loader

महाराष्ट्र का यू-टर्न, सोमवार से मुंबई से होंगी 25 उड़ानें

महाराष्ट्र सरकार ने घरेलू उड़ानों की अनुमति देने के मुद्दे पर यू-टर्न लेते हुए एलान किया है कि सोमवार से रोज़ाना मुंबई से 25 उड़ानें शुरू की जाएंगी। 
महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक ने एनडीटीवी से कहा, 'मैंने मुख्य सचिव से बात की है। सभी संबंधित एजेन्सियों से बात करने के बाद यह फ़ैसला किया गया है कि रोज़ाना मुंबई से 25 उड़ानें शुरू की जाएं। यह संख्या धीरे-धीरे बढाई जाएगी।'
इसके पहले नवाब मलिक ने केंद्र सरकार की आलोचना करते हुए कहा था कि नरेंद्र मोदी सरकार बग़ैर किसी से सलाह मशविरा किए फ़ैसले पर फ़ैसले करती जा रही है। 
महाराष्ट्र से और खबरें

क्या कहा था मुख्यमंत्री ने?

इसके भी पहले रविवार को ही मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा था कि महाराष्ट्र फ़िलहाल उड़ानों के लिए तैयार नहीं है।
उद्धव ठाकरे ने कहा था, ‘मैंने विमानन मंत्री से बात की है, मैं इस क्षेत्र को खोलने की ज़रूरत समझता हूं, पर इसकी तैयारी के लिये अभी हमें और समय चाहिए।’

महाराष्ट्र के अलावा पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु ने भी उड़ानें शुरू करने का विरोध किया था, पर अब राजी हो गए हैं। पश्चिम बंगाल के कोलकाता और तमिलनाडु के चेन्नई को बड़ा और व्यस्त हवाई अड्डा माना जाता है। पश्चिम बंगाल चक्रवाती तूफान अंपन से तबाह हो चुका है। महाराष्ट्र के बाद सबसे ज़्यादा कोरोना मामले तमिलनाडु में ही मिले हैं। 

अब पश्चिम बंगाल भी उड़ानें शुरू करने पर राज़ी हो गया है। कोलकाता में 28 मई से उड़ानें शुरू की जाएँगी। महाराष्ट्र की तरह तमिलनाडु भी कम उड़ानों से शुरुआत करने पर सहमत हो गया है।

बता दें कि देश में 24 घंटे में 6767 पॉजिटिव केस आए, 147 लोगों की मौत हुई है। देश भर में 1 लाख 31 हज़ार 868 पॉजिटिव मामले, 3867 लोगों की मौत हुई। देश भर में 54 हज़ार लोग ठीक हो चुके हैं, फ़िलहाल 73 हज़ार 560 संक्रमित हैं। महाराष्ट्र में 47 हज़ार 190 पॉजिटिव केस आए, 1577 लोगों की मौत हुई है। तमिलनाडु में 15 हज़ार 512 संक्रमण के मामले, 103 लोगों की मौत हुई।

  

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें