loader

गाइडलाइंस- रात के कर्फ्यू की इजाजत, मंजूरी के बाद ही लॉकडाउन 

कोरोना संक्रमण के मामले तेज़ी से बढ़ने के बीच ही केंद्र सरकार ने बुधवार को नई गाइडलाइंस जारी की है। अब राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को रात का कर्फ़्यू और स्थानीय तौर पर पाबंदी लगाने की छूट होगी। राज्य स्थिति के अनुसार फ़ैसला ले सकते हैं। लेकिन लॉकडाउन के लिए ऐसी छूट नहीं होगी। इसका मतलब है कि कंटेनमेंट ज़ोन के बाहर लॉकडाउन लगाए जाने के लिए केंद्र सरकार से मंजूरी लेनी होगी। 

नयी गाइडलाइंस को 'निगरानी, ​​नियंत्रण और सावधानी के लिए दिशा-निर्देश' नाम से जारी किया गया है। ये 1 दिसंबर से 31 दिसंबर तक लागू रहेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के एक दिन बाद इसे जारी किया गया है। 

ख़ास ख़बरें

ये गाइडलाइंस तब आई हैं जब भारत में कोरोना संक्रमण के मामले 90 लाख से ज़्यादा हो गए हैं। पिछले हफ्ते नई दिल्ली, गुजरात और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में संक्रमण के मामले बढ़े हैं और अस्पतालों पर मरीजों का दबाव बढ़ गया है। दुनिया में दूसरे स्थान पर रहने वाले भारत में कोरोना से 1.34 लाख से अधिक मौतें हुई हैं। 

देश में पिछले एक महीने में हर रोज़ संक्रमण के मामलों में गिरावट देखी गई है, लेकिन अभी भी औसतन हर दिन क़रीब 45,000 नए संक्रमण के मामले आ रहे हैं। 

गृह मंत्रालय की ओर से जारी इस दिशा-निर्देश में कहा गया है कि राज्य सरकारें कार्यालयों में काम के लिए अलग-अलग समय भी तय कर सकती हैं ताकि कार्यालयों में कर्मचारियों की संख्या कम रखी जा सके। 

इन दिशा-निर्देशों में कुछ राज्यों-केंद्र शासित क्षेत्रों में नए मामलों में हालिया बढ़ोतरी, त्यौहारों के मौसम और सर्दियों की शुरुआत को ध्यान में रखते हुए कुछ अहम बातों पर ज़ोर दिया गया है।

नई गाइडलाइंस में कहा गया है कि महामारी को पूरी तरह ख़त्म करने के लिए सावधानी बनाए रखना और निर्धारित संशोधन रणनीति का सख्ती से पालन करना ज़रूरी है।

इसमें यह भी कहा गया है कि स्थानीय ज़िला, पुलिस और नगर निगम के अधिकारी यह सुनिश्चित करने के लिए ज़िम्मेदार होंगे कि निर्धारित रोकथाम उपायों का कड़ाई से पालन किया जाए।

पंजाब के शहरों में रात का कर्फ्यू

नई गाइडलाइंस जारी होने से पहले पंजाब ने नये प्रतिबंधों की घोषणा की है। दिल्ली-एनसीआर में कोरोना की गंभीर स्थिति को देखते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बुधवार को कहा कि सभी शहरों और कस्बों में फिर से रात का कर्फ्यू लगेगा। 1 दिसंबर से मास्क न पहनने या सामाजिक दूरी का पालन न करने पर जुर्माना दोगुना कर दिया जाएगा। इस फ़ैसले के बाद पंजाब के सभी होटल, रेस्त्रां और मैरिज हॉल रात 9.30 बजे बंद हो जाएँगे। रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक से रात का कर्फ्यू लागू रहेगा।

वीडियो में देखिए, कोरोना वैक्सीन का सच क्या है?
कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहे दुनिया के कई देशों के बाद अब भारत में भी स्थिति बिगड़ने की आशंका है। दिल्ली पहले से ही संक्रमण से जूझ रही है। महाराष्ट्र, केरल, पश्चिम बंगाल और राजस्थान में संक्रमण के बढ़ने के आसार हैं। ख़तरे को देखते हुए महाराष्ट्र में बीएमसी के स्कूल 31 दिसंबर तक बंद कर दिए गए हैं। मुंबई और दिल्ली के बीच ट्रेन और हवाई सेवा पर कुछ फ़ैसला लिया जा सकता है। कोरोना नियंत्रण के लिए कई राज्यों में केंद्र सरकार की टीमें भेजी गई हैं। सुप्रीम कोर्ट तक ने इस मामले को संज्ञान में लिया और राज्यों को पूरी तैयारी रखने के लिए कहा। इससे सवाल उठता है कि संक्रमण का दौर क्या फिर से लौट रहा है और दुनिया के दूसरे देशों की तरह भारत में भी दूसरी लहर तो नहीं आ जाएगी?
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें