loader

भारत-अमेरिकी साझेदारी सबसे घनिष्ठ बनाएँगे: जो बाइडन

क्वाड नेताओं की शिखर बैठक में शामिल होने के लिए जापान की राजधानी टोक्यो में जुटे भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति ने आज मुलाक़ात की और द्विपक्षीय वार्ता में आपसी संबंध को नई ऊँचाइयों पर ले जाने का संकल्प लिया। 

जो बाइडेन ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा है कि वह भारत के साथ अमेरिका की साझेदारी को सबसे घनिष्ठ बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि बहुत कुछ है जो दोनों देश एक साथ कर सकते हैं और करेंगे भी।

ताज़ा ख़बरें

द्विपक्षीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कुछ वैसा ही कहा। मोदी ने कहा, 'भारत और अमेरिका की रणनीतिक साझेदारी सही मायने में एक विश्वास की साझेदारी है। कई क्षेत्रों में हमारे समान हितों ने इस विश्वास के रिश्ते को मज़बूत किया है। हमारे बीच व्यापार और निवेश में भी लगातार विस्तार हो रहा है। हालांकि, यह हमारी ताक़त से बहुत कम है।' भारतीय प्रधानमंत्री ने भी इस साझेदारी में बहुत संभावनाएँ देखीं।

प्रधानमंत्री ने कहा, 'मुझे विश्वास है कि हमारे बीच 'भारत-अमेरिका इन्वेस्टमेंट इनसेंटिव एग्रीमेंट' से निवेश की दिशा में मज़बूत प्रगति देखने को मिलेगी। हम टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में अपना द्विपक्षीय सहयोग बढ़ा रहे हैं और वैश्विक मुद्दों पर भी आपसी समन्वय कर रहे हैं।' 

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने क्वाड शिखर सम्मेलन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय बैठक के दौरान भारत के कोविड टीकाकरण प्रयासों की प्रशंसा की। पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार बाइडन ने कहा कि उन्हें खुशी है कि दोनों देश वैक्सीन उत्पादन, स्वच्छ ऊर्जा पहल का समर्थन करते हुए आगे बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा, 'मुझे खुशी है कि हम भारत-अमेरिका वैक्सीन एक्शन प्रोग्राम का नवीनीकरण कर रहे हैं।'

देश से और ख़बरें

यूक्रेन पर रूस के आक्रमण के मुद्दे पर अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि दोनों नेताओं ने यूक्रेन पर रूस के क्रूर और गैर-न्यायसंगत आक्रमण के प्रभावों और पूरे वैश्विक व्यवस्था पर पड़ने वाले असर पर भी चर्चा की। उन्होंने कहा, 'अमेरिका-भारत इन नकारात्मक प्रभावों को कम करने के तरीके पर बारीकी से विचार-विमर्श जारी रखने जा रहे हैं।'

बता दें कि भारत के प्रधानमंत्री मोदी ने जापान के प्रधानमंत्री फिमियो किशिदा और पूर्व प्रधानमंत्री सहित क्वाड के दूसरे सदस्य देशों के नेताओं से भी मुलाक़ात की है। 

रूस-यूक्रेन युद्ध के साये में क्वाड सदस्यों- भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया के राष्ट्रप्रमुखों की टोक्यो में मुलाकात हुई। क्वाड की बैठक में भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा, अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री एंथनी अल्बनीज ने हिस्सा लिया। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें