loader
प्रतीकात्मक तसवीर।

जम्मू-कश्मीर: मेंढर-पुंछ में एलओसी पर सेना ने 13 आतंकवादियों को मार गिराया

भारतीय सेना ने जम्मू-कश्मीर के मेंढर-पुंछ इलाक़े में सोमवार को लाइन ऑफ़ कंट्रोल (एलओसी) पर 13 आतंकवादियों को मौत के घाट उतार दिया। ‘इंडिया टुडे’ के मुताबिक़, भारी हथियारों से लैस तीन आतंकवादियों को राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में सोमवार सुबह मार गिराया जबकि 10 अन्य को मेंढर में ढेर कर दिया गया।

सेना के एक अधिकारी ने ‘इंडिया टुडे’ को बताया कि बीती 28 मई से आतंकवादियों की घुसपैठ को रोकने के लिए सेना अभियान चला रही है और अब तक 13 मुठभेड़ हो चुकी हैं। सेना के अधिकारी ने कहा कि पुंछ जिले में कई जगहों पर तलाशी अभियान जारी है। 

ताज़ा ख़बरें
अधिकारियों ने कहा कि सोमवार को तड़के पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर की ओर से आतंकवादियों ने भारत की सीमा में घुसने की कोशिश की लेकिन कलाल गांव के पास तैनात सैनिकों ने उन्हें रोक दिया और ढेर कर दिया। 

पुलवामा पार्ट-2 की थी साज़िश 

कुछ दिन पहले जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में एक सफेद रंग की सेंट्रो कार में भारी मात्रा में विस्फोटक मिला था। जम्मू-कश्मीर के आईजी विजय कुमार ने कहा था कि आतंकवादियों की साज़िश पुलवामा के जैसा ही हमला करने की थी। लेकिन सेना, पुलिस, सीआरपीएफ़ ने मिलकर आतंकवादियों की साज़िश को नाकाम कर दिया था। उन्होंने कहा था कि आतंकवादियों का लक्ष्य किसी सुरक्षा बल की गाड़ी को निशाना बनाना था। 

जम्मू-कश्मीर से और ख़बरें
आईजी के मुताबिक़, आतंकवादी संगठन हिज़बुल मुजाहिदीन और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी मिलकर कश्मीर में आतंकवाद फैलाने की साज़िश रच रहे हैं। उन्होंने कहा था कि बीते कई महीनों में कई आतंकवादियों के लगातार मारे जाने के कारण ये संगठन बौखलाए हुए हैं।

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता प्रमाणपत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

जम्मू-कश्मीर से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें