loader

क्या दिल्ली में कोरोना प्रतिबंध जल्द ही हटाए जाएँगे?

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बुधवार को कहा है कि दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले स्थिर हो गए हैं और जल्द ही संक्रमण कम होने की संभावना है। उन्होंने कहा कि यदि दिल्ली में अगले दो से तीन दिनों में कोरोना वायरस के मामले कम होते हैं तो प्रतिबंध हटा लिए जाएंगे।

दिल्ली में पिछले कई दिनों से हर रोज़ क़रीब 20-22 हज़ार संक्रमण के मामले आ रहे हैं। हालाँकि, स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि दिल्ली में पिछले 24 घंटों में लगभग 25,000 मामलों की रिपोर्ट होने की संभावना है। यह संख्या कोरोना संक्रमण की इस लहर में सबसे ज़्यादा होगी। लेकिन इसके साथ ही सत्येंद्र जैन ने कहा कि पॉजिटिविटी दर यह निर्धारित नहीं कर सकती है कि मामले चरम पर हैं या नहीं।

ताज़ा ख़बरें

शहर में पॉजिटिविटी दर 25 फ़ीसदी को पार कर गयी है और सात महीने के उच्चतम स्तर पर है। लेकिन स्वास्थ्य मंत्री ने कह कि अस्पताल में भर्ती होने की दर स्थिर हो गई है और मामले में ज़्यादा बदलाव नहीं हैं। अभी भी कई बिस्तर खाली हैं। उन्होंने कहा कि मुंबई में मामलों में गिरावट शुरू हो गई है और जल्द ही दिल्ली में भी यही प्रवृत्ति दिखेगी।

एक दिन पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि दिल्ली में वायरस फैलने की गति धीमी हो गई है। उन्होंने कहा था, 'पूरे देश में कोविड के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। दिल्ली में भी वृद्धि देखी जा रही है, लेकिन हमने देखा है कि वायरस के प्रसार की गति धीमी हो गई है। मुझे उम्मीद है कि यह प्रवृत्ति जारी रहेगी और कोविड का प्रसार कम होगा।'

हालांकि, मंगलवार को ही दिल्ली में निजी कार्यालयों को बंद करने और कर्मचारियों को घर से काम करने का आदेश दिया गया था। आवश्यक सेवाओं से जुड़े कार्यालय नियम के अपवाद हैं। शहर में रेस्तरां और बार भी बंद कर दिए गए हैं, केवल टेकअवे की अनुमति है। पिछले क़रीब एक महीने से रात का कर्फ्यू लगा हुआ है।

दिल्ली सरकार कोरोना मामलों के स्थिर होने की बात तब कह रही है जब आज ही केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को स्वास्थ्य केंद्रों पर मेडिकल ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए लिखा है।

उन्होंने कहा है कि इन-पेशेंट देखभाल वाली स्वास्थ्य सुविधाओं में कम से कम 48 घंटे के लिए पर्याप्त मेडिकल ऑक्सीजन का बफर स्टॉक होना चाहिए। उन्होंने राज्यों से तरल चिकित्सा ऑक्सीजन (एलएमओ) टैंकों की रिफिलिंग के लिए एक निर्बाध आपूर्ति श्रृंखला सुनिश्चित करने के लिए भी कहा।

दिल्ली से और ख़बरें

देश में 15 फ़ीसदी ज़्यादा केस आए

बता दें कि देश में बुधवार को 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 1,94,720 नए मामले सामने आए हैं। ये मामले बीते दिन के मामलों से 15.8 फ़ीसदी ज़्यादा हैं। मंगलवार को कोरोना के 1,68,063 मामले सामने आए थे। बुधवार को पॉजिटिविटी दर 11.05 फ़ीसदी हो गई जबकि साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर 9.82 फ़ीसदी है। 

ओमिक्रॉन के मामलों का आंकड़ा बढ़कर 4,868 हो गया है। इनमें अब तक महाराष्ट्र में सबसे ज़्यादा 1,281 मामले हैं जबकि राजस्थान 645 मामलों के साथ दूसरे नंबर पर है।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें