loader
रुझान / नतीजे चुनाव 2022

हिमाचल प्रदेश 68 / 68

बीजेपी
28
कांग्रेस
37
अन्य
3

गुजरात 182 / 182

बीजेपी
155
कांग्रेस
17
आप
6
अन्य
4

चुनाव में दिग्गज

अंबानी मामला: NIA ने एंटीलिया के बाहर रीक्रिएट किया क्राइम सीन

मुकेश अंबानी एंटीलिया कार विस्फ़ोटक मामले में नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी यानी एनआईए की जांच जारी है। शुक्रवार की रात को एनआईए ने मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर क्राइम सीन रीक्रिएट किया। सबसे पहले पूरे इलाके में लोगों और वाहनों की आवाजाही को बंद कर दिया गया। 

इस दौरान सचिन वाजे को ढीले कुर्ते में मौके पर चलवाया गया। एनआईए ने पहले सड़क पर एक निशान बनाया फिर वहां से सचिन वाजे को चलने के लिए कहा। जिस समय एनआईए क्राइम सीन रीक्रिएट कर रही थी, वहां एनआईए के आईजी भी मौजूद थे। 

ताज़ा ख़बरें

एनआईए ने इस पूरे रीक्रिएशन की वीडियो रिकॉर्डिंग भी कराई है। क्राइम सीन रीक्रिएशन के दौरान वहां पर सीएफएसएल की टीमें भी मौजूद थीं। स्कॉर्पियो में विस्फोटक रखने की जगह पर जांच की गई है और सचिन वाजे से सवाल जवाब भी किये गये। जांच के दौरान एंटीलिया के आसपास बैरिकेडिंग कर दी गई थी। 

क्राइम सीन रीक्रिएशन के दौरान एनआईए के अफसरों ने घटना वाले इलाके को चारों तरफ से घेर लिया और क्राइम सीन को रीक्रिएट किया। एनआईए के अधिकारियों ने पहले एंटीलिया के पास जाकर उस इलाके का दौरा किया जहां स्कॉर्पियो में विस्फोटक रखा गया था। उसके बाद सचिन वाजे को मौके पर बुलाया गया और ढीला कुर्ता पहनाकर चलवाया गया।

mukesh ambani explosive car case NIA recreated crime scene - Satya Hindi
सचिन वाजे को ढीला कुर्ता इसलिए पहनाया गया था क्योंकि 25 फरवरी की रात को सचिन वाजे ने जब विस्फ़ोटक से भरी स्कॉर्पियो कार को एंटीलिया के पास पार्किंग में लगाया था तो उसके कुछ देर बाद सचिन वाजे अपनी पहचान छिपाने के लिए ढीला कुर्ता पहनकर और सिर पर रुमाल रखकर उस स्कॉर्पियो का मुआयना करने के लिए आया था। 

सचिन वाजे की यह हरकत उस समय सीसीटीवी में कैद हो गई थी। अब एनआईए उसी सीसीटीवी फुटेज के आधार पर सचिन वाजे की बॉडी लैंग्वेज का मिलान करना चाहती है। यही कारण है कि एनआईए ने एंटीलिया के बाहर क्राइम सीन का रीक्रिएशन किया।

सहयोग न करने का आरोप

इससे पहले, एंटीलिया केस में एनआईए ने स्पेशल कोर्ट में दावा किया था कि सचिन वाजे जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं। एनआईए ने कहा कि कोर्ट ने आदेश दिया था कि जब भी वाजे से पूछताछ हो तो उनके वकील वाजे के साथ मौजूद रहें, लेकिन उनके वकील पूछताछ के दौरान नहीं आ रहे हैं। यही कारण है कि वाजे से पूछताछ नहीं हो पा रही है।

महाराष्ट्र से और ख़बरें

शुक्रवार शाम को एनआईए की एक टीम ने मुंबई पुलिस कमिश्नर से भी मुलाकात की। इस दौरान एनआईए ने कमिश्नर से जांच में सहयोग करने की मांग की। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि मनसुख हिरेन केस की जांच भी एनआईए कर सकती है। 

अभी मनसुख मौत मामले की जांच महाराष्ट्र एटीएस कर रही है। एटीएस ने अब तक इस मामले में करीब 25 लोगों से पूछताछ की है, इनमें से एक प्रमुख नाम मुंबई क्राइम ब्रांच की कांदिवली यूनिट के सीनियर इंस्पेक्टर सुनील माने का भी है।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सोमदत्त शर्मा
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें