loader

क्या सुप्रीम कोर्ट को भी ‘मैनेज’ कर लेंगे मोदी, अमित शाह?

क्या कर्नाटक की सरकार को गिराने के लिए मोदी, अमित शाह सुप्रीम कोर्ट को भी मैनेज कर सकते हैं, यह सवाल उस कथित ऑडियो टेप के लीक होने के बाद कांग्रेस ने पूछा है जिसे कल कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने जारी किया था। कांग्रेस के मुताबिक़, कथित ऑडियो टेप में इस बात को कहा जा रहा है कि सरकार गिरने के बाद मोदी और अमित शाह सुप्रीम कोर्ट के मामलों को ‘देख’ लेंगे। कांग्रेस ने पूछा है कि क्या प्रधानमंत्री और बीजेपी अध्यक्ष ने पूर्व मुख्यमंत्री येदियुरप्पा को ऐसा कोई आश्वासन दिया है? कांग्रेस ने यह भी पूछा कि क्या सुप्रीम कोर्ट बीजेपी की जेब की दुकान है?

हर विधायक को 10 करोड़ का ऑफ़र

कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने आज नई दिल्ली में आयोजित प्रेस कॉन्फ़्रेंस में कहा, कथित ऑडियो क्लिप में यह सुनाई दे रहा है कि कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा कांग्रेस के प्रत्येक विधायक को 10-10 करोड़ रुपये का ऑफ़र दे रहे हैं और वह 18 विधायकों को लेकर यह बातचीत कर रहे हैं।’ वेणुगोपाल ने कहा, यह पूरी रकम लगभग 200 करोड़ बैठती है। इसके अलावा वह 12 विधायकों को मंत्री पद का भी लालच दे रहे हैं। 

स्पीकर को देंगे 50 करोड़!

कांग्रेस के मुताबिक़, येदियुरप्पा विधानसभा के स्पीकर को भी कांग्रेस विधायकों को अयोग्य न ठहराने के लिए 50 करोड़ रुपये देने की बात कर रहे हैं। वेणुगोपाल ने कहा कि येदियुरप्पा विधायकों को इस्तीफ़ा देने के बाद फिर से चुनाव लड़ने के लिए ख़र्चे देने की भी बात कह रहे हैं। वेणुगोपाल ने कहा, कथित ऑडियो टेप से यह पता चलता है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कहने पर ही कर्नाटक की कुमारस्वामी सरकार को गिराने का काम हो रहा है।

यह काला धन है या सफ़ेद धन?

प्रेस कॉन्फ़्रेंस में मीडिया विभाग के प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पूछा कि यह 200 करोड़ की रकम काला धन है या सफ़ेद धन है। उन्होंने पूछा कि क्या यह वही काला धन है जिसकी चर्चा मोदी जी ने 24 घंटे पहले संसद में अपने भाषण में की थी। सुरजेवाला ने कहा कि मोदी संविधान की धज्जियाँ उड़ा रहे हैं। 

बीजेपी की कर्नाटक इकाई ने इस कथित ऑडियो टेप पर प्रतिक्रिया देते हुए इसे पूरी तरह झूठ बताया था और कहा था कि इसमें येदियुरप्पा की आवाज़ की नकल उतारने की कोशिश की गई है। 

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

कर्नाटक से और खबरें

ख़ास ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें