loader

इस साल नेगेटिव रहेगी जीडीपी ग्रोथ: आरबीआई

रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया (आरबीआई) ने रेपो रेट में 0.4 फ़ीसदी की कटौती का एलान किया है। पहले रेपो रेट 4.4 फ़ीसदी था, जो अब 4 फ़ीसदी हो गया है। रिवर्स रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया गया है। आरबीआई ने कहा है कि इस साल जीडीपी ग्रोथ नेगेटिव रहेगी। आरबीआई ने ऋण स्थगन का समय 3 महीने और बढ़ा दिया है। 

आरबीआई गर्वनर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ़्रेंस में कहा कि दुनिया भर में हालात चिंताजनक बने हुए हैं और लॉकडाउन के कारण मांग में कटौती हुई है। दास ने कहा, ‘कोरोना के कारण अर्थव्यवस्था को नुक़सान हुआ है। मार्च में औद्योगिक उत्पादन में 17 फ़ीसदी की कमी आई है और इस बार महंगाई दर 4% से कम रहेगी।’ उन्होंने कहा कि हालांकि अनाज का उत्पादन बढ़ा है। दास ने कहा कि कोरोना के कारण सर्विस सेक्टर को भी नुक़सान हुआ है। 

ताज़ा ख़बरें
दास ने कहा कि अप्रैल में आयात 58 फ़ीसदी और निर्यात 60.3 फ़ीसदी गिरा है। उन्होंने कहा कि विश्व व्यापार संगठन के मुताबिक़ व्यापार में 13 से 32 फ़ीसदी की गिरावट आ सकती है। 
कोरोना संकट के कारण अर्थव्यवस्था की हालत बेहद ख़राब है और ऐसे समय में आरबीआई की ओर से राहत देने के लिए लगातार एलान किए जा रहे हैं। आरबीआई ने पिछले महीने म्युचुअल फंड की कंपनियों को 50 हज़ार करोड़ रुपये देने का भी फ़ैसला किया था। यह पैसा इन कंपनियों के सामने आ रहे नकदी संकट को दूर करने के लिए दिया गया। 

Satya Hindi Logo लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा! गोदी मीडिया के इस दौर में पत्रकारिता को राजनीति और कारपोरेट दबावों से मुक्त रखने के लिए 'सत्य हिन्दी' के साथ आइए। नीचे दी गयी कोई भी रक़म जो आप चुनना चाहें, उस पर क्लिक करें। यह पूरी तरह स्वैच्छिक है। आप द्वारा दी गयी राशि आपकी ओर से स्वैच्छिक सेवा शुल्क (Voluntary Service Fee) होगा, जिसकी जीएसटी रसीद हम आपको भेजेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

अर्थतंत्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें