loader

कोरोना के डर से बंद दिल्ली के स्कूल-कॉलेज, सिनेमा हॉल

अरविंद केजरीवाल सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण को ध्यान में रखते हुए 31 मार्च तक तमाम स्कूल-कॉलेज और सिनमाघरों को बंद करने का आदेश दिया है। सरकार ने यह आदेश इसलिए जारी किया है कि राज्य में संक्रमण न फैले। भारत में अब तक 73 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। 
दिल्ली सरकार ने  प्राथमिक स्कूलों को पहले ही बंद करने का आदेश दे दिया था। परीक्षा को ध्यान में रखते हुए सेकंडरी स्कूल बंद नहीं किए गए थे। 
मुख्यमंत्री ने कहा, 'दिल्ली के तमाम सिनेमा हॉल 31 मार्च तक बंद रहेंगे। जिन स्कूल-कॉलेजों में परीक्षा नहीं हो रही है, वे भी बंद कर दिए जाएंगे।' 

केरल-महाराष्ट्र में संक्रमण

बता दें कि केरल ने तमाम शिक्षा संस्थानों को पहले ही बंद कर दिया है। केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने लोगों से अपील की कि वे सबरीमला मंदिर के कपाट खुलने पर भी वहां न जाएं। महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के 10 मामले पाए गए हैं। 
महाराष्ट्र सरकार ने इंडियन प्रीमियर लीग के तहत 29 मार्च को होने वाले मैच के टिकट की बिक्री पर रोक लगा दी है। यह मैच मुंबई इंडियन्स और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच है।

भारत ने ख़ुद को सबसे अलग किया

कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनज़र भारत ने ख़ुद को पूरी दुनिया से अलग करने का फ़ैसला लिया है। सरकार ने कहा है कि 15 फ़रवरी के बाद चीन, इटली, ईरान, कोरिया, फ्रांस, स्पेन और जर्मनी से आने वाले हर व्यक्ति को 14 दिनों के लिये अलग रखा जाएगा और यह भारतीयों पर भी लागू होगा। 
केंद्र सरकार की ओर से सभी को यह सलाह दी गई है कि वे दूसरे देशों की यात्राओं पर न जाएं और अगर वे जाते हैं तो वापस लौटने पर उन्हें दो हफ़्ते के लिये डॉक्टर्स की निगरानी में रखा जाएगा। 
विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी कोरोना वायरस को महामारी घोषित कर दिया है। कोरोना वायरस दुनिया भर के 100 से ज़्यादा देशों में फैल गया है। दुनिया भर में सवा लाख से ज़्यादा लोग इसकी चपेट में हैं और 4600 से ज़्यादा मौतें हो चुकी हैं।

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता प्रमाणपत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें