loader
संगरूर की हार आप की ही नहीं भगवंत मान की भी हार है

पंजाबः संगरूर में आम आदमी पार्टी को झटका

पंजाब के संगरूर लोकसभा उपचुनाव में आम आदमी पार्टी को रविवार को भारी हार का सामना करना पड़ा। शिरोमणि अकाली दल (अमृतसर) के उम्मीदवार सिमरनजीत सिंह मान ने मुख्यमंत्री भगवंत मान की लोकसभा सीट पर सत्तारूढ़ पार्टी के उम्मीदवार को हराया। मान यहां से सांसद बने थे। यहां पर आप को बहुत मजबूत माना जाता था।

सिमरनजीत सिंह मान ने आप प्रत्याशी गुरमेल सिंह को संगरूर लोकसभा सीट से 7,000 से अधिक मतों के अंतर से हराया। दोनों उम्मीदवारों के बीच करीबी लड़ाई वोटों की गिनती के समय से ही चल रही थी। 
ताजा ख़बरें
77 साल के सिमरनजीत सिंह मान, पूर्व सांसद और शिरोमणि अकाली दल (अमृतसर) के अध्यक्ष हैं। उनका बादल की शिरोमणि अकाली दल से कोई संबंध नहीं है।

कांग्रेस प्रत्याशी दलवीर सिंह गोल्डी, बीजेपी के केवल ढिल्लों और अकाली दल की कमलदीप कौर राजोआना क्रमश: तीसरे, चौथे और पांचवें स्थान पर रहीं। 
रविवार सुबह आठ बजे कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतगणना शुरू हुई थी। 23 जून को चुनाव के लिए सोलह उम्मीदवार मैदान में थे। संगरूर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में 2019 के लोकसभा चुनाव में 72.44 प्रतिशत और 2014 के चुनावों में 76.71 प्रतिशत के मुकाबले 45.30 प्रतिशत कम मतदान हुआ था। इस बार 15.69 लाख मतदाता थे। 
इस साल की शुरुआत में राज्य विधानसभा चुनाव में विधायक चुने जाने के बाद लोकसभा सीट से भगवंत मान के इस्तीफे के कारण उपचुनाव कराना पड़ा था।
भगवंत मान, जो अब राज्य के मुख्यमंत्री हैं, ने 2014 और 2019 के संसदीय चुनावों में संगरूर सीट जीती थी। इस साल मार्च में राज्य विधानसभा चुनावों में आम आदमी पार्टी की शानदार जीत के बाद उपचुनाव पहली बड़ी चुनावी लड़ाई थी।
सत्तारूढ़ आप के लिए, उपचुनाव को अपना गढ़ बचाए रखने के लिए प्रतिष्ठा की लड़ाई के रूप में देखा गया, जबकि विपक्षी दलों के लिए कांग्रेस, बीजेपी और शिरोमणि अकाली दल (बादल) विधानसभा चुनावों में हार के बाद जीत दर्ज करना चाह रहे थे।

आप ने 38 साल के गुरमेल सिंह को मैदान में उतारा था, जो पार्टी के संगरूर जिले के प्रभारी हैं, जबकि कांग्रेस ने धूरी के पूर्व विधायक गोल्डी पर दांव लगाया था। 
बीजेपी ने बरनाला के पूर्व विधायक ढिल्लों को मैदान में उतारा है जो इस महीने की शुरुआत में पार्टी में शामिल हुए थे। 
पंजाब से और खबरें
संगरूर संसदीय क्षेत्र को आम आदमी पार्टी (आप) का गढ़ माना जाता है, जिसने 2022 के विधानसभा चुनावों में सभी नौ विधानसभा क्षेत्रों - लहरा, दिर्बा, बरनाला, सुनाम, भदौर, महल कलां, मलेरकोटला, धुरी और संगरूर में जीत हासिल की थी। 

भगवंत मान ने 2014 के लोकसभा चुनाव में शिरोमणि अकाली दल के उम्मीदवार सुखदेव सिंह ढींढसा को 2.11 लाख मतों के अंतर से हराकर संगरूर सीट जीती थी।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

पंजाब से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें