loader

राहुल बोले, सुप्रीम कोर्ट ने साफ़ कर दिया कि चौकीदार चोर है

अमेठी के लिए नामांकन भरने के साथ ही राहुल गाँधी ने रफ़ाल को लेकर प्रधानमंत्री पर निशाना साधा। रफ़ाल पर दायर की गयी पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम कोर्ट के आज के फ़ैसले को लेकर उत्साहित दिखे राहुल गाँधी पूरे रोड शो के दौरान ‘चौकीदार चोर है’ के नारों पर मुस्कुराते नज़र आए। राहुल ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने आज यह साफ़ कर दिया है कि चौकीदार चोर है। नामांकन पत्र दाख़िल करने के ठीक बाद मीडिया से बातचीत में राहुल गाँधी ने पीएम मोदी को भ्रष्टाचार पर बहस की चुनौती देते हुए कहा कि वह उनके साथ कहीं भी बैठने को तैयार हैं। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट को धन्यवाद देते हुए कहा कि देश की जनता को उसमें भरोसा है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी उनके साथ 15 मिनट डिबेट कर लें। रफ़ाल के सिवा राहुल गाँधी ने किसी और विषय पर कुछ नहीं कहा और बस अंबानी, जय शाह और मोदी को कटघरे में खड़ा करते रहे। उन्होंने कहा कि चौकीदार ने 30 हज़ार करोड़ की चोरी कर डाली।

ताज़ा ख़बरें

पिछले चुनाव में मोदी लहर के चलते कड़े संघर्षों में फँस कर जीते राहुल गाँधी के लिए आज अमेठी की सड़कों पर उमड़ी भीड़ राहत लेकर आयी थी। पहली बार दो जगहों से चुनाव लड़ने जा रहे राहुल गाँधी को मानो अमेठी पक्का करना चाहती थी कि भीड़ के मामले में वह वायनाड से कमज़ोर नहीं है। गौरीगंज से लेकर अमेठी कलेक्ट्रेट तक राहुल गाँधी के रोड शो ने लंबे समय से इस बार सीट पर स्मृति ईरानी के कड़ी टक्कर देने के कयासों को कुछ कमज़ोर भी किया। 

मोदी, अमित शाह के अमेठी में प्रचार और स्मृति ईरानी की लगातार मौजूदगी के बाद राहुल के वायनाड से भी परचा भर देने के बाद कहा जा रहा था कि एक बार फिर अमेठी में ज़ोरदार टक्कर होगी और कांग्रेस के लिए इस परंपरागत सीट को कब्ज़े में रख पाना बहुत आसान नहीं होगा। 
हाल के दिनों में प्रियंका के दो दिन के दौरे को छोड़ दें तो अमेठी में कांग्रेस का प्रचार स्मृति ईरानी के मुक़ाबले सुस्त दिख रहा था। कांग्रेस बुधवार को मुक़ाबले में लौटते हुए ज़ोरदार उपस्थिति दर्ज कराती दिखी।

समूचा गाँधी परिवार अमेठी में नज़र आया

अमेठी में बुधवार को सोनिया, प्रियंका, रॉबर्ट वाड्रा उनके दोनों बच्चों के साथ राहुल गाँधी सड़कों पर निकले और जनता को रफ़ाल के मामले में आज आए सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले की जानकारी दी। राहुल के साथ खुली गाड़ी पर प्रियंका गाँधी का बेटा-बेटी भी साथ चले और जनता का उत्साह बढ़ाते दिखे। राहुल के आज के रोड शो में उनके सामने प्रत्याशी न उतारने वाली सपा और बसपा के कुछ स्थानीय नेता भी शामिल रहे। अमेठी के आज के रोड शो में कांग्रेस ने आसपास के ज़िलों तक से लोगों को शामिल होने की सख़्त मनाही कर रखी थी। 

गाँधी परिवार और कुछ स्थानीय नेताओं के अलावा प्रदेश स्तर के नेताओं को भी पूरे शो में कहीं प्रमुखता नहीं मिली। ज्योतिरादित्य सिंधिया अलबत्ता पूरे समय राहुल के साथ नज़र आए।

चुनाव 2019 से और ख़बरें

'अमेठी हमारा घर, गाँधी परिवार रहेगा हमेशा'

नामांकन से पहले ही मंगलवार रात को अमेठी पहुँचे राहुल गाँधी ने घंटों स्थानीय नेताओं और कार्यकर्ताओं से मुलाक़ात की। राहुल ने सबके संशय को दूर करते हुए कहा कि भले ही वो दो जगहों से चुनाव लड़ने गए हैं पर यह कांग्रेस पार्टी को मज़बूती देने के लिए लिया गया फ़ैसला है। उन्होंने कहा कि गाँधी परिवार अमेठी का है और हमेशा यहीं रहेगा। उन्होंने कार्यकर्ताओं को आश्वस्त किया कि गाँधी परिवार के दरवाज़े हमेशा की तरह उन लोगों के लिए खुले हैं। जायस और तिलोई विधानसभा के लोगों से राहुल ने कहा कि अबकी जीत का अंतर बढ़ाने के लिए काम करें। 

प्रियंका ने कई बुजुर्ग कार्यकर्ताओं से कहा कि बचपन से दोनों भाई-बहन यहाँ खेलते हुए बड़े हुए और यहाँ ही बने रहेंगे। सोनिया गाँधी ने अस्वस्थता के बावजूद कुछ पुराने लोगों को पहचानते हुए उन्हें अपने पास बुलाया और मौजूदा चुनाव की जानकारी ली। सोनिया ने राहुल के रोड शो पर निकलने से पहले नामांकन पत्र ख़ुद पूरी तरह से पढ़ा और देखा।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
कुमार तथागत
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

चुनाव 2019 से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें