loader

हरिद्वार: धर्म संसद में हुई मुसलमानों के ख़िलाफ़ नफ़रती, ज़हरीली बयानबाज़ी

हरिद्वार में तीन दिन तक चली धर्म संसद में मुसलमानों के ख़िलाफ़ नफ़रती, भड़काऊ बयानबाज़ी की गई। धर्म संसद में साधु-संतों के साथ ही हिंदू संगठनों से जुड़े लोग भी बड़ी संख्या में शामिल हुए। इस कार्यक्रम में बीजेपी के नेता अश्विनी उपाध्याय और उदिता त्यागी भी मौजूद रहे। 

हिंदू रक्षा सेना के अध्यक्ष स्वामी प्रबोधानंद गिरी ने धर्म संसद में कहा कि हमें तैयारी करनी होगी। उन्होंने कहा कि म्यांमार में हिंदुओं की हत्या की गई, दिल्ली के बॉर्डर पर भी भी हिंदुओं की हत्या हुई, अब ज़्यादा टाइम नहीं बचा है, या तो आप अभी मरने के लिए तैयार हो जाओ या फिर मारने के लिए और इसके सिवा कोई दूसरा रास्ता नहीं है। 

उन्होंने कहा कि म्यांमार की तरह यहां भी हर हिंदू को हथियार उठा लेने चाहिए और सफाई अभियान शुरू कर देना चाहिए।

ताज़ा ख़बरें

योगी के साथ है तसवीर

प्रबोधानंद गिरी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ अपनी तसवीर को सोशल मीडिया पर शेयर कर चुके हैं। उनकी उत्तराखंड की बीजेपी सरकार में कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत और पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के साथ भी फ़ोटो आ चुकी है। 

प्रबोधानंद गिरी इससे पहले हिंदुओं को 8 बच्चे पैदा करने के साथ ही मुसलमानों के ख़िलाफ़ कई बार नफ़रती बयानबाज़ी कर चुके हैं। 

Dharma Sansad at Haridwar Call for Muslim Genocide - Satya Hindi

बीते कुछ महीनों में यह एक और घटना है, जिसमें मुसलमानों के ख़िलाफ़ नफ़रत को बढ़ावा दिया गया। इससे पहले त्रिपुरा में मसजिदों में आगजनी की घटना हुई, संसद से कुछ दूरी पर स्थित जंतर-मंतर पर मुसलमानों के ख़िलाफ़ ख़ूनी नारे लगाए गए। 

गुड़गांव में खुले में जुमे की नमाज़ का और दिल्ली के द्वारका में हज हाउस का विरोध भी हिंदू संगठनों के लोग कर चुके हैं। 

धर्म संसद में महामडंलेश्वर साध्वी अन्नपूर्णा उर्फ पूजा शकुन पांडे ने भी भड़काऊ बयानबाज़ी की। उन्होंने कहा कि हथियारों के बिना कुछ भी संभव नहीं है और अगर आप उनकी जनसंख्या को ख़त्म करना चाहते हैं तो उनकी हत्या करो। 

साध्वी ने कहा कि हत्या और जेल जाने के लिए तैयार रहें। अगर हम में से 100 लोग भी उनके 20 लाख लोगों को मारने के लिए तैयार हो जाएं तो हमारी जीत हो जाएगी। उन्होंने कहा कि वह हिन्दुत्व की रक्षा के लिए हर हाल में हथियार उठा लेंगी। 

मुसलमानों के ख़िलाफ़ भड़काऊ बयानबाज़ी करने वाले यति नरसिंहानंद सरस्वती ने इस कार्यक्रम में कहा कि ज़्यादा से ज़्यादा बच्चे और अच्छे से अच्छे हथियार ही हिंदुओं को बचा सकते हैं।

कार्रवाई होगी?

हैरानी की बात यह है कि इन लोगों के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद भी कोई पुलिस, कोई न्याय व्यवस्था इन्हें जेलों में ठूंसने के लिए अब तक आगे नहीं आई है। ये कार्यक्रम बीजेपी शासित राज्य में हुआ है। इसलिए सबसे पहले वहां की सरकार को इस आयोजन को कराने वालों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करनी चाहिए। 

देश से और ख़बरें
लेकिन बीते कुछ सालों में कट्टर हिंदू संगठनों के लोग जिस तरह नफ़रती बयानबाज़ी करते रहे हैं और उन पर कहीं-कहीं नाममात्र की कार्रवाई हुई है, उसे देखकर लगता है कि इन लोगों का भी कोई बाल बांका नहीं कर पाएगा। 
कट्टर हिंदू संगठनों की यह नफ़रत सिर्फ़ मुसलमानों के ख़िलाफ़ ही नहीं है, हिंदुओं में भी उनके विचार से अलग विचार रखने वालों और ईसाईयों के भी वे ख़िलाफ़ है।

चर्च में बवाल 

बीते कुछ दिनों में हरियाणा से लेकर कर्नाटक तक में कट्टर हिंदू संगठनों के लोग चर्च में घुसकर बवाल कर चुके हैं। मध्य प्रदेश में संत रामपाल के अनुयायियों की शादी में घुसकर इन्होंने हंगामा किया और एक शख़्स को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। 

साफ है कि इनकी नफ़रत हर उस शख़्स से है, जो इनके साथ न चले। लेकिन उसमें भी मुसलमानों के ख़िलाफ़ ये जिस तरह खुलकर ज़हर उगल रहे हैं, उससे यह सवाल ज़रूर खड़ा होता है कि देश में क्या अब लोकतंत्र कहीं बचा है?

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें