loader

यूपी चुनाव 2022: शाह-नड्डा ने ली बैठक, योगी समेत आला नेता रहे मौजूद

छह महीने के अंदर होने वाले उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी कमर कस रही है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गुरूवार रात को प्रदेश बीजेपी के आला नेताओं की बैठक ली। बैठक में भाग लेने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल आनन-फानन में दिल्ली पहुंचे। 

ख़बरों के मुताबिक़, इस बैठक में उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव की तैयारियों के साथ ही विधान परिषद की चार सीटों पर बीजेपी के उम्मीदवार कौन होंगे, योगी कैबिनेट के विस्तार में जातीय समीकरणों पर और किन दलों के साथ मिलकर पार्टी चुनाव लड़ेगी, इस पर भी चर्चा हुई। बैठक साढ़े तीन घंटे तक चली। 

बीजेपी जानती है कि पेगासस जासूसी मामले, किसान आंदोलन और कोरोना की दूसरी लहर के दौरान बने भयावह हालात के बाद जनता के बीच पैदा हुई नाराज़गी उत्तर प्रदेश से उसकी विदाई करा सकती है, इसलिए पार्टी चुनावी तैयारियों में किसी तरह की कसर नहीं छोड़ना चाहती। 

ताज़ा ख़बरें

बीजेपी किसके नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी, इस पर सहमति नहीं बन सकी है। वह योगी को चेहरा बनाएगी या नहीं, इस पर भी उसका स्टैंड अभी साफ नहीं है। लेकिन हाल ही में बनारस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब योगी आदित्यनाथ की तारीफ़ों के पुल बांधे तो उससे यह संकेत ज़रूर मिला कि योगी आदित्यनाथ के चेहरे को पार्टी आगे रखेगी। 

जन आशीर्वाद यात्रा 

कुछ दिन पहले भी जेपी नड्डा ने उत्तर प्रदेश के बीजेपी सांसदों की बैठक बुलाई थी और चुनावी तैयारियों में जुटने के लिए कहा था। पार्टी के नेता इन दिनों उत्तर प्रदेश के साथ ही कई राज्यों में जन आशीर्वाद यात्रा निकाल रहे हैं और चुनावी माहौल बनाने में जुटे हैं। 

bjp leaders meeting with Amit Shah for UP election 2022 - Satya Hindi

ओबीसी समुदाय पर जोर

बीजेपी ओबीसी मतों का बड़ा हिस्सा अपने पाले में करना चाहती है और इसके लिए प्रदेश में तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। बीजेपी प्रदेश में ‘मोदी समर्थन सम्मेलन’ करेगी। प्रदेश में ऐसे 70 सम्मेलनों की योजना तैयार कर ली गई है। उत्तर प्रदेश के हर जिले में एक सम्मेलन होगा और ये सम्मेलन तीन महीने तक चलेंगे। इस दौरान पार्टी ओबीसी समुदाय के हक़ में मोदी सरकार के द्वारा उठाए गए क़दमों का प्रचार करेगी।

उत्तर प्रदेश से और ख़बरें

किसान चौपाल लगाएगी

कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ दिल्ली के बॉर्डर्स पर आंदोलन कर रहे किसानों के ‘मिशन यूपी-उत्तराखंड’ में जुटने के एलान के बाद बीजेपी भी हरक़त में आ गई है। पार्टी पूरे प्रदेश में किसान चौपाल लगाने जा रही है। 16 से 23 अगस्त तक गन्ना किसानों की बहुलता वाले पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बीजेपी यहां के किसानों के बीच पहुंचेगी। इसके बाद लखनऊ में 22 से 25 अगस्त तक विशाल किसान पंचायत का आयोजन किया जाएगा। 

बीजेपी राज्य के हर बूथ पर 11 सदस्यों की कमेटी बनाने जा रही है। यह पार्टी के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह के माइक्रो लेवल बूथ मैनेजमेंट का ही विस्तार है जिसकी बदौलत पार्टी को 2014, 2017 और 2019 के लोकसभा चुनाव में अच्छी-ख़ासी सफलता मिली थी।

सहयोगियों को जोड़ने पर जोर

बीजेपी की चिंता ओमप्रकाश राजभर के भागीदारी संकल्प मोर्चा को लेकर भी है। हाल ही में राजभर की स्वतंत्र देव सिंह के साथ हुई मुलाक़ात के बाद इस बात के कयास लग रहे हैं कि राजभर की बातें अगर पार्टी मान ले तो वह फिर से एनडीए में आ सकते हैं। अपना दल और निषाद पार्टी पहले से ही बीजेपी के साथ है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें