loader

मुंबई: मुकेश अंबानी के घर के पास कार में मिले विस्फोटक पदार्थ

मुंबई में आज तक हड़कंप मच गया जब देश के सबसे रईस इंसान और उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर एक संदिग्ध कार में विस्फोटक पदार्थ मिले। जहाँ कार पार्क की हुई थी वह जगह मुकेश अंबानी के घर से कुछ ही दूरी पर है। वह जगह हाई सिक्योरिटी क्षेत्र में आती है। 

बम को निष्क्रिय करने वाली टीम और मुंबई पुलिस मौक़े पर पहुँची और उस कार व उसमें भरे विस्फोटक पदार्थ को कब्जे में लिया। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने इस घटना की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि इस मामले की जाँच की जा रही है। 

ताज़ा ख़बरें

मुंबई पुलिस के प्रवक्ता डीसीपी चैतन्य एस ने कहा, 'कार्मिकल रोड पर आज शाम गामदेवी पुलिस स्टेशन क्षेत्र में एक संदिग्ध गाड़ी पायी गयी। पुलिस को अलर्ट किया गया। बम डिटेक्शन एंड डिस्पोजल स्क्वॉड टीम और अन्य पुलिस दल तुरंत मौक़े पर पहुँचे, वाहन की जाँच की और अंदर कुछ विस्फोटक सामग्री जिलेटिन पाया। इन्हें जोड़कर विस्फोटक उपकरण नहीं बनाया गया था। आगे की जाँच चल रही है।'

जो गाड़ी मिली है वह सिल्वर कलर की स्कॉर्पियो कार है। उसमें 20 जिलेटिन छड़ें बरामद हुई हैं। जिलेटिन एक विस्फोटक सामग्री है। जिलेटिन का उपयोग गिट्टी क्रशर पर चट्टानों को तोड़ने के लिए किया जाता है। पहाड़ों को तोड़ने के लिए भी विस्फोटक के तौर पर इसका इस्तेमाल किया जाता है। यह धीरे-धीरे जलता है और आमतौर पर बिना डेटोनेटर्स के विस्फोट नहीं कर सकता। 

घटना के बाद उस पूरे क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। गृह मंत्री अनिल देशमुख ने इस घटना पर बयान जारी कर कहा है कि इस मामले की जाँच क्राइम ब्रांच कर रही है। उन्होंने कहा कि इसकी जाँच में सचाई जल्द सामने आ जाएगी। 

मुंबई के संयुक्त पुलिस आयुक्त वी. एन पाटिल ने कहा कि जिस कार में जिलेटिन छड़ें मिलीं, उसका रजिस्ट्रेशन नंबर उसी तरह का है जैसा अंबानी के सुरक्षा में लगे एक वाहन का है। 'द इंडियन एक्सप्रेस' की रिपोर्ट के अनुसार, वाहन से एक ख़त भी बरामद किया गया है। हालाँकि, ख़त में क्या लिखा है, यह अभी तक सामने नहीं आ पाया है। 
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें