loader

कैंब्रिज विश्वविद्यालय की चेतावनी: भारत में जल्द कोरोना विस्फोट

ऐसे समय जब भारत में कोरोना वायरस और ख़ास कर उसके ओमिक्रॉन वैरिएंट के नए मामले रोज़ बढ़ते जा रहे हैं, ब्रिटेन स्थित कैंब्रिज विश्वविद्यालय के विशेषज्ञों ने भारत के लिए चौंकाने वाली बातें कही हैं, जो चिंताजनक भी हैं। 

कैंब्रिज विश्वविद्यालय के जज़ बिज़नेस स्कूल के प्रोफ़ेसर पॉल कट्टुमैन ने चेतावनी दी है कि भारत में रोज़ाना कोरोना मामलों में विस्फोटक वृद्धि होगी, लेकिन यह अपेक्षाकृत कम समय के लिए होगी। 

कैंब्रिज विश्वविद्यालय ने भारत में कोरोना की स्थिति पर लगातार नज़र रखने के लिए एक ट्रैकर तैयार किया है। इस इंडिया कोविड ट्रैकर के आधार पर ही यह बात कही गई है। 

प्रोफ़ेसर पॉल कट्टुमैन ने कहा, 

अगले कुछ दिनों में, शायद इसी हफ़्ते नया संक्रमण शुरू हो जाएगा। पर यह कहना मुश्किल है कि यह किस ऊँचाई तक जाएगा।


प्रोफ़ेसर पॉल कट्टुमैन, प्रमुख, इंडिया कोविड ट्रैकर, कैंब्रिज विश्वविद्यालय

कोरोना विस्फोट!

प्रोफ़ेसर पॉल कट्टुमैन, उनके सहयोगियों, शोधकर्ताओं और दूसरे लोगों ने गहन शोध के बाद चेतावनी दी है कि भारत में कोरोना संक्रमण बहुत ही तेज़ रफ़्तार से फैलेगा। 

उन्होंने 24 दिसंबर को यह भी कहा था कि छह राज्यों पर अधिक ध्यान देने की ज़रूरत होगी, जहाँ कोरोना पॉजिटिविटी रेट 5 प्रतिशत या उससे ज़्यादा होगी। लेकिन 27 दिसंबर को इन लोगों ने का कि ऐसे राज्यों की संख्या बढ कर 11 हो सकती है। 

omicron variant coronavirus explosion in india likely: india covid tracker - Satya Hindi

कैंब्रिज विश्वविद्यालय के इन विशेषज्ञों की चेतावनी भारत के लिए बेहद चिंताजनक और गंभीर इसलिए भी है इसके पहले इन लोगों ने मई और अगस्त में संक्रमण के तेज़ी से बढ़ने की चेतावनी दी थी और वह बिल्कुल सही साबित हुई थी। 

इसने यह भी कहा था कि भारत में कोरोना टीकाकरण होने से संक्रमण की रफ़्तार धीरे धीरे कम होती जाएगी। भारत ने अक्टूबर तक कोरोना की एक अरब खुराकें दे दी थीं और इसके बाद साथ ही कोरोना वायरस संक्रमण भी कम हो गया था। 

omicron variant coronavirus explosion in india likely: india covid tracker - Satya Hindi

44 फ़ीसदी की बढ़ोतरी

बता दें कि देश में कोरोना संक्रमण के मामले पिछले 24 घंटे में काफ़ी तेज़ी से बढ़े हैं। पॉजिटिव केसों में 44 फ़ीसदी की बढ़ोतरी हुई है। 

स्वास्थ्य विभाग ने बुधवार को कहा कि एक दिन में 9195 पॉजिटिव केस आए हैं। एक दिन पहले 24 घंटे में 6,358 मामले आए थे। ओमिक्रॉन के मामले भी अब क़रीब आठ सौ पहुँचने को हैं।  

डेल्टा वैरिएंट से भी कम से कम 3 गुना ज़्यादा तेज गति से फैलने वाले ओमिक्रॉन वैरिएंट के कुल मामले अब 781 हो गए हैं। यह संक्रमण देश के 21 राज्यों में फैल चुका है। एक दिन पहले ये मामले 653 थे।

omicron variant coronavirus explosion in india likely: india covid tracker - Satya Hindi

ओमिक्रॉन वैरिएंट

ओमिक्रॉन के सबसे ज़्यादा मामले दिल्ली में आए हैं और यहाँ 238 केस दर्ज किए गए हैं। दूसरे स्थान पर महाराष्ट्र है और वहाँ 167 मामले दर्ज किए गए हैं। गुजरात में 73, केरल में 65, तेलंगाना में 62, राजस्थान में 46, कर्नाटक में 34, तमिलनाडु में 34, हरियाणा में 12 व पश्चिम बंगाल में 11 मामलों की पुष्टि हुई है।

इसके अलावा मध्य प्रदेश, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, उत्तराखंड, चंडीगढ़, जम्मू कश्मीर, उत्तर प्रदेश, गोवा, हिमाचल प्रदेश, लद्दाख और मणिपुर में भी नये वैरिएंट के मामले सामने आए हैं। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें