loader
विधानसभा में शिवसेना के बागी विधायक

महाराष्ट्रः शिंदे पहला टेस्ट पास, राहुल नार्वेकर बने विधानसभा अध्यक्ष

Shinde passes first test, Rahul Narvekar becomes Speaker of Assembly - Satya Hindi
राहुल नार्वेकर महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष चुने गए
बीजेपी औऱ शिवसेना बागी गुट के प्रत्याशी राहुल नार्वेकर विधानसभा अध्यक्ष बन गए हैं। हालांकि उनके नाम का औपचारिक ऐलान बाकी है। उन्हें 164 वोट मिले हैं। हालांकि राहुल नार्वेकर को जीतने के लिए 145 वोट चाहिए थे। नार्वेकर के विरोध में 107 वोट पड़े। इस तरह शिवसेना के बागी गुट के नेता और मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने अपना पहला टेस्ट पास कर लिया है। उनका अगला टेस्ट सोमवार को फिर विधानसभा में है, जहां उन्हें बहुमत हासिल करना है।
मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस राज्य विधानसभा में वोट डालने वाले अन्य विधायकों में शामिल थे। हालांकि, समाजवादी पार्टी (सपा) ने बीजेपी उम्मीदवार नार्वेकर के खिलाफ मतदान से परहेज किया। उसके दोनों विधायक अबू आजमी और रईस शेख मतगणना के दौरान बैठे रहे। कांग्रेस के नाना पटोले के इस्तीफा देने के बाद पिछले साल फरवरी से अध्यक्ष का पद खाली था। उपाध्यक्ष नरहरि जिरवाल अध्यक्ष के रूप में कार्य कर रहे थे।

Shinde passes first test, Rahul Narvekar becomes Speaker of Assembly - Satya Hindi
एकनाथ शिंदे रविवार को विधानसभा में स्पीकर के नाम का प्रस्ताव पेश करते हुए।
मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में शिवसेना के बागी विधायक फाइव स्टार होटल से निकलकर रविवार सुबह विधानसभा पहुंचे। विधानसभा में रविवार को स्पीकर का चुनाव हुआ। इससे पहले दोनों गुटों ने अपने-अपने विधायकों को व्हिप जारी कर दिया था। बागी विधायक अभी दो दिन इसी होटल में रहेंगे। उन्हें घर जाने की अनुमति नहीं है। सदन में सोमवार को विश्वास मत हासिल होने के बाद ही घर जा सकेंगे।
बीजेपी के विधायक अपने नेता देवेंद्र फडणवीस के साथ विधानसभा में पहुंचे थे। बीजेपी ने अपने विधायकों की रात में बैठक की थी। फडणवीस इस मिली जुली सरकार में डिप्टी सीएम हैं। शिवसेना के बागी विधायकों ने बीजेपी से गठबंधन की मांग करते हुए शिवसेना से अलग होने की घोषणा कर दी लेकिन बाला साहेब ठाकरे का मोह अभी भी नहीं छोड़ा है। 
ताजा ख़बरें

रविवार सुबह बीजेपी नेता सुधीर मुनगंटीवार ने बताया था कि स्पीकर पद के लिए बीजेपी उम्मीदवार राहुल नार्वेकर के नाम का प्रस्ताव होगा। पहले ध्वनि मत होगा। अगर कोई वोटों के बंटवारे की मांग करता है तो वह किया जाएगा और निर्वाचित अध्यक्ष कार्यभार संभालेंगे। हमें उम्मीद है कि हमारे उम्मीदवार को 165-170 वोट मिलेंगे। 

उन्होंने कहा कि अध्यक्ष के चुनाव में कोई व्हिप लागू नहीं होता है इसलिए मैं सभी सदस्यों से अपने विवेक के अनुसार मतदान करने की अपील करता हूं। बालासाहेब ठाकरे की विचारधारा की शिवसेना ने व्हिप दिया है और उद्धव ठाकरे के गुट ने भी। बालासाहेब की शिवसेना के साथ हमारा गठबंधन है। 

दफ्तर सील 

विधानसभा में शिवसेना लेजिस्लेटिव पार्टी का दफ्तर सील कर दिया गया है। बागी गुट ने आदित्य ठाकरे समेत शिवसेना के सभी विधायकों को व्हिप जारी कर दिया है। उद्धव के नेतृत्व वाली शिवसेना ने भी व्हिप जारी किया है। देखना है कि किस व्हिप को मान्यता मिलती है और अंत में अदालत क्या फैसला सुनाती है।  

हमने सील किया दफ्तरः आदित्य

हमने विधानसभा में शिवसेना विधायक दल का कार्यालय बंद कर दिया है। हमें सदन में एक साथ जाना है, कार्यालय की चाबियां हमारे पास हैं। उन्होंने हमारे कुछ विधायकों को बंद रखा था। ऑफिस में ताला लगा दिया तो क्या बड़ी बात। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें