loader

तीसरे चरण में कई जगहों पर कड़ा मुक़ाबला, राहुल, शाह मैदान में 

लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के तहत 15 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की 117 लोकसभा सीटों पर मतदान जारी है। इस चरण में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी समेत कई सियासी दिग्गजों की प्रतिष्ठा दाँव पर है। अमित शाह जहाँ गुजरात की गाँधीनगर सीट से पहली बार लोकसभा का चुनाव लड़ रहे हैं, वहीं राहुल गाँधी अमेठी के साथ ही केरल की वायनाड लोकसभा सीट से भी चुनाव मैदान में हैं। अमेठी से लगातार तीन बार चुनाव जीत चुके राहुल पहली बार दो सीटों से एक साथ चुनाव लड़ रहे हैं।
ताज़ा ख़बरें
उत्तर प्रदेश की 10 सीटों पर होने वाले मतदान में समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव और पार्टी से अलग होकर अपना अलग सियासी वजूद बनाने की कोशिश में जुटे उनके भाई शिवपाल यादव के साथ ही उनके भतीजों धर्मेंद्र यादव और अक्षय यादव की सीट और साख़ दोनों दाँव पर है। रामपुर से सपा के सबसे बड़े मुसलिम चेहरे आज़म खान भी सियासी समर में उलझे हुए हैं। रामपुर से ही दो बार सपा से सांसद रह चुकीं फ़िल्म अदाकारा जया प्रदा इस बार बीजेपी के टिकट पर उन्हें चुनौती दे रही हैं। 
जया प्रदा पर भद्दी टिप्पणी को लेकर आज़म खान के ख़िलाफ़ चुनाव आयोग कार्रवाई कर चुका है। ऐसे में दोनों का मुक़ाबला काफी दिलचस्प रहने के आसार हैं।
तीसरे चरण में कुल 1612 उम्मीदवारों के भाग्य का फ़ैसला होना है। एसोसिएशन ऑफ़ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स यानि एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक़, तीसरे चरण में मतदान वालीं सीटों के इन उम्मीदवारों में से 570 पर आपराधिक मुक़दमे दर्ज हैं।
बीजेपी के 97 में से 38 और कांग्रेस के 90 में से 40 उम्मीदवारों पर आपराधिक मुक़दमे दर्ज हैं। सबसे ज़्यादा 242 मुक़दमे केरल की पथानामथिट्टा लोकसभा सीट से बीजेपी के उम्मीदवार सुरेंद्रन के खिलाफ़ दर्ज हैं।
इस चरण में तीन राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों की सभी लोकसभा सीटों पर वोट पड़ेंगे। इनमें गुजरात की 26, केरल की 20, गोवा की 2, दादरा नागर हवेली और दमन दीव की एक-एक सीट शामिल हैं। इनके अलावा असम की 4, बिहार की 5, छत्तीसगढ़ की 7, जम्मू-कश्मीर की 1, कर्नाटक की 14, महाराष्ट्र की 14, ओडिशा की 6, उत्तर प्रदेश की 10 और पश्चिम बंगाल की 5 सीटों पर वोटिंग होगी।
चुनाव 2019 से और ख़बरें

तीसरे चरण के मतदान के लिए चुनाव प्रचार रविवार शाम को ही थम चुका है। इस दौरान सभी  पार्टियों के बड़े नेताओं ने अपने उम्मीदवारों को जिताने के लिए पूरी ताक़त झोंक दी। चुनाव प्रचार के आख़िरी दिन जहाँ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने गृह राज्य के पाटण में जनसभा को संबोधित किया, वहीं बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने गाँधीनगर में रोड शो करके ख़ुद और पार्टी के लिए वोट माँगा। 

बीजेपी के सामने पिछले चुनाव की तरह इस बार भी गुजरात की सभी सीटें जीतने की चुनौती है। इसीलिए प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह ने प्रचार के आख़िरी दिन राज्य में पूरा जोर लगाया।

प्रतिष्ठा का सवाल बनी वायनाड सीट

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी ने केरल के वायनाड में रोड शो करके अपने भाई और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी के लिए वोट माँगे। राहुल पहली बार दक्षिण दक्षिण भारत की किसी सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। वायनाड से राहुल गाँधी के चुनाव लड़ने पर बीजेपी ने सवाल खड़े किए थे। ख़ुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि हिंदुओं के डर की वजह से ही राहुल ने ऐसी सीट चुनी है जहाँ देश के बहुसंख्यक अल्पमत में हैं। बीजेपी के कई और बड़े नेताओं ने भी इसी तरह के आरोप लगाए थे। लिहाज़ा यह सीट कांग्रेस के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बन गई है।  
इस चरण के लिए महाराष्ट्र में बीजेपी, शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने प्रचार अभियान में अपने-अपने उम्मीदवारों के लिए मतदाताओं का समर्थन माँगा। 23 अप्रैल को राज्य में क़रीब 249 उम्मीदवारों का भविष्य ईवीएम में क़ैद हो जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहमदनगर और माढ़ा लोकसभा क्षेत्रों में बीजेपी के लिए प्रचार किया, वहीं मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी विभिन्न क्षेत्रों में जनसभाओं को संबोधित किया। 
शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे, राकांपा अध्यक्ष शरद पवार, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अशोक चव्हाण समेत अनेक वरिष्ठ नेताओं ने जनसभाओं को संबोधित किया। इस चरण में जिन प्रमुख उम्मीदवारों का भविष्य तय होगा उनमें बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष रावसाहेब दानवे, राकांपा की सुप्रिया सुले, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल के पुत्र और अहमदनगर से बीजेपी के उम्मीदवार सुजय विखे पाटिल और स्वाभिमान पक्ष के राजू शेट्टी आदि शामिल हैं।
सम्बंधित खबरें
छत्तीसगढ़ की 7 सीटों पर भी तीसरे चरण में मतदान होगा। प्रचार के दौरान भ्रष्टाचार, ग़रीबी और किसानों के मुद्दों पर बीजेपी और कांग्रेस के बीच तीख़ी बहस देखने को मिली। राज्य की इन सात सीटों पर कुल 123 उम्मीदवार किस्मत आजमा रहे हैं। इनमें रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर, कोरबा, सरगुजा आदि शामिल हैं। तीसरे चरण के लिए राज्य में प्रधानमंत्री मोदी, बीजेपी अध्यक्ष शाह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रैलियां कीं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी, पार्टी नेता नवजोत सिंह सिद्धू और प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी प्रचार में शामिल हुए।
कर्नाटक में 14 लोकसभा सीटों के लिए मंगलवार को होने वाले मतदान में 237 उम्मीदवारों के भविष्य का फ़ैसला होगा। चुनाव प्रचार में बीजेपी और कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन के शीर्ष नेताओं ने कड़ी मेहनत की।
बीजेपी की ओर से प्रधानमंत्री मोदी, अमित शाह के अलावा केंद्रीय मंत्रियों निर्मला सीतारमण, स्मृति ईरानी और बीएस येदियुरप्पा समेत प्रदेश के कई नेताओं ने भी चुनाव प्रचार में हिस्सा लिया। वहीं कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की ओर से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, जेडीएस नेता और पूर्व प्रधानमंत्री एच.डी. देवगौड़ा, मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने प्रचार का जिम्मा संभाला।
यूसुफ़ अंसारी
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

चुनाव 2019 से और खबरें

ख़ास ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें