loader

भारत पेइचिंग ओलंपिक उद्गाटन समारोह में भाग नहीं लेगा

चीन के शीतकालीन ओलंपिक उद्घाटन समारोह में भारतीय दूत भाग नहीं लेगा। यह घोषणा आज भारत ने की है। शीतकालीन ओलंपिक खेल पेइचिंग में होने वाले हैं। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने गुरुवार को कहा कि खेदजनक है कि चीन ने शीतकालीन ओलंपिक को राजनीतिकरण करने के लिए चुना है। भारतीय प्रवक्ता ने कहा कि चीन ने शीतकालीन ओलंपिक 2022 के लिए गलवान घाटी में घायल हुए अपने सैनिक क्यूई फैबाओ को ओलंपिक में अपना टॉर्चबियरर (मशालची) बनाया है।
ताजा ख़बरें
ऑस्ट्रेलियाई अखबार 'द क्लैक्सन' की रिपोर्ट के मुताबिक चीनी सैनिक क्यूई फैबाओ को जून 2020 में भारतीय सेना ने पकड़ लिया था। यह तब हुआ जब चीन ने गलवान घाटी में भारतीय बलों पर हमला करने की कोशिश की थी। रिपोर्ट के अनुसार, गलवान नदी को अंधेरे में पार करने का प्रयास करते समय 38 चीनी सैनिक डूब गए। यह घटना 15-16 जून की रात हुई थी। क्यूई फाबाओ चीनी सेना का नेतृत्व कर रहा था जो 15 जून, 2020 को भारतीय बलों पर हमले के लिए जिम्मेदार था, जिसमें ऑपरेशन स्नो लेपर्ड के दौरान गलवान घाटी में तैनात कर्नल बी. संतोष बाबू मारे गए थे।

India will not participate in the Beijing Olympics opening ceremony - Satya Hindi

रिपोर्ट अज्ञात सोशल मीडिया शोधकर्ताओं के एक समूह द्वारा किए गए शोध पर आधारित है। इसके स्रोतों में चीनी ब्लॉगर्स, मुख्य भूमि-आधारित चीनी नागरिकों से प्राप्त जानकारी और मीडिया रिपोर्ट शामिल हैं जिन्हें चीनी अधिकारियों द्वारा हटा दिया गया है।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें