loader
पथराव करते लोग।

दिल्ली: लॉकडाउन के दौरान राशन न मिलने पर लोगों ने किया स्कूल पर पथराव

दिल्ली में लॉकडाउन के दौरान राशन न मिलने पर लोगों ने दिल्ली नगर निगम के एक स्कूल पर पथराव कर दिया। यह स्कूल किराड़ी इलाक़े के प्रेम नगर में है और यहां पर दिल्ली सरकार ने राशन वितरण केंद्र बनाया हुआ है। पथराव की यह घटना गुरुवार को हुई। 

‘द इंडियन एक्सप्रेस’ के मुताबिक़, ‘स्कूल के प्रिंसिपल ने कहा कि गुरुवार को राशन नहीं बांटा गया क्योंकि यह दिन कागज-दस्तावेज के काम के लिए रखा गया था और हमने स्कूल के गेट पर इसकी सूचना भी चिपका दी थी।’ 

ताज़ा ख़बरें

उन्होंने कहा, ‘3 दिन से सप्लाई नहीं मिली थी लेकिन बुधवार शाम को कुछ फ़्रेश स्टॉक आया और इसे शुक्रवार से बांटा जाना था। हमने इस बारे में लोगों को बताया था लेकिन पहले उन्होंने कई घंटों तक बहस की और बाद में पथराव भी किया।’ 

प्रिंसिपल ने कहा कि हालात को क़ाबू में करने के लिए पुलिस को बुलाना पड़ा। लोगों द्वारा पथराव करने का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। 

पहले भी हुई ऐसी घटनाएं

अख़बार के मुताबिक़, उत्तरी दिल्ली नगर निगम की अतिरिक्त आयुक्त नैना कपिल ने इस मामले में खाद्य व आपूर्ति विभाग के सचिव को पत्र लिखकर कहा है कि राशन न होने पर भीड़ बेक़ाबू हो गयी। उन्होंने लिखा है कि इस तरह की घटनाएं आदर्श नगर, मंगोलपुरी और सुल्तानपुरी में भी हुई हैं। 

दिल्ली से और ख़बरें

‘द इंडियन एक्सप्रेस’ के मुताबिक़, दिल्ली सरकार के प्रवक्ता ने कहा है कि इस मामले की जांच कराई जाएगी और केंद्र पर जल्द से जल्द सप्लाई पहुंचे, इसे भी सुनिश्चित किया जाएगा। प्रवक्ता के मुताबिक़, अब तक दिल्ली सरकार ई-कूपन के जरिए ऐसे 25 लाख लोगों तक राशन पहुंचा चुकी है, जिनके पास सार्वजनिक वितरण प्रणाली का कार्ड नहीं है। लेकिन इसके बाद भी कई जगहों से राशन के ख़त्म होने की शिकायतें आ रही हैं। 

बीते सोमवार को इस तरह की घटनाएं दक्षिणी व पूर्वी दिल्ली में भी हुई थीं। तब भी लोग बड़ी संख्या में नगर निगम के स्कूल के बाहर इकट्ठा हो गए थे और उन्होंने राशन को लेकर टीचर्स से बहस की थी। 

नगर निगम टीचर्स एसोसिएशन के महासचिव राम निवास सोलंकी ने कहा है कि उन्होंने इस बारे में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखकर शिक्षकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि शिक्षकों का कोरोना टेस्ट कराया जाना चाहिए क्योंकि वे लोग बेहद ख़राब हालात में भी काम कर रहे हैं।

Satya Hindi Logo सत्य हिंदी सदस्यता योजना जल्दी आने वाली है।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें