loader

ड्रग्स केस: चार्जशीट फाइल, रिया-शौविक का भी नाम

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध मौत के बाद सामने आए ड्रग्स कनेक्शन केस में शुक्रवार को महाराष्ट्र की नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने मुंबई की सेशन कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है। बताया जा रहा है कि एनसीबी  ने चार्जशीट में 33 अभियुक्तों के नाम शामिल किए हैं। चार्जशीट में फ़िल्म अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शौविक चक्रवर्ती का नाम प्रमुख तौर पर शामिल किया है। 

ताज़ा ख़बरें

70 हजार पेज की चार्जशीट 

चार्जशीट करीब 70 हजार पेज की है जिसमें से 11 हजार 700 पन्नों में अभियुक्तों के बयान दर्ज किए गए हैं जबकि बाकी पेज में इलेक्ट्रॉनिक सबूतों को दिखाया गया है। सबूतों के तौर पर एनसीबी ने एक डीवीडी भी कोर्ट में पेश की है जिसमें अभियुक्तों के कॉल रिकॉर्ड, वॉट्सएप मैसेज और ड्रग्स के लेनदेन की जानकारी बताई गई है।

एनसीबी ने चार्जशीट में बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण, श्रद्धा कपूर और सारा अली खान के बयान को भी शामिल किया है। एनसीबी के एक अधिकारी ने बताया कि इस चार्जशीट में इन सभी अभिनेत्रियों को अभियुक्त नहीं बनाया गया है। इन सभी के बयान सिर्फ चार्जशीट में लिए गए हैं। 

महाराष्ट्र से और ख़बरें

इस मामले में सुशांत की गर्लफ्रेंड रहीं रिया चक्रवर्ती सहित उसके भाई शौविक चक्रवर्ती, नौकर, मैनेजर, ड्रग्स पैडलर सहित 33 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया था। इन सभी अभियुक्तों से जब्त की गई ड्रग्स, इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों और तमाम गवाहों के बयान को इस चार्जशीट में आधार बनाया गया है।

33 अभियुक्तों की लिस्ट में रिया चक्रवर्ती, शौविक चक्रवर्ती, सैमुअल मिरांडा, जैद वैलात्रा, बासित परिहार, सूर्यदीप मल्होत्रा, कैजान इब्राहिम, अब्बास लखानी, करण अरोड़ा और गौरव आर्या के नाम शामिल किए गए हैं। 

एनसीबी के एक आला अधिकारी का कहना है कि ड्रग्स मामले की जांच अभी भी चल रही है इसलिए अगर जरूरत पड़ी तो इस पूरे मामले में एक सप्लीमेंट्री चार्जशीट भी फ़ाइल की जाएगी।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सोमदत्त शर्मा
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें