loader

कासगंज में 'परिवारवादी अखिलेश' पर हमला, मोदी ने 'रामभक्त लता' का नाम भी भुनाया

प्रधानमंत्री मोदी ने आज कासगंज के पटियाली में प्रसिद्ध गायिका लता मंगेशकर का नाम भुनाने की कोशिश की। उन्होंने सपा प्रमुख अखिलेश यादव के कथित परिवारवाद पर भी हमला बोला।नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि विधानसभा चुनाव के पहले चरण में बीजेपी के समर्थन ने 'परिवारवादी' को उदास कर दिया है। पीएम मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में पहले चरण के मतदान के बाद बीजेपी का झंडा ऊंचा उड़ रहा है, इससे प्रतिद्वंद्वियों को निराशा हुई है। उन्होंने कहा, “कल दोपहर के बाद आए तमाम इंटरव्यू में विपक्षी नेताओं के चेहरे निराश दिखे। परिवारवादी ने महसूस किया है कि उनकी नाव डूब गई है और इसलिए उन्होंने ईवीएम और चुनाव आयोग को दोष देना शुरू कर दिया है।  मोदी ने कहा - 

मोदी और योगी जी को आप जो आशीर्वाद और प्यार दे रहे हैं, उसने इन परिवार वालों को बेचैन कर दिया है। उन्होंने आपको जाति के नाम पर बांटने और अलग करने की कोशिश की, लेकिन ये लोग असफल रहे।


- नरेंद्र मोदी, पीएम, शुक्रवार को कासगंज रैली में

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सच तो यह है कि यूपी की जनता उन्हें और उनके 'गुंडा राज' को मानने को तैयार नहीं है। उन्होंने विपक्षी दलों पर उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अपराधियों को खड़ा करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, 'इन अपराधियों और गुंडों को हराने के लिए आपको एकजुट होकर बीजेपी उम्मीदवारों को वोट देना होगा। अपराधियों को कभी भी आप से बदला लेने का मौका न दें। प्रधानमंत्री मोदी ने भ्रष्टाचार मुक्त सरकार चलाने और उत्तर प्रदेश को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की भी सराहना की।

ताजा ख़बरें
प्रधानमंत्री ने कहा “आज आपके पास एक ऐसा मुख्यमंत्री है जिस पर विरोधियों ने भी कभी भ्रष्टाचार का आरोप लगाने की कोशिश नहीं की। यूपी के लोग यहां के मुख्यमंत्रियों पर लगे आरोपों को अच्छी तरह से जानते हैं। योगी ने यूपी में जो सुरक्षा माहौल दिया है, उससे समृद्धि के नए दरवाजे खुल गए हैं। योगी ने ऐसा माहौल दिया है जिसमें समाज के हर वर्ग को मेहनत कर तरक्की करनी चाहिए।

मतदाताओं तक पहुँचते हुए, प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बीजेपी के पक्ष में डाला गया हर वोट उत्तर प्रदेश की तस्वीर बदल देगा। प्रधान मंत्री मोदी ने दावा किया कि जिन पार्टियों ने पहले उत्तर प्रदेश पर शासन किया था, उन्होंने कभी भी गरीबों और दलितों की परवाह नहीं की। मोदी ने कहा -

इन परिवारवादियों ने अपने घर और तिजोरी भर दी लेकिन गरीबों की कभी परवाह नहीं की। ये लोग न तो गरीबों के जीवन को पहले आसान बनाना चाहते थे और न ही अब चाहते हैं।


-पीएम मोदी, शुक्रवार को कासगंज में

उन्होंने कहा, "ये अफवाह फैलाने वाले पूरी कोशिश कर रहे थे कि गरीब परिवारों को मुफ्त में कोरोना का टीका न दिया जाए, लेकिन गरीबों की सरकार ने उन्हें सफल नहीं होने दिया।" मोदी ने कहा, “मैं यूपी के लोगों को भी सावधान करना चाहता हूं। ये परिवार के सदस्य इस समय इतने गुस्से में हैं कि सबसे पहले गरीबों के लिए सभी योजनाओं को बंद करने की ठान ली है। इसलिए, ऐसे लोगों को कभी मौका न दें।” प्रधानमंत्री ने अयोध्या में एक चौक का नाम दिवंगत गायिका लता मंगेशकर के नाम पर रखने के निर्णय पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को बधाई दी। सीएम ने कहा- 

अयोध्या में एक चौक का नाम लता मंगेशकर जी के नाम पर रखा जाएगा, जिनका पैतृक निवास गोवा में है और जो राम भक्त हैं। यह भारत की एकता है।


-पीएम मोदी, कासगंज रैली में शुक्रवार को

उन्होंने कहा, "मैं मुख्यमंत्री योगी जी को फिल्म सिटी में संगीत के लिए लता मंगेशकर अकादमी स्थापित करने के निर्णय पर बधाई देता हूं।" उत्तर प्रदेश में पहले चरण के मतदान के साथ पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान शुरू होने के एक दिन बाद प्रधानमंत्री की यह टिप्पणी आई है। इससे पहले गुरुवार शाम को उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए वोट डाले गए थे।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

राजनीति से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें