loader

दिल्ली में सोमवार से लगेगा रात का कर्फ़्यू

दिल्ली में कोरोना वायरस के मामलों में तेज़ी से बढ़ोतरी होने और बीते 24 घंटों में ही 290 नए मामले सामने आने के बाद सरकार ने एक अहम फ़ैसला किया है। अरविंद केजरीवाल सरकार ने सोमवार से रात का कर्फ़्यू लगाने का एलान किया है। इसके तहत रात ग्यारह बजे से लेकर सुबह पाँच बजे तक कर्फ़्यू लगा रहेगा।

इस बीच हफ़्ते के अंत का कर्फ़्यू नहीं लागू होगा। दुकानें ऑड- इवन नियम के तहत सुबह 10 बजे से रात 8 बजे तक खुलेंगी। गैर ज़रूरी सेवाओं या सामान वाली दुकानें और मॉल से जुड़ी पाबंदियाँ भी लग सकती हैं। 

सरकार ने कोरोना प्रतिबंधों के तहत रात का कर्फ़्यू लगाने का फ़ैसला ऐसे समय किया है जब दिल्ली में सक्रिय मरीजों की संख्या एक हजार के पार कर गई है। दिल्ली में अब 1103 सक्रिय कोरोना मरीज हैं।

दिल्ली से और खबरें
यह 1 जुलाई के बाद सबसे ज्यादा सक्रिय मरीजों की तादाद है। 1 जुलाई को एक्टिव केस का यह आँकड़ा 1357 था। पिछले 24 घण्टे में कोरोना से 1 मौत हुई है, जबकि कोरोना से मौत का कुल आंकड़ा  25,105 हो गया है। इसके साथ ही राजधानी में कोरोना के 583 मरीज होम आइसोलेशन में हैं।
delhi night curfew as corona restrictions for containing coronavirus - Satya Hindi

दिल्ली में कोरोना वायरस

राष्ट्रीय राजधानी में सक्रिय कोरोना मरीजों की दर कुल मरीजों के मुकाबले 0.076 फ़ीसदी है तो रिकवरी दर यानी कोरोना ठीक होने की दर 98.18 फीसदी है।

दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 290 नए मामलों के साथ कुल आँकड़ा 14,43,352 हो गया है तो पिछले 24 घंटे में 120 मरीज डिस्चार्ज हुए। ठीक हुए मरीजों की कुल संख्या 14,17,144 हो गई है। 

पिछले 24 घंटे में 52,947 टेस्ट हुए। इसके साथ ही कोरोना जाँच का कुल आँकड़ा 3,23,99,242 हो गया है। इसमें आरटीपीसीआर टेस्ट 50,059 और एंटीजेन टेस्ट 2888 हुए हैं। दिल्ली में कंटेनमेंट जोन की संख्या 279 हो गई है। दूसरी ओर दिल्ली में  कोरोना से मरने वालों की तादाद 1.74 फीसदी है।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें