loader

कमलेश मर्डर: गुजरात एटीएस के हत्थे चढ़े तिवारी के हत्यारे अशफाक़ और मोइनुद्दीन

हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या के अभियुक्त अशफाक़ शेख और फरीद पठान उर्फ मोइनुद्दीन को गुजरात एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया है। गुजरात एटीएस के डीआईजी हिमांशु शुक्ला ने बताया कि गुजरात-राजस्थान बॉर्डर के पास शामलाजी नाम की जगह से इन्हें गिरफ्तार किया गया है। डीआईजी ने बताया कि एटीएस को सूचना मिली थी कि ये दोनों गुजरात में प्रवेश करने वाले हैं। इसके बाद पुलिस की टीमों ने दोनों को दबोच लिया।  

तिवारी की 18 अक्टूबर को उनके लखनऊ स्थित घर में हत्या कर दी गई थी। तिवारी की हत्या की साजिश रचने के आरोप में पुलिस ने तीन लोगों मौलाना मोहसिन शेख, राशिद अहमद पठान और फ़ैज़ान को शनिवार को सूरत से गिरफ़्तार कर लिया था। पुलिस के मुताबिक़, इन तीनों ने ही पूछताछ के दौरान इस बात का ख़ुलासा किया था कि मोइनुद्दीन और अशफाक़ शेख ने तिवारी की हत्या को अंजाम दिया है।
अशफाक़ शेख और फरीद पठान उर्फ मोइनुद्दीन।

यूपी पुलिस ने मोइनुद्दीन और अशफाक़ पर ढाई-ढाई लाख रुपये का ईनाम घोषित किया था और दोनों की तलाश में दबिश दी जा रही थी। हत्यारे राजधानी में जिस होटल खालसा इन में रुके थे, वहां के मालिक ने ख़ुद पुलिस को इसकी सूचना दी थी। हत्यारों के कमरे से खून लगे भगवा कुर्ते, हत्या में इस्तेमाल चाकू और अन्य साक्ष्य मिले थे। 

अशफाक़ ने रोहित सोलंकी के नाम से एक फ़ेसबुक अकाउंट भी बनाया था और इसमें ख़ुद की फ़ोटो लगाई हुई थी। इसके बाद उसने हिंदू समाज पार्टी की गुजरात इकाई के अध्यक्ष जैमिन दवे उर्फ़ बापू नाम के शख़्स से फ़ेसबुक पर दोस्ती की। बाद में वह दवे से अहमदाबाद में मिला और पार्टी से जुड़ने की इच्छा जताई। 3 जून को दवे ने अशफाक़ शेख को पार्टी में शामिल कर लिया और वारचा वार्ड में प्रचारक की जिम्मेदारी दी। 

ताज़ा ख़बरें
'द इंडियन एक्सप्रेस' के मुताबिक़, अशफाक़ शेख सोलंकी बनकर जून के अंतिम हफ़्ते में कमलेश तिवारी से मिला था। पिछले हफ़्ते सूरत से निकलने से पहले उसने तिवारी को फ़ोन किया था और कहा था कि वह उनसे लखनऊ में मिलेगा और सूरत में पार्टी के विस्तार को लेकर बातचीत करना चाहता है। 17 अक्टूबर को लखनऊ पहुंचने के बाद उसने तिवारी को फिर से फ़ोन किया और कहा कि वह उन्हें अगले दिन यानी 18 अक्टूबर को मिलेगा। 

उत्तर प्रदेश से और ख़बरें
अशफाक़ शेख के द्वारा रोहित सोलंकी के नाम से कमलेश से की गयी फ़ेसबुक चैट का रिकॉर्ड भी पुलिस के पास है। रोहित ने ही कमलेश से एक मुसलिम लड़की की हिन्दू युवक से शादी के लिए मदद मांगी थी जिस पर उसे तिवारी ने मिलने के लिए बुलाया था। पुलिस की इस बात की पुष्टि घटना के इकलौते चश्मदीद कमलेश के कार्यालय सहायक सौराष्ट्रजीत ने भी की है।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें