loader
आरोपी दिनेश कुशवाहा एक कार्यक्रम में तलवार लहराते हुए

भवंरलाल जैन की हत्या के आरोपी बीजेपी नेता का ऐसा है चरित्र

मध्य प्रदेश के नीमच में बीजेपी नेता द्वारा मुस्लिम समझकर बेरहमीपूर्वक पीटने से जैन समुदाय के मंदबुद्धि बुजुर्ग की मौत के आरोपी बीजेपी नेता ने सरेंडर कर दिया। घटना सामने आने के बाद से फरार आरोपी के घर के सामने प्रशासन ने बुलडोज़र खड़ा कर दिया था। आरोपी झगड़ालू प्रवृत्ति और रंगदारी का आदी बताया गया है। आरोपी अपनी पत्नी (बीजेपी की पूर्व पार्षद)  से भी आये दिन विवाद किया करता था।नीमच के एसपी सूरज वर्मा ने ‘सत्य हिन्दी’ को बताया मामले के आरोपी दिनेश कुशवाहा ने शनिवार की शाम थाने पहुंचकर स्वयं को पुलिस के हवाले कर दिया है। वर्मा के अनुसार आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस छापामारी कर रही थी। आरोपी हाथ नहीं आ रहा था। आरोपी के परिजन भी हीला-हवाली कर रहे थे। इसके बाद प्रशासन ने शनिवार दोपहर को आरोपी के घर सामने जेसीबी मशीन खड़ी कर दी थी। आरोपी के निर्माण कार्यों की जांच आरंभ की गई थी। जांच के लिए घर के दस्तावेज लिए गए थे।
ख़ास ख़बरें
तमाम जांच-पड़ताल और चेतावनी के बाद आरोपी दिनेश शाम को पुलिस थाने पहुंच गया। स्वयं को पुलिस के हवाले कर दिया। उसने बुजुर्ग से मारपीट स्वीकार करना स्वीकार कर लिया है। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।एसपी वर्मा ने बताया कि आरोपी दिनेश कुशवाहा 18 मई की रात को करीब 11.30 बजे गुटखा लेने के लिए घर से निकला था। उसने ड्रिंक भी किया हुआ था। दुकानें खुली नहीं मिलीं। आरोपी को बुजुर्ग शख्स मिल गया। आरोपी अपराधी प्रवृत्ति का है। बुजुर्ग से उसने पूछताछ शुरू की। थप्पड़ लगाये। रास्ते से गुजर रहे एक लड़के को अपना फोन देकर वीडियो बनवाया। पिटाई के दौरान बुजुर्ग ठीक से बोल नहीं पा रहे थे।एसपी ने बताया बुजुर्ग शख्स से मो...मो कहा तो आरोपी ने उससे पूछा मोहम्मद? ठीक से आगे व्यक्त करने के पहले आरोपी ने बुजुर्ग को मारने का क्रम तेज कर दिया।
Such is the character of the BJP leader accused of Bhavarlal Jain's murder - Satya Hindi
भवंरलाल जैन को मुसलमान समझकर मार डाला गया। आरोपी बीजेपी का नेता है।

आरोपी दिनेश ने अगले दिन वीडियो दोस्त को भेजा। अन्य ग्रुप्स पर आगे बढ़ाया। इसके बाद वीडियो वायरल हो गया। वायरल वीडियो से ही मृत बुजुर्ग की पहचान हुई। हत्या सहित कई धाराओं में एफआईआर हुई।

पूर्व पार्षद पत्नी से भी करता था झगड़ा

एसपी वर्मा ने बताया आरोपी, बीजेपी की पूर्व पार्षद अपनी पत्नी बीना कुशवाहा से भी आये दिन विवाद करता था। यह खुलासा स्वयं बीना ने पुलिस द्वारा की गई छानबीन और पूछताछ में किया है। आरोपी का मोहल्ले और अन्य क्षेत्रों के लोगों से भी विवाद हुआ करता था। उसे नेतागिरी का शौक था। भाजयुमो में पदाधिकारी भी रहा। भीड़ जुटाना। पुलिस और प्रशासन में शिकायतें करना। जुलूस-जलसे निकालना भी उसकी प्रवृत्ति में शुमार था। हालांकि उसके खिलाफ पुलिस में कोई मामला-मुकदमा पहले कायम नहीं हुआ है।
Such is the character of the BJP leader accused of Bhavarlal Jain's murder - Satya Hindi
नीमच पुलिस के कब्जे में आरोपी दिनेश कुशवाहा
नीमच के काछी मोहल्ला में आरोपी का पुश्तैनी घर है। इस घर में वह अपने परिवार और भाई तथा मां के साथ रहता है। एक अन्य भाई दूसरी जगह पर रहता है। आरोपी के दो बच्चे हैं।

यह था पूरा घटनाक्रम

बता दें मनासा में 19 मई को एक वृद्ध का शव मिला था। पुलिस ने मर्ग कायम किया था। सड़क पर मृत मिले वृद्ध का एक वीडियो अगले दिन वायरल हुआ था। वायरल वीडियो में एक शख्स बेरहमी से पिटाई करता युवक नज़र आया था।वायरल वीडियो को देखकर रतलाम जिले की जावरा तहसील सरसी गांव निवासी राजेश जैन ने मृतक की पहचान की थी। मृतक रतलाम जिले की सबसे बुजुर्ग सरपंच पिस्ताबाई (85 वर्ष) का बेटा और राजेश का बड़ा भाई निकला था। पिस्ताबाई का पूरा परिवार 15 मई को राजस्थान के चित्तौडगढ़ में भेरूजी की पूजा के लिए गया था। यहीं से भंवरलाल जैन लापता हो गए थे। परिजनों ने उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

देश से और खबरें

पुलिस को रिपोर्ट का इंतजार

सवालों के जवाब में एसपी सूरज वर्मा ने बताया मृतक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट का पुलिस को इंतजार है। तीन डॉक्टरों के पैनल ने पीएम किया है। पीएम की वीडियो ग्राफी हुई है। मामला संवेदनशील है, इसलिए बारीकी के साथ रिपोर्ट बनाने के लिए डॉक्टरों ने कुछ वक्त मांगा है। सवालों के जवाब में एसपी ने कहा, ‘प्रथम दृष्टया भंवरलाल की मौत पिटाई से होना माना गया है। उनके शरीर पर चोटों के किसी तरह के निशान नहीं मिलने की बात भी एसपी ने कही है।’एसपी का कहना है, ‘पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही भंवरलाल की मौत का अंतिम निष्कर्ष निकल पायेगा। वे 15 मई से लापता हुए थे। उन्होंने कुछ खाया-पीया था अथवा नहीं? भीषण गर्मी की चपेट में तो नहीं आये थे? यह सब भी पीएम रिपोर्ट से स्पष्ट हो पायेगा।’
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

ग्रामीणों ने दिया अल्टीमेटम

मृतक भंवरलाल के गांव के लोगों ने आरोपी दिनेश के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से अनुरोध किया है कि एक निर्दोष और मानसिक रूप से बीमार बुजुर्ग पर कहर बरपाने वाले को कतई ना बख्शा जाये। भले ही वह बीजेपी से जुड़ा है, लेकिन उसे भी ऐसा सबक सिखाया जाये जो नजीर बने।दिनेश के घर को बुलडोज़र चलाकर धराशायी करने की मांग भी ग्रामवासी कर रहे हैं। ग्रामीणों ने चेताया है कि मंगलवार तक आरोपी का घर नहीं तोड़ा गया तो वे मनासा पहुंचकर प्रदर्शन करेंगे।उधर मनासा प्रशासन ने बताया है घर आरोपी के पिता के नाम है। वे अब नहीं हैं। आरोपी की मां घर की मालिक हैं। घर का बंटवारा नहीं हुआ है। घर बहुत पुराना है। इन सब वजह से ही प्रशासन बुलडोज़र चलाने की कार्रवाई नहीं कर पा रहा है।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें