loader

कोरोना: देश में एक दिन में क़रीब 40 हज़ार केस, 154 मौतें 

देश में कोरोना संक्रमण के मामले शुक्रवार को फिर से काफ़ी ज़्यादा बढ़ गए। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार देश में 24 घंटे में 39 हज़ार 726 मामले रिकॉर्ड किए गए। इसमें से सिर्फ़ महाराष्ट्र में ही क़रीब 25 हज़ार संक्रमण के मामले आए। महाराष्ट्र में कोरोना की दूसरी लहर आ चुकी है और कहा जा रहा है कि देश में भी कोरोना की दूसरी लहर दस्तक दे रही है। हालाँकि, आधिकारिक तौर पर इस तरह की बात अब तक नहीं की गई है। 

संक्रमण के नये मामले आने के बाद देश में अब तक 1 करोड़ 15 लाख से ज़्यादा मामले आ चुके हैं। 24 घंटे में 154 लोगों की मौत हुई और अब तक कुल मरने वालों की संख्या 1 लाख 59 हज़ार से ज़्यादा हो चुकी है। देश में अब कुल सक्रिय मामले 2 लाख 71 हज़ार से ज़्यादा हो गए हैं। 

ताज़ा ख़बरें

देश में सबसे ज़्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है। राज्य में पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 25,833 नए मामले सामने आए हैं और 58 लोगों की मौत हुई है। बीते दिन संक्रमण का यह आंकड़ा 23,179 था। इससे पहले राज्य में सबसे ज़्यादा संक्रमण के मामले पिछले साल 11 सितंबर को 24 हज़ार 886 संक्रमण के मामले आए थे। महाराष्ट्र बड़ी मुश्किल से कोरोना संक्रमण पर क़ाबू पा सका था लेकिन यहां कोरोना फिर से बेकाबू होता दिख रहा है। मुंबई में 24 घंटे में 2,877 नए मामले सामने आए और 8 लोगों की मौत हुई। 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि देश भर में कोरोना के कुल एक्टिव मामलों में से 60 फ़ीसदी महाराष्ट्र से ही हैं जबकि मौतों के मामले भी सबसे ज़्यादा इसी राज्य में आए हैं। 
देश में तेज़ी से बढ़ते कोरोना के प्रकोप के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को ही कहा है कि 'उभरते कोरोना की सेकंड पीक' को रोकना ही होगा।

कोरोना संक्रमण को लेकर बुधवार को मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा कि छोटे स्तर पर कंटेनमेंट ज़ोन बनाने, प्रतिबंधों को लागू करने जैसे क़दमों को उठाने को कहा। उन्होंने मुख्यमंत्रियों से कहा कि यदि महामारी को अभी नहीं रोका गया तो यह पूरे देश में फिर से फैल जाएगा। 

प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि लोगों में दहशत की स्थिति पैदा किए बिना पहल किए जाने की ज़रूरत है। बैठक में एक प्रस्तुति के दौरान कहा गया है कि 70 ज़िलों में कोरोना के मामलों में 150% की वृद्धि हुई। सबसे ज़्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र में 60 फ़ीसदी सक्रिय कोरोनो के मामले हैं। पंजाब में कोरोना संक्रमण की बढ़ती संख्या को रोकने के लिए पूरे राज्य में RTPCR टेस्ट को बढ़ाने का प्रस्ताव किया गया।

coronavirus daily cases crosses 39000 in india - Satya Hindi

यूरोप में कोरोना बेकाबू

यूरोप में फिर से कोरोना बेकाबू हो गया है। फ़्रांस ने गुरुवार को कोरोना को लेकर सख्त पाबंदियाँ लगाई हैं। फ्रांस में नवंबर के बाद अब हर रोज़ सबसे ज़्यादा संक्रमण के मामले आ रहे हैं और वहाँ पूरे देश में लॉकडाउन लगाने पर विचार किया जा रहा है। इटली में फिर से लॉकडाउन लगाया गया है। इस प्रयास में कि कोरोना की तीसरी लहर को रोका जाए। जर्मन सरकार की स्वास्थ्य से जुड़ी एजेंसी रॉबर्ट कोच संस्थान के प्रमुख ने कहा है कि जर्मनी में तीसरी लहर पहले ही शुरू हो गई है। उस तरह से जैसे पिछले साल मार्च-अप्रैल महीने में लगाया गया था। पूरे यूरोप के हालात कैसे हैं इसका अंदाज़ा इसी से लग सकता है कि अब हर रोज़ 2 लाख से ज़्यादा संक्रमण के मामले आने लगे हैं। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें