loader

पुलवामा से भी बड़ा हमला कर सकता है जैश, ख़ुफ़िया जानकारी मिली

आतंकवादी संगठन जैश-ए-मुहम्मद कश्मीर में भारतीय जवानों के काफिलों पर पुलवामा से भी बड़े हमले करने की योजना बना रहा है। भारत की ख़ुफ़िया एजेन्सियों को मिली जानकारी के अनुसार, अगले दो दिनों में सेना पर हमला हो सकता है। खु़फ़िया एजेन्सियों ने सुरक्षा बलों को इस बारे में जानकारी दे दी है। 

  • ख़ुफ़िया इनपुट्स के अनुसार, आतंकी चौकीबल और तंगधार के रास्तों पर आईईडी विस्फ़ोट कर सकते हैं। यह जानकारी भी मिली है कि एक आतंकी संगठन ने आत्मघाती हमले को अंजाम देने के लिए हरी स्कॉर्पियो तैयार की है। 

'500 किग्रा के धमाके के लिए तैयार रहो'

ख़ुफ़िया एजेंसियों ने एक सोशल मीडिया ग्रुप को भेजा गया एक संदेश इंटरसेप्ट किया है। संदेश में लिखा है, 'पिछले हफ़्ते हुआ 200 किग्रा का धमाका सिर्फ़ एक खिलौना था और अब 500 किग्रा के धमाके के लिए तैयार हो जाओ।' संदेश में और आतंकी हमलों की चेतावनी देते हुए सुरक्षा बलों से कश्मीरियों को निशाना न बनाने की बात कही गई है। यह सोशल मीडिया ग्रुप जैश-ए-मुहम्मद से संबंधित है। 

  • संदेश में लिखा है, ‘यह लड़ाई तुम्हारे और हमारे बीच है। आओ और लड़ो, हम पूरी तरह तैयार हैं।’ संदेश में यह भी लिखा है कि पुलवामा हमला सिर्फ़ शुरुआत है। 

घुसपैठ को तैयार हैं आतंकी 

ख़ुफ़िया विभाग ने जानकारी दी है कि सीमा पार से आतंकियों की घुसपैठ का भी ख़तरा है। ये आतंकी कश्मीर में हमलों को अंजाम देने के लिए स्थानीय कश्मीरी युवाओं का साथ लेने के इरादे से घुसपैठ कर सकते हैं। इनपुट के अनुसार, 5 से 6 आतंकियों का एक ग्रुप घुसपैठ के लिए तैयार है और गुरेज सेक्टर के आसपास अपने आकाओं से मंजूरी मिलने का इंतज़ार कर रहा है। 

बता दें कि पुलवामा के अवंतीपोरा में कुछ दिन पहले जैश के आतंकी आदिल अहमद डार ने जवानों के काफिले के एक वाहन को विस्फोटकों से भरी गाड़ी से टक्कर मार दी थी। इस हमले में 40 से ज़्यादा जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद भारत ने इस हमले का बदला लेने के लिए सुरक्षा बलों को खुली छूट देने का एलान किया था।

दूसरी ओर, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने पुलवामा हमले में उनके देश का हाथ होने से पूरी तरह इनकार किया है। इमरान ने यह भी कहा था कि अगर भारत उनके देश पर हमला करता है तो पाकिस्तान चुप नहीं बैठेगा। 

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

पुलवामा हमला से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें