loader

दिल्ली: मुंडका में भीषण आग, 27 लोगों की मौत, 40 झुलसे 

दिल्ली के मुंडका में शुक्रवार शाम को एक फैक्ट्री में भीषण आग लग गई। इसमें 27 लोगों की जलकर मौत हो गई जबकि 40 लोग बुरी तरह झुलस गए हैं। यह इलेक्ट्रॉनिक सामान की फैक्ट्री थी और इसमें डेढ़ सौ लोग काम करते थे। शव इतनी बुरी तरह जल चुके हैं कि पहचान कर पाना मुश्किल है कि यह किस शख़्स का शव है। यह हादसा शाम 5 बजे के आसपास हुआ। 

आग इतनी जबरदस्त थी कि फैक्ट्री के अंदर सब कुछ जलकर राख हो गया। पुलिस को आशंका है कि मरने वालों का आंकड़ा अभी और बढ़ सकता है। 

हादसे पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सहित तमाम नेताओं ने गहरा शोक जताया है। 

ताज़ा ख़बरें

बुरी तरह झुलसे लोगों को ग्रीन कॉरिडोर बनाकर संजय गांधी अस्पताल ले जाया गया। हादसे की सूचना मिलते ही आसपास के लोग मौके पर पहुंचे और अंदर फंसे लोगों को निकालने की कोशिश की। दमकल की कई गाड़ियां मौके पर पहुंचीं और आग बुझाने का काम युद्धस्तर पर किया। आग पर पूरी तरह काबू पाया जा चुका है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने घोषणा की है कि आग में जान गंवाने वालों के परिजनों को पीएमएनआरएफ की ओर से दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50-50 हज़ार रुपये दिए जाएंगे।

यह फैक्ट्री मुंडका मेट्रो स्टेशन के पास है। पुलिस ने बताया कि फैक्ट्री की इमारत से करीब 60-70 लोगों को बचा लिया गया है। दमकल कर्मियों के अनुसार कुछ लोग इमारतों से नीचे कूद गए और इस वजह से घायल हुए हैं। उन्हें भी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

दो लोग गिरफ्तार

हादसे के बाद एक कंपनी के दो मालिकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इनके नाम वरुण गोयल और सतीश गोयल हैं। दिल्ली पुलिस ने इन्हें गैर इरादतन हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है। 

सोशल मीडिया पर आग को बुझाने के दौरान के कई वीडियो साझा किए गए हैं। उन वीडियो में देखा जा सकता है कि आग बेकाबू है और कई दमकल गाड़ियाँ काबू पाने का प्रयास करती हैं। वीडियो में पुलिस की सायरन की आवाज़ भी सुनी जा सकती है।

शनिवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी घटनास्थल पर पहुंचे और उन्होंने घटना की मजिस्ट्रेट से जांच कराने के आदेश दिए। उन्होंने मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये मुआवजा देने का एलान किया।

रिपोर्ट के मुताबिक़ अग्निशमन विभाग के अधिकारियों के अनुसार शाम 4.40 बजे आग लगने की सूचना मिली थी। शुरुआती तौर पर पता चला है कि चार मंजिला इमारत का इस्तेमाल कई कंपनियों के ऑफिस स्पेस के तौर पर किया जाता है।

इमारत की पहली मंजिल पर आग लगी थी। इस मंजिल पर सीसीटीवी कैमरे और राउटर बनाने वाली कंपनी का कार्यालय है। कंपनी के 50 से अधिक कर्मचारियों को बचाया गया है। इस बीच, कंपनी के मालिक को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।

दिल्ली से और ख़बरें
इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, 'दिल्ली में मुंडका मेट्रो स्टेशन के पास एक इमारत में हुए भीषण आग हादसे से व्यथित हूं। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं। मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।'
प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, 'दिल्ली में भीषण आग के कारण लोगों की जान जाने से बेहद दुखी हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।'

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लिखा, 'इस दुखद घटना के बारे में जानकर स्तब्ध और दुखी हूं। मैं लगातार अधिकारियों के संपर्क में हूं। हमारे बहादुर दमकलकर्मी आग पर काबू पाने और लोगों की जान बचाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। भगवान सभी का भला करे।'

देश के गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है, 'दिल्ली के मुंडका में आग लगने की घटना बहुत दुःखद है। मैं सम्बंधित अधिकारियों से लगातार संपर्क में हूँ, प्रशासन राहत व बचाव कार्य में जुटा है। एनडीआरएफ़ भी वहाँ शीघ्र पहुँच रही है। लोगों को वहाँ से निकालना व घायलों को तुरंत उपचार देना हमारी प्राथमिकता है।'

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा है, 'मुंडका मेट्रो स्टेशन के पास दिल्ली में लगी आग में लोगों की दर्दनाक मौत से आहत हूं। शोक संतप्त परिवारों के प्रति हार्दिक संवेदना और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।'

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें