loader

बांदी संजय :BJP की सरकार बनने पर सचिवालय के गुंबदों को गिरा देंगे

तेलंगाना में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष बांदी संजय कुमार ने शुक्रवार को एक विवादित बयान देते हुए कहा कि अगर राज्य में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) तेलंगाना में सत्ता में आती है, तो वह नए बने राज्य सचिवालय के गुंबदों को तोड़कर गिरा देगी। बांदी के अनुसार सचिवालय के गुंबद निजाम संस्कृति को दर्शाते हैं।
तेलंगाना भाजपा अध्यक्ष 'जनम गोसा-भाजपा भरोसा' कार्यक्रम के तहत कुकटपल्ली विधानसभा क्षेत्र के तहत ओल्ड बोइनपल्ली में पार्टी द्वारा आयोजित एक नुक्कड़ सभा को संबोधित कर रहे थे। इसी सभा में बांदी संजय ने कहा कि राज्य में भाजपा की सरकार आने पर वह निजाम शासन की गुलामी के प्रतीक सभी प्रकार के ढांचों को मिटा देगी। उन्होंने कहा, 'अगर हम सत्ता में आते हैं तो हम तेलंगाना में निजाम के सांस्कृतिक प्रतीकों को नष्ट कर देंगे, जिसमें नवनिर्मित सचिवालय के गुंबद भी शामिल हैं। हम सभी जरूरी बदलाव करेंगे जो भारतीय और तेलंगाना संस्कृति को दर्शाते हों।
ताजा ख़बरें
उन्होंने मुख्यमंत्री केसीआर को निशाने पर लेते हुए कहा कि वह ओवैसी को खुश करने के लिए काम कर रहे हैं, इसलिए ही उन्होंने जनता के कामों के लिए बनाए गये सचिवालय को ताजमहल जैसी समाधि में तब्दील कर दिया है। मुख्यमंत्री के आधिकारिक बंगले प्रगति भवन को भी प्रजा दरबार में बदल दिया जाएगा।
उन्होंने मुख्यमंत्री के इस बयान ‘सरकार सड़कों के विस्तार में जो पूजा स्थल बाधा पैदा कर रहे हैं, उनको भी ध्वस्त कर देगी'। इस पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने केसीआर को चुनौती देते हुए कहा कि अगर वह ऐसा कर सकते हैं, तो पुराने हैदराबाद शहर में सड़कों के बीच में बनाई गई मस्जिदों को ध्वस्त करें।
उन्होंने आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ पार्टी के नेताओं ने कुकटपल्ली में गरीब लोगों की जमीनों पर अतिक्रमण किया और जब कुकटपल्ली ने विरोध दर्ज कराया, तो उन पर झूठे मामले दर्ज किए गए।
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बांदी संजय के बयान पर बीआरएस ने भी प्रतिक्रिया दी है। पार्टी के सोशल माडिया प्रभारी कोनाथम दिलीप ने ट्वीट करते हुए कहा कि जोकरों की जानकारी के लिए बता दें कि जिनके पास एक खाली गुंबद है और तेलंगाना के नए सचिवालय के बारे में झूठ फैला रहे हैं। देश की कुछ लोकप्रिय संरचनाएं गुंबद के आकार की हैं- जिसमें सुप्रीम कोर्ट, गुजरात विधानसभा भवन, कर्नाटक विधानसभा भवन और राष्ट्रपति भवन तक शामिल हैं।
Choose... से और खबरें
बांदी संजय पहले भी इस तरह के बयान दे चुके हैं। 2020 में हैदराबाद के अलवान में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा था कि पुराने हैदराबाद शहर में बीजेपी समर्थकों और हिंदुओं को बड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। जिन्हें इस तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है, भारतीय जनता पार्टी उनकी रक्षा करेगी। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर किसी ने बीजेपी समर्थकों और हिंदुओं पर उंगली उठाई तो हम उसका हाथ काट डालेंगे।
बीजेपी के किसी नेता का इस तरह के बयान देना कोई नई और बड़ी बात नहीं है। उसके कई नेता इसी आधार पर पार्टी में आगे बढ़े हैं। इसमें सबसे ताजा नाम साध्वी प्रज्ञा का है। इससे पहले कपिल मिश्रा, प्रवेश वर्मा, अनुराग ठाकुर, अमित शाह,योगी आदित्यनाथ जैसे बड़े नेता तक इस तरह की बयानबाजी में शामिल रहे हैं। पार्टी में आगे बढ़ने के लिए भड़काऊ भाषण के अनिवार्य योग्यता के जैसा बन गया है।
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

तेलंगाना से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें