पहले ही आलोक वर्मा की सीबीआई में वापसी हुई थी। सुप्रीम कोर्ट ने वर्मा को छुट्टी पर भेजने का फ़ैसला निरस्त कर दिया था। आलोक वर्मा ने राकेश अस्थाना के साथ विवाद के बाद और छुट्टी पर भेजने के ख़िलाफ़ याचिका दायर की थी। अस्थाना और वर्मा के बीच विवाद बढ़ जाने के बाद सरकार ने दोनों अधिकारियों को छुट्टी पर भेज दिया था।

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें