loader

बीजेपी ने भी यूपी एमएलसी प्रत्याशी तय करने में जाति समीकरण देखा, 30 की सूची आई

बीजेपी ने भी एमएलसी चुनाव के लिए अपने 30 प्रत्याशियों की लिस्ट जारी है। बीजेपी ने भी बाकी दलों की तरह जाति समीकरण, दूसरे दलों से आये नेताओं या दलबदलुओं और योगी आदित्यनाथ के खास लोगों के नाम सूची में हैं। इससे पहले सपा ने अपने 36 प्रत्याशियों की घोषणा की थी, जिसमें 14 यादव प्रत्याशी थे। बताया जाता है कि बीजेपी की सूची में भी करीब दस प्रत्याशी एक ही जाति विशेष के हैं। इसी तरह वैश्य समुदाय का भी खासा ध्यान रखा गया है। इस सूची में एक भी मुस्लिम नाम नहीं है। यूपी में एमएलसी चुनाव के लिए 9 अप्रैल को वोटिंग होगी और 12 अप्रैल को नतीजे आएंगे।

ताजा ख़बरें
बीजेपी ने एमएलसी चुनाव के लिए गोरखपुर क्षेत्र प्रभारी और लखीमपुर खीरी से बीजेपी के प्रदेश महासचिव अनूप गुप्ता और युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष प्रांशु दत्त द्विवेदी को मैदान में उतारा है। लखनऊ-उन्नाव विधान परिषद सीट के चुनाव के लिए बीजेपी ने रामचंद्र प्रधान को उम्मीदवार बनाया है।

मुरादाबाद-बिजनौर क्षेत्र से सत्यपाल सैनी, रामपुर-बरेली से कुंवर महाराज सिंह, बदायूं से बागीश पाठक, पीलीभीत-शाहजहांपुर से डॉ. सुधीर गुप्ता, हरदोई से अशोक अग्रवाल, लखीमपुर खीरी से अनूप गुप्ता, दिनेश प्रताप सिंह को मैदान में उतारा है।

रायबरेली, प्रतापगढ़ से हरि प्रताप सिंह, बाराबंकी से अंगद कुमार सिंह, बहराइच से डॉ प्रज्ञा त्रिपाठी, गोंडा से अवधेश सिंह मंजू और फैजाबाद से हरिओम पांडेय हैं। समाजवादी पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए सीपी चंद को गोरखपुर-महाराजगंज से, रतनपाल सिंह को देवरिया से और अरुण कुमार यादव को आजमगढ़ और मऊ से उम्मीदवार बनाया गया है।
बीजेपी ने आगरा-फिरोजाबाद से विजय शिवहरे, मैनपुरी से ओम प्रकाश सिंह, मथुरा-एटा से आशीष यादव आशु, अलीगढ़ से ऋषिपाल सिंह, बुलंदशहर से नरेंद्र भाटी, मेरठ-गाजियाबाद से धर्मेंद्र भारद्वाज और मुजफ्फरनगर-सहारनपुर से वंदना मुदित वर्मा को मैदान में उतारा है।बीजेपी ने बलिया से रविशंकर सिंह पप्पू, गाजीपुर से चंचल सिंह, इलाहाबाद से केपी श्रीवास्तव, बांदा-हमीरपुर से जितेंद्र सिंह सेंगर, झांसी-ललितपुर-जालौन से राम निरंजन, इटावा-फर्रुखाबाद से प्रांशु दत्त द्विवेदी, आगरा से जिया शिवहरे को उम्मीदवार बनाया है. फिरोजाबाद और धर्मेंद्र भारद्वाज को मेरठ-गाजियाबाद से उम्मीदवार बनाया गया है।
देश से और खबरें
आगरा-फिरोजाबाद से पुराने कार्यकर्ता विजय शिवहरे वर्तमान में राज्य मंत्री हैं। इससे पहले वे महानगर अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। 2017 के विधानसभा चुनावों के दौरान जब बीजेपी को भारी जीत मिली और आगरा की सभी सीटों पर जीत हासिल की तो विजय शिवहरे महानगर अध्यक्ष थे।  इससे पहले वे युवा मोर्चा के विभिन्न पदों पर भी रह चुके हैं। समाजवादी पार्टी में रहने के दौरान दो बार मंत्री और विधान परिषद के सदस्य रहे नरेंद्र सिंह भाटी पर बीजेपी ने बड़ा दांव खेला है। बीजेपी ने उन्हें गौतमबुद्धनगर-बुलंदशहर सीट से विधान परिषद चुनाव का उम्मीदवार बनाया है।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें