loader

बड़ा सवाल: गैंगस्टर विकास दुबे ने सरेंडर किया या उसकी गिरफ़्तारी हुई?

उत्तर प्रदेश के कानपुर में आठ पुलिस वालों को मौत के घाट उतारने वाले मोस्ट वांटेड गैंगस्टर विकास दुबे को उज्जैन में पकड़ लिया गया है। आरंभिक सूचना के अनुसार, उसने सरेंडर किया है हालांकि पुलिस गिरफ़्तारी का दावा कर रही है। मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने विकास की गिरफ्तारी की पुष्टि कर दी है।

बता दें, विकास दुबे पिछले सप्ताह तब देश और दुनिया भर में मीडिया की सुर्खी बना था जब कानपुर में उसे पकड़ने गए पुलिस दल पर उसने और उसके साथी बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं थीं। 

घटना के बाद से विकास फरार था। उसके हरियाणा के फरीदाबाद में होने की सूचना आई थी। पुलिस को वहां से चकमा देकर भागने की जानकारियां भी आई थीं। यूपी पुलिस ने पांच लाख रुपये का इनाम उस पर घोषित किया था। यूपी पुलिस सरगर्मी से विकास की तलाश कर रही थी।

ताज़ा ख़बरें

महाकाल के दर्शन किए!

गुरूवार सुबह विकास के मध्य प्रदेश के उज्जैन में महाकाल के दर्शन करने की सूचना भी रही। एक सूचना यह भी रही कि उसने मंदिर के बाहर से ही दर्शन किये। दर्शन करने के बाद पास की एक छोटी सी पुलिस चौकी में वह खुद पहुंचा और उसने पुलिस के सामने खुलासा किया कि वह यूपी का मोस्ट वांटेड गैंगस्टर विकास दुबे है तो चौकी में मौजूद पुलिस कर्मियों के हाथ-पैर फूल गये।

सूत्रों के अनुसार आला अफसरों को इसकी सूचना दी गई। सूचना लगते ही आला अफसर मौके पर पहुंचे और विकास को हिरासत में ले लिया। फिलहाल विकास को अज्ञात स्थान पर ले जाया गया है। यूपी पुलिस को इसकी सूचना दी गई। मध्य प्रदेश पुलिस विकास से पूछताछ कर रही है।

मध्य प्रदेश से और ख़बरें

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मीडिया से कहा, ‘विकास ने मंदिर में दर्शन किये अथवा नहीं, अभी साफ नहीं है। जघन्य अपराध करने वाले के बारे में अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। विकास दुबे को लेकर राज्य की पुलिस अलर्ट पर थी।’ इस मुद्दे पर देखिए, वरिष्ठ पत्रकार शीतल पी. सिंह का वीडियो - 

मप्र से कनेक्शन की सूचना थी

विकास दुबे के मध्य प्रदेश कनेक्शन से जुड़ी सूचनाएं आ रहीं थीं। उसका साला शहडोल में रहता है। यूपी पुलिस ने बुधवार दोपहर को उसे उठाया था। पूछताछ चल रही थी।

एक सूचना यह भी आयी कि महाकाल मंदिर में तैनात होमगार्ड के एक जवान ने सबसे पहले विकास दुबे को देखा। इसके बाद उसने पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने इसके बाद सक्रियता दिखाते हुए विकास को गिरफ्तार किया। 

उज्जैन के कलेक्टर आशीष सिंह ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई से कहा है कि विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर की ओर जा रहा था, तभी सुरक्षाकर्मियों ने उसे पहचान लिया। उन्होंने पुलिस को सूचना दी और पुलिस के दबाव बनाने पर विकास दुबे ने अपनी पहचान की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि पुलिस ने उसे पकड़ा है और पूछताछ जारी है। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
संजीव श्रीवास्तव
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

मध्य प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें