loader

कैबिनेट की बैठक में नहीं आए 8 मंत्री, शिवसेना विधायकों की बैठक शाम को

महाराष्ट्र में तेजी से बदल रहे सियासी माहौल के बीच बुधवार को उद्धव ठाकरे कैबिनेट की बैठक हुई। इसमें शिवसेना के 8 मंत्री शामिल नहीं हुए। माना जा रहा है कि यह सभी मंत्री गुवाहाटी में हैं। 

दूसरी ओर, महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के साथ ही मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे भी कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। ऐसे में राज्य में चल रहा सियासी संकट कैसे खत्म होगा यह एक बड़ा सवाल बन गया है। 

कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे इस बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए। जो मंत्री कैबिनेट की बैठक में शामिल नहीं हुए, उनके नाम एकनाथ शिंदे, गुलाबराव पाटिल, दादा भुसे, संदीपन भुमरे, अब्दुल सत्तार, शंभूराज देसाई, बच्चू कडू और राजेंद्र येद्रावकर शामिल हैं। 

Maharashtra Political crisis Shiv Sena issued whip to MLAs - Satya Hindi

शिवसेना ने अपने सभी विधायकों को व्हिप जारी कर कहा है कि सभी विधायक बुधवार शाम को 5 बजे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के आवास वर्षा पर पहुंचें। शिवसेना नेता सुनील प्रभु की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि शिवसेना के जो विधायक बैठक में नहीं आएंगे उनके बारे में यह समझा जायेगा कि वे पार्टी छोड़ना चाहते हैं और इस वजह से कानून के मुताबिक उनके खिलाफ उन्हें अयोग्य घोषित करने की कार्रवाई की जाएगी।

एकनाथ शिंदे ने कहा है कि उनके पास शिवसेना के 40 और निर्दलीय विधायक मिलाकर कुल 46 विधायकों का समर्थन है। लेकिन कांग्रेस नेता कमलनाथ ने एकनाथ शिंदे के दावे को खारिज कर दिया है।

Maharashtra Political crisis Shiv Sena issued whip to MLAs - Satya Hindi

शिवसेना के पास 55 विधायक हैं। अगर एकनाथ शिंदे शिवसेना के 37 विधायक तोड़ लेते हैं तो उन पर दल बदल कानून लागू नहीं होगा। ऐसी सूरत में यह विधायक अपनी अलग पार्टी बना सकते हैं। तब महा विकास आघाडी सरकार का गिरना पूरी तरह तय हो जाएगा।

महाराष्ट्र से और खबरें

भंग होगी विधानसभा?

महाराष्ट्र में हर पल सियासी समीकरण बदलते जा रहे हैं। एक ओर जहां शिवसेना के बागी विधायक सूरत से गुवाहाटी चले गए हैं। वहीं, दूसरी ओर शिवसेना सांसद और प्रवक्ता संजय राउत ने महाराष्ट्र में चल रही अनिश्चितता को और बढ़ा दिया है। राउत ने ट्वीट कर कहा है कि महाराष्ट्र में जिस तरह का राजनीतिक संकट चल रहा है वह विधानसभा भंग होने की ओर ले जा रहा है। 

इससे साफ हो गया है कि शिवसेना ने बागी विधायक एकनाथ शिंदे के सामने हथियार डाल दिए हैं और अब महाराष्ट्र की विधानसभा भंग हो सकती है। राजनीतिक पंडित राउत के इस ट्वीट का सिर्फ एक ही मतलब निकाल रहे हैं कि महाराष्ट्र में महा विकास आघाडी सरकार अब खत्म होने की दिशा में है। 

दूसरी ओर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे और राज्य के पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे ने अपने टि्वटर हैंडल के बायो से मंत्री होने का जिक्र हटा दिया है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें