loader

खट्टर किसी काम के नहीं, हरियाणा में ब्राह्मण सीएम बनाओः बीजेपी सांसद

बीजेपी के अंदर से हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ बड़ा हमला हुआ है। बीजेपी के रोहतक से सांसद अरविन्द शर्मा ने कहा हरियाणा को ब्राह्मण मुख्यमंत्री मिलना चाहिए। अभी तक खट्टर पर राज्य के गृह मंत्री अनिल विज ही हमले करते रहे हैं लेकिन जब पार्टी आलाकमान ने विज की एक नहीं सुनी तो बेचारे वो भी चुप होकर बैठ गए। लेकिन अब जिस तरह बीजेपी सांसद ने खट्टर पर हमला किया है, उससे हरियाणा की बीजेपी राजनीति में हलचल मची हुई है।
रोहतक सांसद अरविंद शर्मा ने रविवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और पूर्व सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर पर निशाना साधा। रोहतक के पहरावर में एक सभा को संबोधित करते हुए, शर्मा ने कहा कि उन्होंने पिछले बुधवार को सीएम से मुलाकात की थी और उनसे गांव में 123 कनाल भूमि गौर ब्राह्मण समाज को सौंपने का आग्रह किया ताकि वे वहां एक कॉलेज बना सकें।
ताजा ख़बरें
सांसद ने कहा कि सीएम खट्टर ने मुझे कुछ दिनों में जमीन उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया था, लेकिन मनीष ग्रोवर ने उनसे बात की और प्रक्रिया में देरी हुई। खट्टर एक ईमानदार व्यक्ति हैं, लेकिन निर्णय लेते समय वह प्रभावित हो जाते हैं। वो अपने दिमाग से काम नहीं लेते। हरियाणा में ब्राह्मण सीएम होना चाहिए।
रोहतक के सांसद ने आरोप लगाया कि बीजेपी में कुछ ऐसे लोग हैं, जो रोहतक से उनकी जीत को पचा नहीं पा रहे हैं। बता दें कि शर्मा ने रोहतक से कांग्रेस के दीपेंद्र सिंह हुड्डा को 2019 के लोकसभा चुनाव में हराया था।

Khattar is of no use, make Brahmin CM in Haryana: BJP MP - Satya Hindi
अरविन्द शर्मा, बीजेपी सांसद रोहतक
बीजेपी सांसद शर्मा ने कहा कि बीजेपी ने 2014 का विधानसभा चुनाव राम बिलास शर्मा के नेतृत्व में लड़ा था, लेकिन इसके बजाय मुख्यमंत्री पद के लिए मनोहर लाल खट्टर को चुना गया। हक राम बिलास शर्मा का था। आज हरियाणा में भ्रष्टाचार ने बड़े पैमाने पर अपना जाल फैला लिया है। मुझे नहीं पता कि वे बहादुरगढ़ से रोहतक तक मेट्रो लाइन का विस्तार क्यों नहीं कर रहे हैं। 
पिछले साल कांग्रेस और उसके नेता दीपेंद्र हुड्डा पर अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगते हुए, रोहतक के सांसद ने कहा कि उन्होंने ग्रोवर के पक्ष में बयान देकर अपने जीवन की सबसे बड़ी गलती की है।

पिछले साल, शर्मा ने कहा था कि कांग्रेस और दीपेंद्र को उनकी बात सुननी चाहिए और अगर किसी ने मनीष ग्रोवर को निशाना बनाने की हिम्मत की, तो उनकी "आंखें निकाल ली जाएंगी और हाथ काट दिया जाएगा।" सांसद शर्मा की यह टिप्पणी ग्रोवर सहित बीजेपी के कुछ नेताओं को एक मंदिर में कुछ घंटों के लिए बंधक बनाए जाने के एक दिन बाद आई थी।

उन्होंने कहा, मैंने पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर के पक्ष में बयान देकर गलती की। मैंने अमृत योजना में करोड़ों रुपये के भ्रष्टाचार का मुद्दा रोहतक में उठाया था। अब वे मुझसे सबूत मांग रहे हैं। मुझसे पूछने के बजाय, उन्हें सीआईए टीम को ठेकेदार और उसके सहयोगियों को गिरफ्तार करने का निर्देश देना चाहिए।

गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी हरियाणा के पूर्व प्रमुख नवीन जयहिंद के नेतृत्व में गौर ब्राह्मण समाज के सदस्य हरियाणा सरकार के खिलाफ पहरावर गांव में जमीन के मालिकाना हक की मांग का विरोध कर रहे हैं। उन लोगों का कहना है कि हम यहां परशुराम का मंदिर और एक कॉलेज बनाएंगे। मैं जेल जाने को तैयार हूं, लेकिन हम अपनी जमीन नहीं देंगे।
हालांकि, बार-बार प्रयास करने के बावजूद अरविंद शर्मा द्वारा लगाए गए आरोपों पर पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर की टिप्पणी का पता नहीं चल सका। 
देश से और खबरें

शर्मा के आरोप सही हैं : हुड्डा

हरियाणा के पूर्व सीएम और विपक्ष के नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि बीजेपी सांसद अरविंद शर्मा द्वारा लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोप सही हैं। भ्रष्टाचार हर जगह व्याप्त है, चाहे वह भर्ती हो या निगम, शराब या भूमि कार्य। बीजेपी सांसद के दावे यह साबित करने के लिए महत्वपूर्ण हैं कि विपक्ष द्वारा भ्रष्टाचार को लेकर लगाए गए आरोप सही हैं।" हुड्डा ने यहां अपने आवास पर संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि उनके मंत्रिमंडल ने 2007 में गौर ब्राह्मण समाज को पहरावर गांव की जमीन दी थी और कोई भी सरकार इसे नहीं ले सकती। कैबिनेट ने कानून के शासन का पालन करने के बाद निर्णय लिया था। हमारी सरकार ने नाममात्र की दरों पर जमीन लीज पर दी थी। जमीन पर आज भी गौर ब्राह्मण संस्था का अधिकार है। अगर सरकार इसे बदलने की कोशिश करती है तो हम इसका विरोध करेंगे। 
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें
पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा ने कहा कि वर्तमान हरियाणा सरकार का पूरा कार्यकाल विफलताओं से भरा रहा। युवाओं को नौकरी देने के बजाय, सरकार कौशल निगम के नाम पर उनका शोषण कर रही है। सरकार को किसानों को गेहूं पर ₹500 का बोनस देना चाहिए। 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का वादा करने वाली सरकार ने लागत और कर्ज को केवल दोगुना कर दिया है। उदयपुर में पार्टी के विचार-मंथन सत्र के दौरान, हमने एक राष्ट्रीय आयोग बनाने का फैसला किया है और कृषि ऋण का भुगतान न करने की स्थिति में, किसी भी किसान की जमीन की नीलामी नहीं की जाएगी।
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें