loader

दिल्ली: अनाज मंडी इलाक़े में भीषण आग, 43 लोगों की मौत

दिल्ली के रानी झांसी रोड इलाक़े में स्थित एक 4 मंजिला इमारत में रविवार सुबह आग लग गई। पुलिस के मुताबिक़, इस हादसे में 43 लोगों की मौत हो गई है। लगभग 50 लोगों को नजदीक के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। दिल्ली पुलिस की डीसीपी (नॉर्थ) मोनिका भारद्वाज ने बताया कि बिल्डिंग के मालिक रेहान और उसके मैनेजर फुरकान को गिरफ़्तार कर लिया गया है। 
दम घुटने के कारण जिन लोगों की हालत बहुत ज़्यादा ख़राब हुई है, उन्हें बाड़ा हिंदू राव, राम मनोहर लोहिया और एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि रविवार सुबह 5.00-5.30 बजे के पास आग लगने की यह घटना हुई है। यह भी बताया जा रहा है कि आग लगने की यह घटना शॉर्ट सर्किट के कारण हुई है। मौक़े पर मौजूद लोगों के मुताबिक़, आग लगने के बाद थोड़ी ही देर में धुआं बहुत ज़्यादा फैल गया और लोगों का दम घुटने लगा। इस वजह से ज़्यादा लोगों की मौत हुई है। लोगों ने बताया कि इस इमारत में कई फ़ैक्ट्रियां चल रही थीं, जहाँ पर स्कूल बैग, प्लास्टिक बॉटल और दूसरी चीजें बनाई जाती थीं। 

अनाज मंडी में लगी भीषण आग पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दुख जताया है। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि यह भयावह घटना है। उन्होंने घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि उन्होंने घटना की मजिस्ट्रियल जाँच के आदेश दे दिए हैं। केजरीवाल ने घटना में मारे गए लोगों के परिवारों को 10-10 लाख रुपये और घायलों को 1 लाख रुपये देने का एलान किया है। केजरीवाल ने कहा कि घायलों के इलाज का पूरा ख़र्च भी दिल्ली सरकार उठाएगी। नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फ़ोर्स (एनडीआरएफ़) की टीम ने घटनास्थल पर पहुंचकर हालात का जायजा लिया है। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें