loader

कोरोना का कहर जारी: महाराष्ट्र में 61,695, यूपी में 22,439 नए मामले 

बेहद तेज़ रफ़्तार से लोगों को संक्रमित कर रहे कोरोना वायरस ने देश को पस्त कर दिया है। महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और दिल्ली में संक्रमण की रफ़्तार कम होने का नाम नहीं ले रही है। महाराष्ट्र में गुरूवार को 61,695 नए मामले आए हैं और 349 लोगों की मौत हुई है। बीते दिन संक्रमण का आंकड़ा 58,952 था और 278 लोगों की मौत हुई थी। इससे तुलना करें तो हालात बिगड़े हैं। और ये कब सही होंगे, कोई नहीं कह सकता। 

महाराष्ट्र में संक्रमण इतना ज़्यादा है कि राज्य में 35,87,478 लोग होम क्वारेंटीन हैं जबकि 27,273 इंस्टीट्यूशनल क्वारेंटीन हैं। जबकि एक्टिव मामलों का आंकड़ा बढ़कर 6,20,060 तक पहुंच गया है। महाराष्ट्र में अब तक 59,153 लोगों की मौत कोरोना वायरस के कारण हो चुकी है। 

उधर, अस्पतालों और श्मशानों-कब्रिस्तानों के हालात देखकर लोग ख़ौफ़जदा हैं। 

ताज़ा ख़बरें

मुंबई में भी संक्रमण की रफ़्तार कम होने का नाम नहीं ले रही है और गुरूवार को 8,217 नए मामले सामने आए हैं और इस दौरान 49 लोगों की मौत हुई है। बीते दिन संक्रमण का आंकड़ा 9,925 था और 54 लोगों की मौत हुई थी। भले ही यह आंकड़े कुछ कम हुए हैं लेकिन कल फिर बढ़ जाएंगे, इससे इनकार नहीं किया जा सकता। मुंबई में कुल 85,494 एक्टिव मामले हैं। 

संक्रमण और मौतों का आंकड़ा बढ़ा

उत्तर प्रदेश में संक्रमण के मामलों में उछाल आया और गुरूवार को 22,439 नए मामले दर्ज किए गए और इस दौरान 114 लोगों की मौत हुई। राज्य में अब तक 9,480 लोगों की कोरोना वायरस से मौत हो चुकी है और 7,66,360 इतने लोग संक्रमित हो चुके हैं। बीते दिन संक्रमण का आंकड़ा 20,510 और मौतों का आंकड़ा 67 था। बीते दिन से तुलना करें तो संक्रमण के साथ ही मौतों का आंकड़ा भी बढ़ा है। राज्य में एक्टिव मामलों की संख्या 1,29,848 है। 

22439 corona cases in uttar pradesh  - Satya Hindi
दिल्ली में गुरूवार को कोरोना संक्रमण के 16,699 मामले सामने आए और 112 लोगों की मौत हुई। राज्य में संक्रमण की दर बढ़कर 20.22% हो गयी है, जो अब तक सबसे ज़्यादा है। बीते दिन कोरोना संक्रमण के 17,282 नए मामले आए थे और 104 लोगों की मौत हुई थी। दिल्ली में 54,309 एक्टिव मामले हैं। दिल्ली में अब तक 11,652 लोगों की मौत कोरोना वायरस से हो चुकी है। 
देश से और ख़बरें

वीकेंड कर्फ्यू का एलान 

दिल्ली में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए केजरीवाल सरकार ने अहम फ़ैसला लिया है। सरकार ने दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू का एलान कर दिया है। गुरूवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल अनिल बैजल के बीच काफी देर तक बैठक चली और इसमें यह फ़ैसला लिया गया। मतलब कि दिल्ली में शुक्रवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू रहेगा। जिस रफ़्तार से संक्रमण बढ़ रहा है, उसमें इस तरह के क़दम उठाना ज़रूरी माना जा रहा था। 

केजरीवाल ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली में बेड की कमी नहीं है और अभी भी 5 हज़ार ऑक्सीजन बेड खाली हैं और हम इसे आगे बढ़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोग इस बात की जिद न करें कि उन्हें किसी विशेष अस्पताल में ही भर्ती कराया जाए। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें