loader

उद्धव ने की शिंदे से बात, बागी नेताओं से मिले पार्टी के नेता

महाराष्ट्र में उठे सियासी तूफ़ान को शांत कराने में पूरी शिवसेना जुट गई है। एक रिपोर्ट के अनुसार राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पार्टी से बाग़ी हुए एकनाथ शिंदे से फ़ोन पर बातचीत की है। इससे पहले ख़बर आई थी कि शिवसेना के दो नेताओं ने गुजरात के एक होटल में ठहरे बाग़ी नेताओं से मुलाक़ात की थी।

शिंदे अब गुजरात के सूरत में एक रिसॉर्ट में शरण लिए हुए हैं। शिवसेना के दो नेताओं ने नाराज शिंदे से मंगलवार शाम को होटल में दो घंटे तक मुलाक़ात की। एकनाथ शिंदे और अन्य विधायकों से मिलने और उन्हें शांत करने के लिए सूरत पहुँचे शिवसेना नेता मिलिंद नार्वेकर और रवींद्र फाटक पार्टी विधायकों से मिलने के बाद वापस चले गए। 

ताज़ा ख़बरें

शिंदे जिस जी-22 का नेतृत्व कर रहे हैं, वे बीजेपी द्वारा शासित राज्य में ठहरे हैं। इससे तो यह साफ़ है ही कि बागियों के परदे के पीछे कौन है, महाराष्ट्र में बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने भी कह दिया है कि पार्टी शिंदे के साथ सरकार बनाने के लिए तैयार है। सूत्रों के अनुसार शिंदे ने भी साफ़ कर दिया है कि शिवसेना को बीजेपी के साथ सरकार बनानी चाहिए। 

सूत्रों के अनुसार एकनाथ शिंदे ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को तीन सूत्रीय प्रस्ताव भेजा है। इस प्रस्ताव में एकनाथ शिंदे ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मांग की है और पहली शर्त रखी है कि बीजेपी के साथ सरकार बनाई जाए। दूसरी शर्त में कहा है कि देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री बनाया जाए और तीसरी शर्त में खुद एकनाथ शिंदे ने अपने आप को उपमुख्यमंत्री बनाने का प्रस्ताव महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को भेजा है। 

बता दें कि आज दिन में शिवसेना सांसद और प्रवक्ता संजय राउत ने पत्रकारों से बातचीत में कहा था कि शिवसेना की तरफ़ से सूरत में मौजूद विधायकों से संपर्क करने की कोशिश की जा रही है। इसके अलावा संजय राउत ने यह भी कहा था कि एकनाथ शिंदे से उनकी बात हुई है। इसी बीच एकनाथ शिंदे ने अपने भरोसेमंद साथी और विधायक संजय राठौड़ के ज़रिये 3 सूत्रीय फ़ॉर्मूला ठाकरे के पास भेजा है।
महाराष्ट्र से और ख़बरें

तीन सूत्रीय फ़ॉर्मूले के साथ ही इस प्रस्ताव में एक और बात का ज़िक्र किया गया है कि जितने भी शिवसेना के विधायकों ने शिवसेना से बगावत की है उन सभी पर भविष्य में कोई कार्रवाई ना की जाए।

एकनाथ शिंदे द्वारा भेजे गए तीन सूत्रीय फार्मूले के बाद अभी तक शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कोई फैसला नहीं लिया है। शिवसेना के नज़दीकी सूत्रों के अनुसार शिंदे द्वारा दिए गए 3 सूत्रीय प्रस्ताव पर पहले शिवसेना के बड़े नेताओं के साथ बैठकर बातचीत की जाएगी उसके बाद ही कोई फ़ैसला होगा।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें