loader

कोरोना: महाराष्ट्र में आज से सख़्त पाबंदी, सिर्फ़ ज़रूरी सेवाओं की छूट

महाराष्ट्र में 15 दिनों के लिए आज से कर्फ्यू जैसी पाबंदी लगेगी। धारा 144 लागू की जा रही है। इस दौरान सिर्फ़ ज़रूरी सेवाएँ ही जारी रहेंगी। यह सख़्ती एक मई तक लागू रहेगी। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को कोरोना संक्रमण को लेकर बन रहे हालात पर राज्य के लोगों को संबोधित किया। ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र में कोरोना काबू से बाहर हो रहा है और उन्होंने कई लोगों से चर्चा की है लेकिन अब चर्चा का वक़्त निकल चुका है। 

ठाकरे ने कुछ कड़े क़दम उठाने का एलान किया। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए इस तरह के प्रतिबंध लगाने ही होंगे। उन्होंने कहा कि ये प्रतिबंध लॉकडाउन की ही तरह हैं और 14 अप्रैल की रात 8 बजे से अगले 15 दिन के लिए लागू होंगे। उन्होंने लोगों से सहयोग करने की अपील की। ठाकरे ने कहा, “पूरे राज्य में धारा 144 लागू की जा रही है, बिना ज़रूरत के आना-जाना बंद किया जा रहा है, अगर ज़रूरी काम नहीं है तो लोग घरों से बाहर नहीं निकलें और लोग इसका वचन दें। हमें कोरोना वॉरियर्स की मदद करनी है।” उन्होंने कहा कि कल रात से ब्रेक द चेन मुहिम शुरू की जाएगी।

ताज़ा ख़बरें

उन्होंने कहा, “दफ़्तर बंद रहेंगे। लोकल और बसों को बंद नहीं किया जा रहा है लेकिन ये सिर्फ़ अति आवश्यक सेवाओं में लगे लोगों के लिए ही चालू रहेंगी। नगर निगम के कर्मचारी और बाक़ी ज़रूरी सेवाओं में लगे कर्मचारी बाहर जा सकेंगे। ऑटो, टैक्सी भी चालू रहेंगी। बैंक, ई-कॉमर्स सेवाएं चालू रहेंगी।” उन्होंने कहा कि होटल और रेस्तरां में बैठकर खाना नहीं खा पाएंगे और होम डिलीवरी और टेक अवे की ही सुविधा मिलेगी। 

मुख्यमंत्री ने जोर देकर कहा कि हमें भीड़ इकट्ठी नहीं करनी है और अनावश्यक ट्रांसपोर्टेशन को भी रोकना है। राज्य सरकार 7 करोड़ लोगों को राशन की दुकानों से 3 किलो गेहूं और 2 किलो चावल एक महीने के लिए मुफ़्त देगी। 

महाराष्ट्र से और ख़बरें

मुख्यमंत्री ने कहा, “1200 मीट्रिक टन में से 950 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का इस्तेमाल कोरोना के मरीजों के लिए किया जा रहा है। बीच में रेमडिसवर की मांग कम हो गई थी लेकिन अब इसकी मांग फिर से बढ़ने लगी है। हमने केंद्र सरकार से मांग की है कि हमें ऑक्सीजन की ज़रूरत है। बाकी राज्यों से भी हम ऑक्सीजन मंगा रहे हैं।” 

शिव सेना प्रमुख की भी जिम्मेदारी संभाल रहे ठाकरे ने कहा, हम संक्रमित मरीजों और मौतों की संख्या नहीं छुपा रहे हैं और इसे लोगों के सामने रख रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने महाराष्ट्र में परीक्षाओं को बढ़ा दिया है। 

उन्होंने कहा, “हमारी केंद्र सरकार से मांग की है कि जीएसटी के रिटर्न फ़ाइल करने की तिथि तीन महीने तक बढ़ा दी जाए। कोरोना के कारण जिन लोगों के सामने आर्थिक संकट आ रहा है क्या उन्हें केंद्र सरकार से कोई मदद मिल सकती है।” 

ठाकरे ने कहा, “हमें टीकाकरण को बढ़ाना ही होगा। इस बार के हालात पिछली बार से अलग हैं और इस बार आरोग्य सुविधाएं कम पड़ रही हैं।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ऑक्सीजन, क्वारेंटीन, आइसोलेशन, आईसीयू के बेड्स बढ़ा रही है और प्रभावित इलाक़ों- पुणे, विदर्भ में भी सुविधाएं उपलब्ध करा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राजनीतिक दलों के लिए यह वक़्त राजनीति करने का नहीं है, हम सभी को एक साथ आकर लड़ना होगा। 

corona lockdown like situation in maharashtra as only essential activities for 15 days - Satya Hindi
ठाकरे ने कहा कि कार्ड होल्डर रिक्शा वालों को हम 1500 रुपये की सहायता देंगे। हम आदिवासियों को 2000 रुपये की आर्थिक मदद देंगे। रजिस्टर्ड फेरी वालों को भी आर्थिक मदद दी जाएगी। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें